GLIBS

स्टील प्लांट विनिवेशीकरण के खिलाफ एक दिवसीय हड़ताल, संसदीय सचिव रेखचंद और राजीव शर्मा ने दिया समर्थन

राहुल चौबे  | 08 Sep , 2020 11:27 AM
स्टील प्लांट विनिवेशीकरण के खिलाफ एक दिवसीय हड़ताल, संसदीय सचिव रेखचंद और राजीव शर्मा ने दिया समर्थन

रायपुर/जगदलपुर। बस्तर जिले के नगरनार स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण के विरुद्ध एक दिवसीय धरना प्रदर्शन संयुक्त मजदूर संगठन के बैनर तले मंगलवार को किया गया। मजदूर संगठन के आंदोलन को कांग्रेस के संसदीय सचिव व विधायक रेखचंद जैन व शहर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजीव शर्मा सुबह से ही धरना -प्रदर्शन स्थल पहुंचकर समर्थन दिया है। संसदीय सचिव व विधायक रेखचंद जैन ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार, आदिवासी विरोधी मानसिकता का परिचय देते हुए नगरनार स्टील प्लांट विनिवेशीकरण किये जाने का निर्णय लिया है। इसका कांग्रेस पूरजोर विरोध करेगी। जैन ने मजदूर संगठनों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्तर वासियों की इस भावना से अवगत हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार को पत्र लिखकर अपना विरोध जताया है। केंद्र सरकार के निर्णय के खिलाफ युवावर्ग, आदिवासीयों व बस्तरहित में आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी।

शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा ने भी कहा कि तत्कालीन छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार ने भी विनिवेशीकरण किये जाने का कुत्सित प्रयास किया था जिसका कांग्रेस ने पूरजोर विरोध किया था। वर्तमान में भी केंद्र की मोदी सरकार का भी पूरजोर विरोध किया जायेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बतौर कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने ऐतिहासिक आंदोलन व पदयात्रा की तथा कांग्रेस पार्टी आगे भी बस्तर हित को लेकर चरणबद्ध तरीके से आंदोलन किया जायेगा। इस दौरान  ब्लाक अध्यक्ष विरेंद्र साहनी, अनवर खां, योगेश पानीग्राही, हेमु उपाध्याय, अवधेश झा, सुशील मौर्य, संतोष सेठिया, जलंधर बघेल , घनश्याम महापात्र, धनुर्जय दास, भगत, लक्ष्मण सेठिया, शोभाराम, मजदूर संगठनों व कर्मचारी संगठनों के प्रमुखों में महेंद्र जान, संतराम सेठिया, जितेंद्रनाथ, राजा मैत्थुस व बड़ी संख्या में कर्मचारी व अधिकारीगण उपस्थित थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.