GLIBS

लकड़ी मिल में लगी आग, दमकल वाहनों ने 3 घंटे मशक्कत के बाद पाया गया काबू

तरूण अम्बस्ट  | 23 Nov , 2019 06:50 PM
लकड़ी मिल में लगी आग, दमकल वाहनों ने 3 घंटे मशक्कत के बाद पाया गया काबू

अंबिकापुर। नगर के खरसिया रोड स्थित बसंत होटल के समीप लकड़ी मिल में बीती रात भीषण आग लग गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंची दमकल की 28/30 वाहनों ने काफ़ी मशक्क़त के बाद आग पर काबू पाया। आगजनी की इस घटना में लगभग 20 से 25 लाख का नुकसान बताया जा रहा है। फ़िलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस विभिन्न पहलुओं पर मामले की जांच कर रही है। जानकारी के मुताबिक, नगर के अग्रसेन चौक से कुछ दूरी पर ग्रैंड बसंत होटल के समीप रिहायशी इलाके में स्थित केपी अग्रवाल के लकड़ी मिल में बीती रात क़रीब 11 बजे अचानक आग लग गई और देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। वहां मौजूद लोगों ने आनन-फानन में दमकल वाहन को सूचना दी। मौके पर पहुंची दो दर्जन से अधिक दमकल वाहनों ने 7/8 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। लेकिन तब तक लाखों की लकड़िया जलकर खाक हो चुकी थी। बता दें कि, घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर पेट्रोल टंकी स्थित है। वहीं घटना की सूचना मिलते ही मौके पर जिले के एसपी, कोतवाली प्रभारी दिलबाग सिंह, मणिपुर चौकी प्रभारी प्रमोद यादव पुलिस टीम के साथ पहुंचे। उनके द्वारा भी आग पर काबू पाने की लगातार कोशिश की गई। मिल के संचालक के द्वारा आशंका जताई जा रही है कि आग किसी शरारती तत्वों ने लगाई है। अनुमान यह भी लगाया जा रहा है कि बीती रात इस रास्ते से बारात भी निकली थी। हो सकता है पटाखों की वजह से भी आग लगी हो। मिल संचालक के मुताबिक़, इस घटना में 20 से 25 लाख का नुकसान हुआ है। इस मामले में पुलिस ने आगजनी का मामला दर्ज कर, एसपी के निर्देश पर मिल के सभी लकड़ियों को ज़ब्त कर क्रेन के जरिये ट्रकों में लोडकर थाने लाया गया। पंचनामा के बाद लकड़ियों को मिल संचालक को सुपूर्द कर दिया जाएगा। वहीं भीषण आग लगने के दौरान कोतवाली प्रभारी में मानवता दिखाई और मिल के अंदर आग के लपटों के बीच मौजूद 8 कुत्ते के छोटे-छोटे बच्चे को सुरक्षित मिल से बाहर निकाला और सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.