GLIBS

भवन में श्रमिकों को रखे जाने का विरोध, पढ़े पूरी खबर

राहुल चौबे  | 09 May , 2020 07:48 PM
भवन में श्रमिकों को रखे जाने का विरोध, पढ़े पूरी खबर

रायपुर/बिलासपुर। टिकरापारा के नागरिकों ने अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों को गुजराती समाज भवन में रखे जाने का विरोध किया है। गुजराती समाज भवन सघन आबादी में होने के कारण कोविड 19 का संकर्मण फैलने की आंशका व्यक्त किया जा रही है।कोविड 19 के कारण देशव्यापी लॉक डाउन के कारण प्रदेश के श्रमिक अन्य राज्य में फंसे हुए हैं। राज्य शासन ने अन्य राज्य में फंसे श्रमिकों को रेल मार्ग से लाने की व्यवस्था की है। सरकार ने अन्य राज्यो से आने वाले श्रमिकों को 14 दिनों तक विभन्न सेंटरों में रखने के बाद स्वास्थ जांच उपरान्त गृह ग्राम भेजने का निर्णय लिया है। इस कड़ी में नगर निगम प्रशासन ने सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र टिकरापारा में स्थित गुजराती समाज भवन को सेंटर बनाया है। आसपास रहने वालों ने यहां बाहर से आने वाले श्रमिको को रखे जाने का विरोध कर रहे। इनका कहना है कि भवन सघन आबादी में स्थित है। भवन से लगा हुआ मकान है, अदि एक भी श्रमिक कोविड 19 से संक्रमित होगा तो यहाँ रहने वाले भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। नागरिकों ने इस संबंध में वार्ड पार्षद उदय मजूमदार से शिकायत की। पार्षद ने भी निगम प्रशासन को पत्र लिख कर गुजराती समाज भवन में बाहर से आने वाले श्रमिकों को नहीं रखने की मांग की है। वार्ड के नागरिक पूर्व पार्षद हँसमुख राय कोठारी, पूर्व पार्षद दिनेश देवांगन, राजेंद्र चावला, दिनेश कुमार, दीपक सिंह चौहान, दिनेश चौहान, राहुल चौहान, राजेंद्र शुक्ला, विष्णु सिंह सहित अन्य ने नगर निगम प्रशासन को ज्ञापन देकर समाज में बाहर से आने वाले मजदूरों को नही रखने की मांग की है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.