GLIBS

मुख्यमंत्री के पालतू कुत्ते की मौत के बाद दो पशु चिकित्सकों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

ग्लिब्स टीम  | 15 Sep , 2019 12:31 PM
मुख्यमंत्री के पालतू कुत्ते की मौत के बाद दो पशु चिकित्सकों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

नई दिल्ली। तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के आधिकारिक बंगले में रहने वाले एक पालतू कुत्ते हस्की की बिमारी के बाद मौत हो गई। जिसके बाद पशु चिकित्सकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इस मामले की जांच अब बंजारा हिल्स पुलिस कर रही है। आरोपों के सही पाए जाने पर डॉक्टरों को पांच साल तक की जेल हो सकती है। जानकारी के अनुसार पुलिस ने एनिमल केयर क्लिनिक के डॉक्टर लक्ष्मी और डॉक्टर रंजीत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 429 और 11 के तहत एफआईआर दर्ज की है। बुधवार शाम तक 11 महीने का पालतू कुत्ता हस्की बिलकुल ठीक था।

शाम को वह अचानक बीमार हो गया। जिसके बाद मुख्यमंत्री के बंगले पर काम करने वाले कर्मचारियों ने हस्की के बीमार होने की सूचना उसके डॉक्टर रंजीत को जाकर दी। अपनी जांच में डॉक्टर रंजीत ने पाया कि हस्की को 101 डिग्री का बुखार है। जिसके बाद उन्होंने पहले उसे दवा दी और फिर एनिमल केयर क्लिनिक में शिफ्ट कर दिया। हालांकि हस्की ने क्लिनिक में दम तोड़ दिया। मुख्यमंत्री के बंगले पर नौ पालतू कुत्ते रहते हैं। जिसके केयरटेकर आसिफ अली खान हैं। राव के इस कदम ने विपक्ष को उनपर निशाना साधने का मौका दे दिया है। विपक्ष ने उनकी आलोचना करते हुए कहा है कि हैदराबाद और तेलंगाना के अन्य हिस्सों में फैले डेंगू की तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कांग्रेस सांसद ए रेवंथ रेड्डी ने सवाल करते हुए कहा, 'स्वर्णिम तेलंगाना के लोग प्रगति भवन के कुत्ते की तरह ही महत्व नहीं रखते हैं?'

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.