GLIBS

मुंगेली नगर पालिका में हुए फर्जी वाडे पर सभी दोषियों के खिलाफ एफआईआर करने कलेक्टर ने जारी किया आदेश

मुंगेली नगर पालिका में हुए फर्जी वाडे पर सभी दोषियों के खिलाफ एफआईआर करने कलेक्टर ने जारी किया आदेश

मुंगेली। कलेक्टर अजीत वसंत ने नगर पालिका में हुए फर्जी वाडे पर सभी दोषियों के खिलाफ एफआईआर जारी करने का आदेश जारी कर दिया है। वही अब इस बात को लेकर सुगबुगाहट सामने आने लगी है कि अनुविभागिय अधिकारी मुंगेली को जांच प्रभारी बनाया गया था। नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत कराए गए कार्यों में लगातार भ्रष्टाचार की शिकायते सामने आने के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए कलेक्टर ने अनुविभागिय अधिकारी को जांच टीम गठित कर जांच का आदेश जारी किया था। इसके बाद अनुविभागिय अधिकारी ने मौके पर पहुंच कर स्थल का निरिक्षण कर रिर्पोट कलेक्टर को सौंपा। इस पर कलेक्टर ने संबंधित व्यक्तियों को शोकाज नोटिस जारी कर 7 दिनों के अंदर स्पष्टिकरण देने का निर्देश दिया है। समयावधि पर जवाब प्रस्तुत नहीं करने पर एकतरफा कार्रवाई की जाएगी। इस पर संतोष प्रद जवाब न मिलने के कारण कलेक्टर ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को सभी व्यक्तियों पर एफआईआर करने के आदेश जारी किए।

ज्ञात हो कि स्वतंत्र मिश्रा अध्यक्ष, शहर कांग्रेस कमेटी मुंगेली एवं जनप्रतिनिधियों की ओर से शिकायत करते हुए कहा गया था कि मुंगेली नगर पालिका परिषद की ओर से परमहंस वार्ड में 17 लाख की लागत से नाली निर्माण कार्य होना था। इसका निर्माण कार्य ठेकेदार सोफिया कंस्ट्रकशन से कराया जाना था। इसका सत्यापन, प्रभारी उप अभियंता जोयस तिग्गा ने किया था। इस पर बिना नाली निर्माण हुए तत्कालीन प्रभारी सीएमओ विकास पाटले एवं नगर पालिका परिषद मुंगेली के अध्यक्ष संतूलाल सोनकर के संयुक्त हस्ताक्षर से 19 फरवारी को 13,12,818 रुपए का भुगतान षड़यंत्र कर किया गया। इस पर कलेक्टर ने संज्ञान लेते हुए संबंधितों को कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पस्टिकरण मांगा है एवं समय पर स्पस्टिकरण नहीं देने पर एकतरफा कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.