GLIBS

एकलव्य विद्यालयों में ग्रामीण परिवेश के बच्चों का हो रहा बेहतर भविष्य निर्माण : शम्मी आबिदी

रविशंकर शर्मा  | 19 Mar , 2021 10:15 PM
एकलव्य विद्यालयों में ग्रामीण परिवेश के बच्चों का हो रहा बेहतर भविष्य निर्माण : शम्मी आबिदी

रायपुर। प्रदेश में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के प्रचार्यों और विशेष शिक्षकों के उन्मुखीकरण और क्षमता विकास प्रशिक्षण सत्र को संचालक आदिम जाति विकास विभाग शम्मी आबिदी ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि ज्ञान अर्जन एक सतत प्रक्रिया है। व्यक्ति जीवन भर कुछ  न कुछ सीखता रहता है और अपने ज्ञान में वृद्धि करता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण परिवेश के विद्यार्थियों को पढ़ाना और उनका बेहतर भविष्य बननाना एक महत्वपूर्ण कार्य है। इसे एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों के प्राचार्य और विषय शिक्षक बखूबी निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण सत्र का पूरा लाभ उठाएं और अपनी शंकाओं से विषय विशेषज्ञों को अवगत कराएं, ताकि वे उसका बेहतर समाधान बता सकें।
उल्लेखनीय है कि ठाकुर प्यारेलाल राज्य ग्रामीण विकास संस्थान निमोरा में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के प्राचार्यों और विषय शिक्षकों का उन्मुखीकरण और क्षमता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम 9 मार्च से जारी है। इसका समापन 25 मार्च को होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य शिक्षकों को नवीन शिक्षण पद्धतियों से अवगत कराना, उनमें पेशेवर क्षमतावर्धन करना है। इससे विषय की बेहतर समझ का विकास होगा। इससे वे विद्यार्थियों को बहुत ही सरल माध्यम से विषय संबंधी ज्ञान दे सके। गौरतलब है कि सीबीएसई पैटर्न के आधार शिक्षण संबंधी अभी तक कोई भी प्रशिक्षण शिक्षकों को नहीं दिया गया है। इस प्रशिक्षण के माध्यम से उन्हें सीबीएसई बोर्ड के आधार पर शिक्षक तकनीक की बारीकियों से अवगत कराया जा रहा हैं।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.