GLIBS

पिथौरा की गुम महिलाओं का क्या संबंध है हरदोई यूपी में हुईं शोषण का शिकार महिलाओं से...

पिथौरा की गुम महिलाओं का क्या संबंध है हरदोई यूपी में हुईं शोषण का शिकार महिलाओं से...

महासमुन्द। पिथौरा थाने में तीन महिलाओं के गुम होने की शनिवार को रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। दरअसल सोशल मीडिया पर छत्तीसगढ़ की तीन महिलाओं से उत्तरप्रदेश के हरदोई के तीन युवकों ने दोस्ती की और उन्हें उत्तरप्रदेश बुलाया और उनसे जबरिया शादी कर ली। इस मामले की रिपोर्ट हरदोई पुलिस थाने में तीनों महिलाओं ने की है।पुलिस को महिलाओं ने जानकारी दी है कि उन्हें शकील अहमद, इमरान, और नूर आलम ने पिछले एक बरस से टेलीफोन पर नाम बदलकर उनसे दोस्ती की। उन्हें शादी व रोजगार का झांसा देकर लखनऊ बुलाया। रिपोर्ट में आगे लिखाया है कि वे 16 सितंबर को लखनऊ पहुंचीं तो वहां संडीला नाम के कस्बे में उन्हें एक कमरे में बंद कर दिया और उनके गहने और पैसे छीन लिए। उन्होंने लिखाया है कि इन तीनों के साथ अन्य युवकों ने जबर्दस्ती शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की और जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने रिपोर्ट में लिखाया है कि वे किसी तरह छिप-छिपाकर आई हैं। अत: इन युवकों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

पश्चिम उत्तरप्रदेश के एक पत्रकार सचिन गुप्ता ने इस बारे में ट्वीट किया, तो तीन घंटों के भीतर बिलासपुर के आईजी दीपांशु काबरा ने ट्विटर पर जवाब दिया कि इन लड़कियों की शिनाख्त हो गई है। वे छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के पिथौरा की रहने वाली हैं और पुलिस टीम उन्हें वापिस लेने जा रही है।बहरहाल महासमुन्द पुलिस का ये कहना है कि पिथौरा के एक महिला 3 सितम्बर की अपने घर से भाग गई थी,जिसे 5 सितम्बर को बरामद कर लिया गया था। उस महिला ने पुलिस से कहा था कि वह अपने पति के साथ रहेगी, लेकिन 14 सितम्बर को ये महिला अपनी 19 वर्षीय ननद और 35 वर्षीय अपनी चाची के साथ घर से भाग गई थी। इसकी आज पिथौरा थाने में गुम इंसान रिपॉर्ट दर्ज कराई गई है। पिथौरा पुलिस के पास बहरहाल कोई फ़ोटो उत्तर प्रदेश के हरदोई में बरामद महिलाओं का नहीं होने से मामले में अभी पुलिस कुछ नहीं कह पा रही है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.