GLIBS

महानगरों की तर्ज पर जगदलपुर में तैयार हो रही मल्टी स्टोरी पार्किंग, भूतल में बनेगी 80 दुकान

सुभाष रतनपाल  | 09 Jun , 2021 09:17 PM
महानगरों की तर्ज पर जगदलपुर में तैयार हो रही मल्टी स्टोरी पार्किंग, भूतल में बनेगी 80 दुकान

जगदलपुर। नगर को जाम की बड़ी समस्या से राहत दिलाने का काम शुरू हो चुका है। इसके लिए जगदलपुर के इतवारी बाजार में मल्टी स्टोरी पार्किग सह कमर्शियल काम्पलेक्स भवन निर्माण कार्य कराया जा रहा है। करीब 1907.807 लाख रुपये की लागत से तैयार किये जा रहे मल्टी स्टोरी पार्किंग बनने के बाद लोगों को वाहन खड़ा करने में आसानी होगी साथ ही खरीदारी करने वाले लोगों को जाम से भी राहत मिलेगी। जगदलपुर शहर की आबादी लगभग सवा लाख हो चुकी है इसके साथ ही संभागीय मुख्यालय होने के कारण भी यहां यातायात में काफी दबाव रहता है। पूरे संभाग का व्यावसायिक गतिविधियों के केन्द्र इस शहर में संजय मार्केट में चलने वाले सब्जी व्यापार, अनाज, किराना, आलू प्याज के थोक व्यापार के कारण क्षेत्र में यातायात पर पड़ने वाले आवागमन के दबाव को कम करने के लिए इस मल्टी स्टोरी पार्किंग स्थल इतवारी बाजार में निर्माण प्रारंभ्भ हो चुका है। यह एक ओर संजय मार्केट, गांधी खेल मैदान (हाता ग्राउण्ड), एवं जगदलपुर चित्रकोट मार्ग, जगदलपुर दंतेवाड़ा मार्ग जुड़ता है। जगदलपुर शहर में आये दिन कोई भी कार्यक्रम होने पर बाहर से आने वाले वाहनों के पार्किंग के लिए स्थल ना होने से लोगों द्वारा वाहनों को कहीं भी खड़ा किया जाता है। इसके कारण ट्रैफिक में बाधा आती है। इन कारणों से स्थानीय जनप्रतिनिधीयों एवं क्षेत्रीय नागरिकों की मांग को देखते हुए कलेक्टर रजत बंसल ने वाहनों की पार्किंग के लिए शहर के मध्य में मल्टी स्टोरी पार्किंग सह कमर्शियल काम्पलेक्स भवन निर्माण कार्य की स्वीकृति दी। मल्टी स्टोरी पार्किंग कई तलों में रहेगी। इसमें कुछ दुकान भी बनाई जाएगी। पार्किंग में करीब 200 वाहन खड़े हो सकेंगे। इसकी लागत 1907 लाख रुपये तय हैं। तीन फ्लोर वाले इस मल्टी स्टोरी पार्किंग के ग्राउंड फ्लोर में व्यावसायिक परिसर बनाया जा रहा है, जहां 80 दुकान बनायी जाएगी। दुकान से यहाँ के व्यवसायियों को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। जानकारी के अनुसार आने वाले साल में यह पूरी तरह से बनकर तैयार हो जाएगा। ग्राउंड फ्लोर में दुकान व पहली, दूसरी फ्लोर में पार्किंग होगा। इसमें एक समय में 300 से अधिक गाड़ियाँ रखी जा सकेंगी।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.