GLIBS

Breaking: रायपुर में हट सकता है लॉक डाउन, कैट को मिले ऐेसे संकेत, जारी किए जाएंगे दिशानिर्देश

रविशंकर शर्मा  | 05 Aug , 2020 08:50 PM
Breaking: रायपुर में हट सकता है लॉक डाउन, कैट को मिले ऐेसे संकेत, जारी किए जाएंगे दिशानिर्देश

रायपुर। कंफेडरेशन  ऑफ  ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) सीजी चैप्टर के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन से मुलाकात कर,उन्हें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम ज्ञापन सौंपा है। लंबी चर्चा के बाद कैट के प्रतिनिधिमंडल को सकारात्मक संकेत मिले हैं। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सीजी चैप्टर के अध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा कि कैट का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मुलाकात कर प्रदेशभर की दुकानों को खोलने के संबंध में ज्ञापन सौंपने वाला था। मुख्यमंत्री निवास में जारी बैठक के कारण मुलाकात नहीं हो सकी। उन्हें कलेक्टर से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपने कहा गया। इस कलेक्टर से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा गया। पारवानी ने कहा कि कलेक्टर ने कहा है कि रायपुर में लॉक डाउन नहीं बढ़ाया जाएगा। व्यापार की छूट दी जाएगी। इस संबंध में दिशानिर्देश जल्द जारी होंगे। व्यापारियों से भी सुझाव मांगे गए हैं। इसके बाद कैट सीजी चैप्टर की फिर आपात बैठक जयस्तंभ चौक के निजी होटल में हो रही है। सभी से विचार-विमर्श कर जिला प्रशासन को अवगत करा दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को कैट सीजी चैप्टर ने इसी स्थान पर आपात बैठक लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया था।

कैट की कोरोना रोकथाम के साथ-साथ आगामी त्यौहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए राज्य में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने की मांग है। कैट का सुझाव है कि 7 अगस्त से पूरे प्रदेश में सुबह से शाम 7 बजे तक व्यापार की अनुमति दी जाए। शाम 8 बजे के बाद कर्फ्यू लगा दिया जाए। चूंकि शनिवार और रविवार दोनों दिनों में पूर्ण बाजार बंद करने से सोमवार को बाजारों में भीड बढ़ जाती है। कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। अत: शनिवार को दोपहर 2 बजे तक व्यापार अनुमति देना लाभकारी होगा। शनिवार को दोपहर 2 बजे तक व्यापार करने की अनुमति दी जाए। शनिवार शाम 4 बजे के बाद सोमवार सुबह तक बाजार पूर्णत: बंद रहे। इससे जहां एक ओर कोरोना का संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी तो वहीं दूसरी ओर आर्थिक गतिविधियां तेज होने से राज्य के राजस्व में भी वृद्धि होगी। वर्तमान परिस्थितियों में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने लिए गए लॉक डाउन के फैसले के बाद त्यौहारी परिपेक्ष्य में बाजार खोलने का उक्त निर्णय व्यापार जगत के साथ-साथ जन सामान्य के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण होंगे।

 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.