GLIBS

वन अधिकार मान्यता पत्र बनाने की धीमी गति पर कलेक्टर ने जताई नाराजगी,एक सप्ताह में भेजने के दिए निर्देश

बीएन यादव  | 06 Oct , 2020 09:00 PM
वन अधिकार मान्यता पत्र बनाने की धीमी गति पर कलेक्टर ने जताई नाराजगी,एक सप्ताह में भेजने के दिए निर्देश

कोरबा। कलेक्टर किरण कौशल ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई समय सीमा की साप्ताहिक बैठक में वन अधिकार मान्यता पत्र बनाने की धीमी गति पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों, राजस्व एवं वन अमले के साथ-साथ आदिवासी विभाग के सहायक आयुक्त को सभी पात्र हितग्राहियों के वन अधिकार मान्यता पत्र बनाने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। किरण कौशल ने अगले एक हफ्ते में हर गांव में ग्राम सभाओं का आयोजन कर वन अधिकार पट्टे के लिए प्राप्त आवेदनों का परीक्षण-निरीक्षण करके पात्र हितग्राहियों के प्रस्तावों का अनुमोदन सुनिश्चित कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए। जिले में लक्ष्य अनुसार तीन हजार 960 सामुदायिक पट्टे वितरित होने हैं, जिनमें से अभी तक केवल एक हजार 35 आवेदन ही प्राप्त हुए हैं। कलेक्टर ने सामुदायिक पट्टों के प्रकरण लक्ष्य अनुसार तैयार करने के निर्देश दिए और व्यक्तिगत पट्टों के लिए पात्र सभी हितग्राहियों के प्रकरणों को ग्राम सभाओं में अनुमोदन कराकर विकासखंड स्तरीय समिति को भेजने के निर्देश दिए। बैठक में सीईओ जिला पंचायत कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त एस.जयवर्धन, संयुक्त कलेक्टर सूर्यकिरण तिवारी सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। वीडियो कांफे्रंसिंग के माध्यम से सभी एसडीएम तथा ब्लाक स्तरीय अधिकारी भी समय सीमा की बैठक में शामिल रहे।

बैठक में कलेक्टर ने जिले में सड़कों के मरम्मत के कामों की भी जानकारी लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री से ली। उन्होंने पाली से डूमरकछार के बीच सड़क मरम्मत का काम नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए कटघोरा एसडीएम को सत्त मानिटरिंग करने के निर्देश दिए। कलेक्टर कौशल ने सड़क मरम्मत के कामों में लगे ठेकेदारों सहित निर्माण एजेंसियों के अधिकारियों और सभी सार्वजनिक उपक्रमों के प्रतिनिधियों की भी बैठक आहूत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिले के ग्रामीण इलाकों में लगने वाले पारंपरिक हाट-बाजारों की भी जानकारी अधिकारियों से ली। उन्होंने ऐसे सभी हाट-बाजारों को पूर्व की तरह ही संचालित कराने के इंतजाम कराने के निर्देश सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को दिए। उन्होंने हाट-बाजारों में कोविड प्रोटोकाॅल के पालन के साथ-साथ सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनना भी सुनिश्चित कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने बाजारों में आने वाले ग्राहकों और दुकान लगाने वाले सभी दुकानदारों को मास्क पहनना अनिवार्य करने के निर्देश दिए। किरण कौशल ने बाजारों में पहले की तरह ही चलित मेडिकल टीम के भी उपस्थित रहने के निर्देश भी दिए। किरण कौशल ने सभी जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों और वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों को ग्राम पंचायतों में प्रतिदिन की जा रही गोबर खरीदी का सतत निरीक्षण करने के निर्देश भी दिए।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.