GLIBS

श्रम से सृजन की सार्थकता को भगवान विश्वकर्मा ने समाज में स्थापित किया : भूपेश बघेल

रविशंकर शर्मा  | 16 Sep , 2020 09:37 PM
श्रम से सृजन की सार्थकता को भगवान विश्वकर्मा ने समाज में स्थापित किया : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होंने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि भगवान विश्वकर्मा निर्माण और सृजन के देवता हैं। उन्हें विश्व का निर्माता तथा देवताओं का वास्तुकार माना गया है। संसार के प्रथम वास्तुकार की संज्ञा भी उन्हें दी गई है। श्रम से सृजन की सार्थकता को भगवान विश्वकर्मा ने ही समाज में स्थापित किया। समाज का सुव्यवस्थित, सुरक्षित स्वरूप भगवान विश्वकर्मा की ही देन है। बघेल ने इस अवसर पर राज्य की समस्त औद्योगिक इकाईयों में नियोजित श्रमवीरों को हार्दिक बधाई देते हुए कहा है कि विश्वकर्मा जयंती का दिन हमें यह संदेश देता है कि हम श्रम से अपने समाज और राष्ट्र के निर्माण के लिए संकल्पित हों। प्रदेश के विकास में श्रमवीरों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि नवा छत्तीसगढ़ के निर्माण में श्रमवीरों की सक्रिय भूमिका होगी।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.