GLIBS

1 हजार 343 सैंपलों की हुई जांच, लगभग बारह सौ से अधिक की रिपोर्ट नेगेटिव, 17 परिवारों को भेजा गया क्वॉरेंटाइन सेंटर

बीएन यादव  | 18 Apr , 2020 09:59 AM
1 हजार 343 सैंपलों की हुई जांच, लगभग बारह सौ से अधिक की रिपोर्ट नेगेटिव, 17 परिवारों को भेजा गया क्वॉरेंटाइन सेंटर

कोरबा। कोरोना के संक्रमण से हॅाट स्पॅाट बने कटघोरा से संक्रमित कोर एरिया के 17 परिवारों को सावधानीवश विभिन्न क्वॉरेंटाइन सेंटरों में रहने के लिए भेजा गया। गुरुवार देर शाम इसी क्षेत्र के तीन नये लोगों की कोरोना जांच पॉजिटिव आने के बाद उन्हें एम्स रायपुर इलाज के लिए भेजा गया। वहीं शुक्रवार को इसी क्षेत्र की एक मरीज इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ्य होकर वापस लौट आई जिसे होम क्वॉरेंटाइन में रखा जाएगा। पिछले 48 घंटों में कोरबा के 11 मरीज कोरोना मुक्त होकर वापस लौट आए हैं। स्वस्थ्य होकर वापस लौटी 27 वर्षीय महिला का इलाज कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद एम्स रायपुर में चल रहा था। महिला की लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जिसके बाद उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसके पहले कटघोरा के 10 मरीज भी पिछले तीन दिनों में ठीक होकर वापस लौट आये हैं जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रखा गया है।

कोरबा जिले से अभी तक कुल 1 हजार 343 सैंपल जांच के लिए एम्स रायपुर भेजे जा चुके हैं, जिसमें से 1 हजार 233 की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। एक हजार 205 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। केवल 28 लोग इस जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। अभी तक 110 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। रायपुर एम्स में वर्तमान में कटघोरा के 12 कोरोना संक्रमितों का ईलाज चल रहा है। 16 कोरोना पीड़ित इलाज के बाद स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट आए हैं। कटघोरा के 110 लोगों को दर्री और कटघोरा के क्वॉरेंटाइन सेंटरों में भेजा गया। यह सभी कोरोना संक्रमितों के परिवारों और उनके संपर्क में आए लोग हैं, जिन्हें सावधानीवश आगे अन्य परिवारों में कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए आइशोलेट किया जाना जरूरी था। चौबीस लोगों को ग्रीन पार्क होटल दर्री, 24 अन्य को कस्तूरबा गांधी बालिका आश्रम कटघोरा और 13 लोगों को प्री मैट्रिक छात्रावास कटघोरा में पहुंचाया जा चुका है। अन्य लोगों को रिलेक्स इन होटल उरगा में पहुंचाया जा रहा है। क्वॉरेंटाइन सेंटरों में इन सभी लोगों के रहने, खाने की पूरी व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा पहले से ही कर ली गई है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.