GLIBS

'मन की बात' में पीएम मोदी ने कहा- कोरोना को लेकर इस बार ज्यादा सतर्क रहने की है जरूरत, जानिए खास बातें...

ग्लिब्स टीम  | 31 May , 2020 01:11 PM
'मन की बात' में पीएम मोदी ने कहा- कोरोना को लेकर इस बार ज्यादा सतर्क रहने की है जरूरत, जानिए खास बातें...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देश की जनता को संबोधित किया। देश में लागू लॉक डाउन के बीच पीएम मोदी ने तीसरी बार देशवासियों से मन की बात की। हर महीने के अंतिम रविवार को आने वाले इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कोरोना वायरस, कोरोना योद्धाओं, बंगाल में सुपर साइक्लोन अम्फान, खेतों में टिड्डियों के हमले समेत तमाम मुद्दों पर देश को संबोधित किया। पीएम मोदी के मुताबिक पिछले 'मन की बात' कार्यक्रम का प्रसारण जब हुआ था, तो ट्रेन, बस और हवाई सेवा सब बंद थी, लेकिन इस बार सब खुल चुका है, ऐसे में हमें ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। इसके अलावा भी पीएम मोदी ने कई अन्य बातों पर जोर दिया।

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना को लेकर कहा हमारे देश के लैब में हो रहे वैक्सीन पर काम को लेकर पूरी दुनिया की नजर है। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना पर बिल्कुल भी ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए। इसके खिलाफ भारत मजबूती से लड़ाई लड़ रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'प्रवासी मजदूरों को देखते हुए नए कदम उठाना जरूरी हो गया है। हम उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। कहीं माइग्रेशन कमिशन बनाने की बात हो रही है। केंद्र सरकार के फैसलों से रोजगार मिलने वाले हैं। ये फैसले आत्मनिर्भर भारत के लिए हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गांवों में हमारी बेटियां हजारों की संख्या में मास्क बना रही हैं। कितने ही उदाहरण रोजाना दिखाई और सुनाई देते हैं। लोग अपने प्रयासों के बारे में मुझे नमो ऐप के जरिए बता रहे हैं। कई बार मैं समय की कमी के कारण नाम नहीं ले पाता हूं। ऐसे सभी लोगों की मैं प्रशंसा करता हूं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'इस दौरान पढ़ाई के क्षेत्र में भी कई अलग—अलग इनोवेशन शिक्षकों और छात्रों ने मिलकर किए हैं। ऑनलाइन क्लासों को शुरू किया गया है। कोरोना की दवा पर हमारी लैब में जो काम हो रहा है, उसपर पूरी दुनिया की नजर है।

ये हैं 'मन की बात' की प्रमुख बातें :

1. पीएम मोदी के मुताबिक सरकार ने सही वक्त पर सभी जरूरी फैसले लिए हैं, जिस वजह से कोरोना भारत में ज्यादा नुकसान नहीं कर पाया है। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ाई में सबसे बड़ी भागीदारी सेवा धर्म ही है।
2. पीएम मोदी ने कहा कि कल से अनलॉक-1 शुरू हो रहा है। इस दौरान अर्थव्यवस्था का बड़ा हिस्सा चल पड़ेगा और सभी उद्योग धंधे भी खुलने लगेंगे। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है, ताकी कोरोना से बचा जा सके।
3. पीएम मोदी के मुताबिक हमारे देश की जनसंख्या अन्य देशों की तुलना में ज्यादा है। इस महामारी के खिलाफ हमने एकजुट होकर लड़ाई लड़ी है। हमारे सामूहिक प्रयासों की वजह से देश में कोरोना के मामले अन्य देशों की तुलना में कम हैं।
4. हमारे देश में करोड़ों गरीब रहते हैं, अगर वो बीमार पड़ गए तो क्या होगा, कहां से पैसे लाएंगे। उनके इलाज के लिए सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की है। अब आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ के पार चली गई है। पीएम मोदी ने गरीबों का इलाज करने वाले सभी डॉक्टरों और नर्स को बधाई दी है।
5. इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आयुष मंत्रालय ने अनोखा प्रयास किया है। इसके तहत 'My Life, My Yoga' नाम से प्रतियोगिता शुरू होगी। इसमें आपको एक मिनट का वीडियो अपलोड करना होगा। जिसमें योग से संबंधित जानकारी देनी होगी और ये बताना होगा कि योग से आपके जीवन में क्या बदलाव आया। इस प्रतियोगिता में विश्व भर के लोग हिस्सा लेंगे।
6. पीएम मोदी ने कहा कि 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाएगा। जिसकी इस साल थीम जैव-विविधता रखी गई है। हाल ही में हुए लॉक डाउन ने अर्थव्यवस्था को जरूर पटरी से उतार दिया था, लेकिन पर्यावरण पर इसका अच्छा असर पड़ा है। कई पक्षी ऐसे हैं, जो गायब हो गए थे। अब उनकी चहल-पहल फिर से लौट आई है। हमें प्रकृति के साथ तालमेल मिलाकर जीवन जीने की प्रेरणा लेनी चाहिए।
7. पीएम मोदी ने तमिलानाडु के एक शख्स सी. मोहन की देश सेवा का उदाहरण दिया, जो मदुरै में सैलून चलाते हैं। उन्होंने अपनी बेटी की पढ़ाई के लिए पांच लाख रुपए इकट्ठा किए थे, लेकिन लॉक डाउन के बाद उन्होंने सारा पैसा लोगों की मदद के लिए खर्च कर दिए। पीएम मोदी ने उनके सेवा के इस जज्बे को सलाम किया है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.