GLIBS

स्कूल बंद होने के बाद भी वैकल्पिक व्यवस्था से बच्चों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होने दे रहे हैं शिक्षक

यामिनी दुबे  | 14 Aug , 2020 05:35 PM
स्कूल बंद होने के बाद भी वैकल्पिक व्यवस्था से बच्चों की पढ़ाई का नुकसान नहीं होने दे रहे हैं शिक्षक

रायपुर/मुंगेली। कोरोना संक्रमण के कारण प्रदेश में विद्यालय नहीं खुल रहे है,जिससे बच्चों के पढ़ाई प्रभावित न हो,इस उद्देश्य से राज्य शासन की ओर से विभिन्न वैकल्पिक अध्यापन उपाय सुझाए गए हैं। इसमें कलेक्टर पीएस एल्मा के मार्गदर्शन में ऑनलाइन वर्चुअल क्लास,बुल्ठू के बोल,लाउडस्पीकर से अध्यापन,गली मोहल्ला स्कूल,मोबाइल स्कूल आदि वैकल्पिक व्यवस्था शामिल है। इन व्यवस्थाओं में शिक्षक स्वस्फूर्त अपनी सुविधानुसार व सोशल डिस्टेन्सिग का पालन करते हुए बच्चों को अध्यापन करा रहे हैं। जिले में जिला शिक्षा अधिकारी जीपी भारद्वाज,जिला परियोजना समन्वयक व्हीपी सिंह, जिला नोडल अधिकारी पीसी दिव्य से प्राप्त दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पर्याप्त सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाकर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है।

संकुल स्रोत केंद्र दशरंगपुर में लगभग 17 प्राथमिक व माध्यमिक शालाओं में शिक्षक एवं शिक्षिकाओं की ओर से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए और ग्राम के सरपंच पंच व जनप्रतिनिधियों से सहमति लेने के पश्चात गली मोहल्ला क्लास गांव में उपलब्ध स्थान चौक चौराहा,मंदिर प्रांगण,खुले मैदान,पेड़ों के नीचे लगाया जा रहा है। बच्चे भी उत्साह पूर्वक कक्षाओं में शामिल हो रहे हैं। संकुल शैक्षिक समन्वयक दशरंगपुर उमेश कश्यप की ओर से बच्चों के बैठक व्यवस्था,सोशल डिस्टेन्सिग,मास्क एवं पाठ्यपुस्तकों की पर्याप्त उपलब्धता की मॉनिटरिंग की जा रही है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.