GLIBS

आस्ट्रेलिया में किराएदारों के लिए नए कानून लागू, मिले ये महत्वपूर्ण अधिकार...

ग्लिब्स टीम  | 04 Nov , 2019 03:32 PM
आस्ट्रेलिया में किराएदारों के लिए नए कानून लागू, मिले ये महत्वपूर्ण अधिकार...

कैनबरा। कैनबरा वैसे भी किराएदारों को अच्छे खासे अधिकार थे। आज से लागू हुए नए कानून में किराएदारों को कुछ और अधिकार मिल गए हैं। अब तो स्थिति कुछ ऐसी हो गई है कि कागज में नाम होने व किराया लेने जैसे अधिकारों के अलावा किराएदार मोटा-मोटी मालिक की तरह ही हो गया है। एक जबरदस्त व्यवस्था तो पहले से ही थी कि मकान मालिक केवल 6 महीने में एक बार ही किराएदार के पास आ सकता है। वह भी कुछ दिनों पहले सूचना देकर, छुट्टियों में नहीं आ सकता, सुबह 9 बजे से लेकर शाम को 5 बजे के बीच ही आ सकता है, बहुत देर तक नहीं रुक सकता।

नए कानून में मिले महत्वपूर्ण अधिकार

आज से लागू हुए नए कानून में किराएदारों को कुछ महत्वपूर्ण अधिकार दिए गए हैं। जैसे कि किराएदार अपनी पसंद से बागवानी कर सकते हैं, पौधे उगा सकते हैं। पहले यह सुविधा मकान मालिक व किराएदार के मध्य संबंधो पर आधारित था, अब यह किराएदार का अधिकार हो गया है। किराएदार पालतू पशु रख सकते हैं (केवल कुछ अपवाद पशुओं को छोड़कर)। किराएदार को मकान मालिक की सहमति लेनी होगी, लेकिन यदि मकान मालिक सहमति नहीं देना चाहते तो उनको सरकारी कोर्ट में जाना पड़ेगा, कोर्ट निर्णय देगा। इसका मतलब यह हुआ कि मकान मालिक से सहमति लेना महज औपचारिकता है। मकान मालिक किराया एक सीमा से अधिक नहीं बढ़ा सकते हैं। मतलब यह कि अब मनचाहे तरीके से किराया नहीं बढ़ा सकते हैं। किराया बढ़ाने की अधिकतम सीमा तय कर दी गई है। सबसे बड़ा व सबसे महत्वपूर्ण अधिकार यह है कि किराएदार अब घर में बदलाव भी कर सकते हैं। शर्त केवल यह है कि जब मकान छोड़े तब किए गए बदलावों को पूर्ववत कर दें। नए कानून का मकान मालिकों ने विरोध किया कि किराएदार उनकी संपत्ति को नुकसान पहुंचा सकते हैं, जिससे संपत्ति का मूल्य परिवर्तित हो सकता है। कैनबरा शहर राज्य सरकार ने मकान मालिकों की आपत्तियों को इस तर्क के आधार पर खारिज कर दिया कि कैनबरा एक परिपक्व व जिम्मेदार समाज है, मकान मालिक की संपत्तियों को जानबूझकर क्षति नहीं पहुंचाएंगे, अभी तक का व्यवहार इस बात का प्रमाण है।

 विवेक उमराव, आस्ट्रेलिया

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.