GLIBS

जिले में आज से एक सप्ताह का सम्पूर्ण लॉक डाउन, चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात, बाहर निकले तो खैर नहीं

जिले में आज से एक सप्ताह का सम्पूर्ण लॉक डाउन, चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात, बाहर निकले तो खैर नहीं

महासमन्द। कलेक्टर के आदेश के बाद गुरूवार से पूरे जिले में लॉक डाउन का असर दिखने लगा। जिले के सभी ब्लॉकों में आज सुबह से कोई दुकानें नहीं खुली। पुलिस ने कुछ स्थानों पर फ्लेग मार्च भी किया और कुछ स्थानी पर आज शाम तक पुलिस फ्लेग मार्च कर नगर का भ्रमण करेगी। जिले के व्यापारियों और अन्य संगठनों ने इस लॉक डाउन का स्वागत किया है। आज सुबह से ही पूरे जिले के बागबाहरा, पिथौरा, बसना, सरायपाली में बंद का व्यापक असर दिखा। किसी भी व्यापारी संगठन या अन्य संगठनों ने इस बंद का विरोध नहीं किया है ना ही आम जनता सुबह से घर से बाहर निकलने का प्रयास किया है। हालांकि इक्के दुक्के लोग शहर की सड़कों पर घुमते नजर आए, जिसे पुलिस ने समझाइश दे कर घर पर ही रहने कहा है। पूरे जिले में आपात सुविधा अस्पताल और मेडिकल स्टोर ही सुबह से खुले हैं। जिला पुलिस ने पूरे गश्त लगा रखी है साथ ही जिले से लगे सीमावर्ती क्षेत्र में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। बिना किसी कारण से लोगों को घर से निकलने मनाही है। हालांकि पहले लॉक डाउन की तरह पुलिस सख्ती नहीं बरत रही है लेकिन अकारण घर से बाहर निकल घुमने फिरने वालों पर पुलिस ने कड़ी नजर रखी हुई है।

शहर के मुख्य चौक नेहरू चौक, गांधी चौक, बरोंड़ा चौक, अम्बेडकर चौक सहित अन्य स्थानों पर पुलिस के जवान लॉक डाउन में दिन रात ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। किसी भी आपात स्थित से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को सजग रहने के लिए कहा है। जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन का इस लॉक डाउन में प्रयास है कि अनावश्यक कोई भी व्यक्ति घर से बाहर ना निकले और इस संक्रमण को  खत्म किया जा सके। महासमुन्द की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्बूरकर ने बताया है कि पुलिस का गश्ती दल पूरे शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में नजर बनाए हुए है। नेशनल हाइवे पर सभी होटल ढाबे बंद रहेंगे। बीमार या आपात स्थित में आने जाने वाले एम्बुलेंस को पुलिस पूरे जिले में किसी भी स्थान पर नहीं रोकने का आदेश दिया है। प्रावेइट वाहन से अगर कोई पेशेंट शहर के बाहर या किसी अस्पताल में जा रहा हो तो पुलिस जांच उन्हें भी कही नहीं रोकेगी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा है कि पूरे जिले में किसी भी व्यक्ति को कोई मदद की जरूरत है तो वह तत्काल पुलिस कंट्रोल रूम या 112 नम्बर पर डायल कर पुलिस की तत्काल मदद ले सकता है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.