GLIBS

सीएमएचओ ने दिया अल्टीमेटम,24 घंटे में काम पर नहीं लौटे तो सेवा होगी समाप्त

सीएमएचओ ने दिया अल्टीमेटम,24 घंटे में काम पर नहीं लौटे तो सेवा होगी समाप्त

​महासमुंद। जिला मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसपी वारे ने सभी एनएचएम स्वास्थ्य अधिकारी-कर्मचारियों को जो शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं, उन्हें नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया है कि,यदि 24 घंटे के भीतर अपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर सामान्य रूप से कार्य निष्पादित नहीं करते हैं,तो अधिकारी-कर्मचारियों के विरूद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा है कि, एस्मा भी लागू है। अधिनियम की कंडिका 5 का उल्लंघन किए जाने की स्थित में दण्डात्मक कार्यवाही का प्रावधान है, तो निम्नलिखित चार में से कोई एक या एक से अधिक विकल्पों को प्रभावशील किया जाएगा। छत्तीसगढ़ अत्यावश्क सेवा संधारण तथा विक्षिन्ता निवारण अधिकनियम 1979 के प्रावधान के तहत कार्यवाही की जाएगी। आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 एवं 56 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत कार्यवाही के लिए प्रस्ताव प्रेषित किया जाएगा। छत्तीसगढ़ एपिडेमिक डिसीज कोविड-19 रेगुलेशन्स 2020 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत कार्यवाही और, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत नियुक्ति एवं सेवा शर्तों में उल्लेखित कंडिकाओं के उल्लंघन करने के कारण सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जाएगी।

जारी नोटिस में यह भी कहा गया है कि, उक्त अवधि के भीतर अपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर सामान्य रूप से कार्य निष्पादन नहीं किया जाता हो, तो इस दशा में की गई कार्रवाई के लिए कर्मचारी स्वयं जिम्मेदार होंगे। राज्य स्तर से भी इस नाजुक दौर में अधिकारी कर्मचारियों से कार्य पर उपस्थित होने का आग्रह किया गया है। ​इसके तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अधिकारी कर्मचारी से आग्रह किया कि, वे कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए अपने काम उपस्थित रहकर पीड़ितों की मदद करें। पूरा देश कोरोना को मात देने में जुटा हुआ है। स्वास्थ्य कर्मचारियों को यह व्यवहार कतई बर्दाश्त योग्य नहीं है। बल्कि इस संकट की घड़ी में अपनी संवेदनशीलता का परिचय देने का समय है। ​एनएचएम स्वास्थ्य कर्मचारी अनुपस्थित में आयुष मेडिकल आफिसर (आरबीएसके) सहित नर्स, लैब टेक्नीशियन समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी शामिल हैं। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर सुचारू रूप से संचालित हुए और मरीजों का उपचार जारी रहा।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.