GLIBS

एरोमेटिक कोंडानार परियोजना से मिलेगी कोंडागांव जिले को नई पहचान,मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

रविशंकर शर्मा  | 20 Jun , 2021 07:00 PM
एरोमेटिक कोंडानार परियोजना से मिलेगी कोंडागांव जिले को नई पहचान,मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को कोंडागांव जिले में सुगंधित फसलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए लगभग 20 करोड़ रुपए की लागत की सुगंधित कोंडानार(एरोमेटिक कोंडानार) परियोजना का वर्चुअल शुभारंभ किया। इस परियोजना में कोंडागांव जिले में 2 हजार एकड़ भूमि पर सुगंधित फसलों की खेती की जाएगी। इस परियोजना के तहत किसानों के समूह एरोमा हब की ओर से सुगंधित फसलों की 7 प्रजातियों लेमन ग्रास, पामारोजा, पचौली, मुनगा, अमाड़ी, वैटीवर, तुलसी की खेती की जाएगी। सुगंधित फसलों को प्रोसेसिंग के लिए कोण्डागांव में स्थापित होने वाली प्रसंस्करण इकाई में भेजा जाएगा। इस परियोजना से जुड़े किसानों को प्रति एकड़ सालाना लगभग 1 लाख रुपए की आमदनी होगी। इस परियोजना के लिए चिन्हित की गई भूमि में वन विभाग की 1 हजार 575 एकड़ जमीन और 425 एकड़ भूमि व्यक्तिगत जमीन शामिल है। सुगंधित फसलों की कृषि के तहत 200 परिवार प्रत्यक्ष रूप से और 750 परिवार परोक्ष रूप से लाभांवित होंगे। परियोजना में पहले ही वर्ष में 20 करोड़ रुपए की आय अनुमानित है और बाद के वर्षों में इसमें निरंतर बढ़ोत्तरी भी होती जाएगी। इसके अलावा इन सुगंधित फसलों के बीच काजू, नारियल, लीची, कस्टर्ड सेब इंटरक्राप पेटर्न में उगाया जाएगा। सुगंधित फसलों के प्रसंस्करण से एसेंशियन आॅयल तैयार करने के लिए प्रसंस्करण यूनिट कोंडागांव में लगाई जाएगी। इसके लिए रविवार को कार्यक्रम के दौरान ही सन फ्लेक एग्रो प्रायवेट लिमिटेड और कोंडागांव जिला प्रशासन के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। 

इस प्रसंस्करण प्लांट की क्षमता 5 हजार मीट्रिक टन होगी। इसमें 250 लोगों को रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री ने इस परियोजना के शुभारंभ के दौरान जिलेवासियों को बधाई देते हुए कहा कि इस परियोजना में गांवों के अधिक से अधिक लोगों को जोड़ा जाए। इससे जिले को एक नई पहचान मिलेगी। लोगों के लिए आय का नया जरिया बनेगा। मुख्यमंत्री ने इस दौरान एरोमेटिक पौधों के रोपण से जुड़े युवाओं से चर्चा की।  
मुख्यमंत्री निवास में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री कोंडागांव जिले के प्रभारी मंत्री गुरु रूद्रकुमार, राजस्व मंत्री और दंतेवाड़ा जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उद्योग मंत्री कवासी लखमा,स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम उपस्थित थे। कार्यक्रम से सांसद  दीपक बैज, विधायक मोहन मरकाम, देवती कर्मा,संत कुमार नेताम और चंदन कश्यप वर्चुअल रूप से जुड़े।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.