GLIBS

करोना का संक्रमण जिले में कम है पर सतर्कता बरतना जरूरी : अरुण वोरा

संध्या सिंह  | 14 Apr , 2020 10:56 AM
करोना का संक्रमण जिले में कम है पर सतर्कता बरतना जरूरी : अरुण वोरा

दुर्ग। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के अपेक्षाकृत कम मामले होने के बावजूद सतर्कता बरतना जरूरी है। दुर्ग जिले में सिर्फ एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला है जो स्वस्थ हो चुका है। इसके बावजूद किसी भी तरह की लापरवाही या सुविधाओं में चूक नहीं होना चाहिए। उक्त बाते दुर्ग विधायक अरुण वोरा ने जिला अस्पताल दुर्ग की व्यवस्था देखने के दौरान कही। उन्होंने डॉक्टरों के लिए पीपीई किट्स, मास्क व मरीजों के लिए आइसोलेशन बेड, वेन्टीलेटर्स की उपलब्धता सुनिश्चित करने का सुझाव देते हुए कहा है कि अंतरराज्यीय सीमाएं खुलने से स्थिति नियंत्रण से बाहर होने का खतरा है। जिलों में आर्थिक गतिविधियां चलाना भी जरूरी है। इसके लिए पर्याप्त सावधानी से कुछ कार्य शुरू कराए जा सकते हैं। संक्रमण का खतरा रहने तक पूरी सावधानी व सतर्कता बरतते हुए ऐसा किया जा सकता है। वोरा ने कहा कि जिला अस्पताल दुर्ग में रैपिड कोरोना टेस्ट किट के साथ ही वेंटिलेटर, आइसोलेशन वार्ड में ज्यादा बेड उपलब्ध होना चाहिए। कोरोना संदिग्धों के लिए अलग व सामान्य मरीजों के लिए अलग से ओपीडी का संचालन करना बेहद जरूरी है। हर सरकारी कार्यालय में दिन में दो बार सेनेटाइजर स्प्रे की व्यवस्था होना चाहिए ताकि आने-जाने वालों की संख्या सीमित रखकर सोशल व फिजिकल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जा सके। वोरा ने कहा कि स्कूल-कॉलेज सबसे बाद में खोलना चाहिए। इस दौरान स्कूल प्रबंधन छात्रों से फीस ना लें। डॉक्टरों के लिए पीपीई किट्स व इंफ़्रा रेड थर्मामीटर की व्यवस्था सुनिश्चित होना चाहिए। पेयजल आपूर्ति के लिए अति आवश्यक अमृत मिशन के कार्यों को शुरू करने की अनुमति देना जरूरी है। इसके अलावा आवश्यक वस्तुओं, राशन व किराना दुकानों, फल-सब्जी, दवाई दुकानों में भीड़ कम रखने 3 बजे की समय सीमा को धीरे-धीरे बढ़ाया जाना चाहिए। सब्जी मंडी एक से अधिक जगह पर लगाने की व्यवस्था करने और दिहाड़ी मजदूरों, गरीब जरूरतमंदों को राशन उपलब्ध कराने नोडल एजेंसी बना कर राशि जारी करना चाहिए ताकि कोई भी भूखा ना रहे।

ताज़ा खबरें

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.