GLIBS

ग्लिब्स की खबर का असर : ब्रेथ एनालाइजर के उपयोग पर डीजीपी ने लगाई रोक

हर्षित शर्मा  | 19 Mar , 2020 07:43 PM
ग्लिब्स की खबर का असर : ब्रेथ एनालाइजर के उपयोग पर डीजीपी ने लगाई रोक

रायपुर। छत्तीसगढ़ पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने यातायात पुलिस अधिकारियों को ब्रेथ एनालाइजर का उपयोग आगामी आदेश तक बंद करने कहा है ताकि कोरोना के संक्रमण से सुरक्षा हो सके। कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच यातायात पुलिस ब्रेथ एनालाइजर का उपयोग कर रही थी। ग्लिब्स डॉट इन ने इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था कि एक ओर देश दुनिया में सरकारें कोरोना महामारी से चिंतित हैं। लोगों को संक्रमण से बचने की सलाह दी जा रही है। विश्वभर में कोरोना को महामारी भी घोषित कर दिया गया है लेकिन हमारी यातायात पुलिस धड़ल्ले से ब्रेथ एनालाइजर का उपयोग कर रही थी। यातायात पुलिस ने 13 मार्च को खुद विज्ञप्ति जारी कर कहा था कि उन्होंने इन चार दिनों में 64 से अधिक वाहना चालकों से 6 लाख 40 हजार रुपयों का चालान वसूला था।

डीजीपी ने सभी यातायात अधिकारियों और कर्मचारियों को पाइंट ड्यूटी, पेट्रोलिंग ड्यूटी, चालानी कार्यवाही और अन्य ड्यूटी के दौरान नोज मास्क लगाने के निर्देश भी दिए हैं। ड्यूटी के दौरान यदि प्रथम दृष्टया संक्रमित व्यक्ति नजर आए तो इसकी सूचना तत्काल कन्ट्रोल रूम और जिले के नोडल स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में दी जाएगी। इसके साथ ही गुरुवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने भी ब्रेथ एनालाइजर के उपयोग को आगामी आदेश तक बंद करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि दो दिनों से इसका उपयोग बंद करा दिया गया है। सवाल यह उठा कि शराब पीना खराब बात है और शराब पीकर गाड़ी चलाना दंडनीय अपराध है लेकिन जब महामारी घोषित कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए विभिन्न उपाय किए जा रहे हों उस दौरान सड़क पर वाहन चालकों को रोककर ब्रेथ एनालाइजर उनके मुंह में लगाना कहां तक उचित है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.