GLIBS

Video: सरगुजा का कालीन देश-विदेश में बिके इसके लिए किए जा रहे प्रयास : भूपेश बघेल

तरूण अम्बस्ट  | 06 Oct , 2020 06:00 PM
Video: सरगुजा का कालीन देश-विदेश में बिके इसके लिए किए जा रहे प्रयास : भूपेश बघेल

अंबिकापुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को अपने निवास कार्यालय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सरगुजा जिले को 154 करोड़ 63 लाख रूपए के विकास एवं निर्माण कार्याें की सौगात दी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरगुजा ने स्वच्छता एवं नवाचार के क्षेत्र में सराहनीय कार्य किया है। सरगुजावासियों ने अपने उल्लेखनीय कार्याें से छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित किया है। स्वच्छता के क्षेत्र में सरगुजा जिले के कार्याें की सराहना करते हुए इसके लिए सरगुजा प्रशासन, नगर निगम तथा पार्षदों और सरगुजावासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सरगुजा जिले में 2 पुल एवं 4 ग्रामीण सड़कों के निर्माण की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर उत्कृष्ट कार्य के लिए बैंक सखी को भी प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सरगुजा जिले के प्रभारी मंत्री एवं नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने की। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंह देव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत भी ऑनलाइन शामिल हुए।
   
 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरगुजा जिले के विकास की रफ्तार को तेज करने का संकल्प दोहराते हुए कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार प्रयासरत है। उन्होंने सरगुजा जिला प्रशासन एवं नगर निगम प्रशासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं के क्रियान्वयन में और तेजी लाने की बात कही। उन्होंने कहा मैनपाट में कालीन बुनाई की शुरूआत कर स्थानीय लोगों को रोजगार मुहैया कराने के प्रयासों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां कालीन का व्यावसायिक उत्पादन हो और यहां की कालीन देश-विदेश में बिके, इसके लिए प्रयास किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का ऐसा पहला राज्य है जहां बिजली से संबंधित 90 प्रतिशत से अधिक सुविधाओं का लाभ उपभोक्ता घर बैठे मोर बिजली एप के माध्यम से उठा सकता है। कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ राज्य वन औषधि पादप विकास बोर्ड के अध्यक्ष  बालकृष्ण पाठक, श्रम कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष शफी अहमद, बीस सूत्रीय कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल, छत्तीसगढ़ खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरूप्रीत सिंह बाबरा, महापौर डॉ. अजय तिर्की, जिला पंचायत अध्यक्ष मधु सिंह एवं उपाध्यक्ष राकेश गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थेे।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.