GLIBS

सामाजिक संस्थाओं और व्यापारियों की महापौर ने ली बैठक, राहत सामाग्री उपलब्ध कराने सहयोग करने की अपील

उदय मिश्रा  | 23 Apr , 2021 08:41 PM
सामाजिक संस्थाओं और व्यापारियों की महापौर ने ली बैठक, राहत सामाग्री उपलब्ध कराने सहयोग करने की अपील

राजनांदगांव। कोरोना वायरस के कारण आई गंभीर आपदा की घडी में लॉक डाउन के कारण रोजी मजदूरी बंद होने पर गरीब परिवारों को रोटी रोजी की समस्या उत्पन्न हो गई है। इसे ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर महापौर हेमा  देशमुख ने शुक्रवार को नगर निगम सभा गृह में नगर के समाज प्रमुखों एवं व्यापारियों की बैठक लेकर गरीब परिवारांे को राहत सामाग्री उपलब्ध कराने सहयोग करने की अपील की। महापौर हेमा देशमुख ने बैठक में कहा कि पिछली बार की तुलना में इस बार का कोरोना संक्रमण बहुत ज्यादा है, जिससे बचाव के लिये देश के विभिन्न प्रांतों सहित छत्तीसगढ़ के लगभग सभी जिलों में प्रशासन द्वारा लॉक डाउन लगाया गया है। लॉक डाउन के कारण प्रतिदिन रोजी मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करने वालों पर रोजी रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है।

नगर के उन गरीब परिवारों को गत वर्ष की भाति इस वर्ष भी राहत सामाग्री उपलब्ध कराया जाना है। इसके लिए आज आप सभी समाज प्रमुखो एवं व्यापारी बंधुओं की बैठक बुलाई गई। उन्होंने कहा कि गत वर्ष भी आप लोग के द्वारा इस विषम परिस्थिति में बढ़-चढ़ कर सहयोग किया गया था और इस वर्ष भी आप लोगों के द्वारा कोविड सेन्टर, आक्सीजन  सिलेन्डर, भोजन आदि के अलावा अन्य व्यवस्था भी की जा रही है। इसके लिये मैं आप लोगों का मैं आभार व्यक्त करती हूॅ। महापौर देशमुख ने कहा गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिये किये जा रहे कार्यो की समीक्षा की। इसमें जिले की गतिविधियों से उन्हें अवगत कराया गया। उन्होंने गत वर्ष कोरोना काल में आप लोगोे के द्वारा किये गये सहयोग की सराहना करते हुए आप लोगों का आभार व्यक्त किया है। इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण की भयावहता को देखते हुये शासन प्रशासन द्वारा इससे राहत दिलाने लॉक डाउन लगाया गया है, लॉक डाउन के कारण गरीब परिवारों को भरण पोषण में आ रही कठिनाईयों को ध्यान में रखते हुए उन्हें राहत सामाग्री उपलब्ध कराने उन्होंने सामाजिक संस्था एवं व्यापारियों से सहयोग लेने की अपील की है। इसी कड़ी में  मुख्यमंत्री के निर्देश पर सहयोग करने आज आप समाज प्रमुखों एवं व्यापारिक संगठनों की बैठक बुलाई गयी है।

ताकि हम सब मिल जुलकर जरूरतमदों को सहयोग कर इस आपदा से निपट सके। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा दो माह का चावल निःशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है, लेकिन काम नहीं होने के कारण अन्य आवश्यक सामाग्री क्रय करने में गरीब परिवारों को मुश्किलों का सामना करना पड रहा है। जिसे ध्यान में रखते हुये आप सब के सहयोग से उन्हें राहत सामाग्री उपलब्ध कराना है। जिसके लिये राशन किट तैयार किया जाना है। आप सब के सहयोग के लिये हम सब आप लोगों के आभारी रहेगे। उन्होेंने कहा कि धैर्य रखकर सावधानी बरतकर, सुरक्षित रहकर ही हम कोरोना से लड सकते है। सभी व्यापारियों एवं समाज प्रमुखों ने अपने अपने विचार व्यक्त किये एवं एकजुट होकर सहमति देते हुए कहा कि इस गंभीर परिस्थिति में हम सब अपने-अपने स्तर पर सहयोग कर रहे हैं और गरीब परिवारों को राहत सामाग्री दिये जाने भी सहयोग करेंगे, ये हमारा सौभाग्य होगा। उन्होंने कहा कि आपस में हम सब मिलकर चेम्बर ऑफ कामर्स के साथ राहत सामाग्री तय कर लेगे। बैठक में आयुक्त डॉ. आशुतोष चतुर्वेदी ने कहा कि इसके लिये एक नोडल अधिकारी सहित टीम का गठन किया जायेगा और आप लोगों के द्वारा प्रदत्त राशन किट नगर निगम के सभागृह में रखकर जरूरतमंद लोगों को आवश्यकता अनुसार वार्डो में वितरित किया जायेगा। उन्होंने सभी उपस्थितजनों से मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करने एवं लोगों को भी मास्क का उपयोग करने प्रेरित करने की अपील की। कार्यपालन अभियंता दीपक जोशी ने राशन किट के संबंध में जानकारी दी। बैठक में विभिन्न संस्थाओं के अध्यक्ष एवं पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.