GLIBS

मंत्री के प्रभार जिलों में गांव होंगे सैनिटाइज,एसपी से कहा-चेक पोस्टों पर विशेष निगरानी सहित पेट्रोलिंग बढ़ाएं

रविशंकर शर्मा  | 04 May , 2020 06:49 PM
मंत्री के प्रभार जिलों में गांव होंगे सैनिटाइज,एसपी से कहा-चेक पोस्टों पर विशेष निगरानी सहित पेट्रोलिंग बढ़ाएं

रायपुर। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री और कांकेर, कोण्डागांव और नारायणपुर जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने कलेक्टरों को डीएमएफ या अन्य मदों से जिलों के सभी गांवों को सैनिटाइज करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराने में विशेष ध्यान दें। मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने सोमवार को अपने निवास कार्यालय सतनाम सदन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के से वनांचल क्षेत्रों में तेन्दूपत्ता संग्रहण और अन्य लघुवनोपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी व्यवस्था की भी समीक्षा की।  मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने कलेक्टरों से चर्चा कर जिलों में संचालित रोजगार सृजन कार्यक्रम अंतर्गत मनरेगा कार्यों, जिलों के महिला स्व-सहायता समूहों की ओर से किए जा रहे कार्य, विभिन्न अधोसंरचना संबंधी निमार्णाधीन कार्य और संचालित सभी विभागीय गतिविधियों और रोजगारमूलक कार्यों की प्रगति की,जिलेवार जानकारी ली। कलेक्टरों ने बताया कि सभी जिलों में लॉक डाउन के दौरान संकट की इस घड़ी में जनसुविधा को ध्यान में रखते हुए,विभिन्न राज्यों और रोजगार मूलक कार्यों और वनोपज संग्रहण आदि के माध्यम से लोगों को आसानी से रोजगार मुहैया कराया जा रहा है।मंत्री ने लॉक डाउन फंसे हुए अन्य राज्यों के श्रमिकों और विदेश प्रवास से आने वाले लोगों की आवश्यक चिकित्सा परीक्षण संबंधी कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने राज्य के बाहर से आने वाले विद्यार्थियों और श्रमिकों को लिए सभी जिलों में बनाए गए राहत शिविरों और क्वारेंटाइन की व्यवस्था के संबंध में जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से उनके ओर से किए जा रहे कार्यों के बारे में जानकारी ली। चर्चा के दौरान कलेक्टरों ने बताया कि सभी जिलों में और अन्य प्रदेशों से आए लोगों और अन्य लोगों के लिए आपातकालीन स्थिति में राहत शिविरों और अन्य व्यवस्था के लिए भवनों का चिन्हांकन सहित भोजन चिकित्सीय परीक्षण सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए सभी तैयारी रखी जा रही है। और इन कार्यों के लिए कर्मचारियों को तैनात करने के लिए समुचित व्यवस्था कर ली गई है।

कलेक्टरों ने बताया कि अन्य राज्यों से पहुंच रहे छात्रों को आश्रम और छात्रावासों में क्वारेंटाइन सेन्टर बनाकर रखा गया है और इनके खान-पान और चिकित्सा संबंधी पूरी व्यवस्था की गई है। इसी तरह अन्य राज्य और सीमावर्ती जिलों से पहुंच रहे श्रमिकों को क्वारेंटाइन में रखे जाने के लिए आश्रम और छात्रावासों में आवश्यक व्यवस्था  कर ली गई है।मंत्री ने कलेक्टरों को उनके जिले से अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों की अद्यतन जानकारी उपलब्ध कराने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि गांव के लोगों से जानकारी लेकर जिन राज्यों में श्रमिक फंसे हैं उनसे जल्द से जल्द सम्पर्क करें और उन्हें समुचित मार्गदर्शन और जरूरी सहायता उपलब्ध कराएं। ट्रेन से लौटने वाले श्रमिकों को अपने गंतव्य स्थान तक ले जाने के लिए स्थानीय बस आपरेटरों से भी पहले से चर्चा कर बसों की व्यवस्था की जाए, जिससे सुविधाजनक ढंग से अपने गांवों को लौट सकें। उन्होंने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत सूखा राशन और आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से रेडी-टू-इट खाद्यान्न वितरण के बारे में जानकारी ली।ऑनलाइन बैठक में कोण्डागांव विधायकमोहन मरकाम, अंतागढ़ विधायक अनूप नाग और कांकेर विधायक शिशुपाल सोरी ने पेयजल आपूर्ति संबंधी समस्या और सीमावर्ती राज्य से चोरी छुपे आ रहे लोगों के बारे में अवगत कराया। इस संबध में गुरु रूद्रकुमार ने सभी पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए कि ऐसे सीमावर्ती जिलों के चेक पोस्टों पर विशेष निगरानी रखी जाए और ऐसे स्थानों पर पेट्रोलिंग बढ़ा दी जाए। उन्होंने कहा कि सभी निमार्णाधीन पेयजल योजनाओं को जल्द पूर्ण किया जाएगा।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.