GLIBS

छत्तीसगढ़ में सामुहिक आत्महत्याकांड,कुंभकर्णी नींद से जागे सरकार, पूर्ण शराबबंदी करें : भगवानू

रविशंकर शर्मा  | 11 Jun , 2021 09:49 PM
छत्तीसगढ़ में सामुहिक आत्महत्याकांड,कुंभकर्णी नींद से जागे सरकार, पूर्ण शराबबंदी करें : भगवानू

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मुख्य प्रवक्ता भगवानू नायक ने कहा है कि महासमुंद जिले के ग्राम बेलसोंडा में  शराबी मुखिया से परेशान होकर एक मां के अपनी पांच  बेटियों सहित रेलवे ट्रेक में कूदकर आत्महत्या का मामला सामने आया है।यह एक हृदयविदारक घटना है। इस सामुहिक आत्महत्याकांड के बाद विभागीय मंत्री कवासी लखमा को नैतिकता के आधार पर तत्काल अपना इस्तीफा दे देना चाहिए।भगवानू नायक ने कहा है कि शराबबंदी के नाम पर कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ की जनता के साथ धोखा और वादाखिलाफी की है । शराब के  कारण छत्तीसगढ़ में न सिर्फ आपराधिक घटनाएं बड़ी  है,बल्कि  सैकड़ों परिवार का विघटन हो रहा है। लोगों की जानें जा रही है, छत्तीसगढ़ के भविष्य युवा वर्ग शराब के नशे में डूब कर अपना भविष्य बर्बाद कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में शराबखोरी, हत्या, आत्महत्या, गरीबी और भुखमरी का भी एक बड़ा कारण  है। अब पूरा परिवार ही सामूहिक आत्महत्या कर रहा है। सरकार अब तो कुंभकर्णी नींद से जागे, महासमुंद सामुहिक आत्महत्याकांड से सबक लेते हुए तत्काल छत्तीसगढ़ में  पूर्ण शराबबंदी करें अन्यथा आगामी चुनाव में खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

भगवानू नायक ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार को स्वतंत्रता आंदोलन के महानायक, महान नेता राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से सीख लेना चाहिए,जो पूर्ण नशाबंदी के प्रबल समर्थक थे। उन्होंने  चंपारण में नशाबंदी का आंदोलन चलाया। उन्होंने 1927 में कहा था " मैं भारत में कुछ  हजार शराबी को देखने के बजाए देश को अत्यधिक गरीब देखना पसंद करुंगा। पूर्ण नशाबंदी के लिए सारा देश अनपढ़ भी रह जाए तो नशाबंदी के उद्देश्य के लिए कोई मूल्य नहीं है।"

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.