GLIBS

भूपेश ने कहा-शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता प्राइवेट से कम न हो, यही सफलता का मापदंड होगा

रविशंकर शर्मा  | 23 Sep , 2020 04:07 PM
भूपेश ने कहा-शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता प्राइवेट से कम न हो, यही सफलता का मापदंड होगा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूलों में बेहतर अध्ययन और अध्यापन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि, इन स्कूलों की अधोसंरचना को बेहतर बनाने के साथ ही, यहां पर बच्चों को उच्च क्वालिटी की शिक्षा मिलें, इस पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाए। इंग्लिश मीडियम स्कूलों में आवश्यक अधोसंरचना के निर्माण के लिए डीएमएफ मद की राशि की व्यवस्था तय करने के निर्देश भी दिए गए। मुख्यमंत्री बघेल ने बुधवार को अपने निवास कार्यालय में शिक्षा विभाग की ओर से स्वीकृत और संचालित स्कूलों की व्यवस्था की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। 

मुख्यमंत्री ने राज्य के जिला मुख्यालयों में स्वीकृत व संचालित शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूलों में बच्चों के दाखिला को लेकर मिले रूझानों पर प्रसन्नता जताई। उन्होंने कहा कि, इन स्कूलों में एडमिशन के लिए पालक एप्रोच करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि,किसी भी स्थिति में शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता प्राइवेट इंग्लिश मीडियम स्कूलों से कमतर न हो। यही इसकी सफलता पर मापदंड होगा। उन्होंने कहा कि शुरुआती दौर में हमारी मंशा प्रत्येक जिला मुख्यालय में एक शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू करने की थी, जो बाद में बढ़कर 40 हो गई। पालकों और बच्चों की डिमांड और स्थानीय प्रशासन के उत्साह के कारण अब यह संख्या बढ़कर 51 हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी शिक्षा सत्र से राज्य के सभी ब्लॉक मुख्यालयों में शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू करने शासन की मंशा है। 

मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को 51 स्कूलों में अध्ययन-अध्यापन की व्यवस्था तय करने के साथ ही आगामी शिक्षा सत्र से ब्लॉक मुख्यालयों में शुरू होने वाले 146 इंग्लिश मीडियम स्कूलों के लिए भी समानांतर प्लानिंग के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के प्राचार्यों और शिक्षकों की नियुक्ति व उनके प्रशिक्षण पर विशेष रूप से ध्यान देने की बात कही।  बैठक के प्रारंभ में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने पावरपाइंट प्रजेन्टेशन से शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूलों में हो रहे अधोसंरचना विकास के कार्यों सहित इसके विस्तृत प्लान, प्राचार्यों की प्रतिनियिुक्त और शिक्षकों की भर्ती के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी,संचालक लोक शिक्षण जितेंद्र शुक्ला , उप सचिव सौम्या चौरसिया सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.