GLIBS

स्वास्थ्य विभाग की अपील, सर्वेक्षण दल को दें सही जानकारी

योगिता चौधरी  | 21 Nov , 2020 01:21 PM
स्वास्थ्य विभाग की अपील, सर्वेक्षण दल को दें सही जानकारी

रायपुर। कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढ़ते नजर आ रहे हैं। इस बार सतर्क रहना बहुत जरूरी है। चिकित्सक, विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनीसेफ सभी बार-बार आगाह कर रहे हैं कि संक्रमण से बचने के लिए अभी सार्वजनिक स्थलों में मास्क पहनना, दूसरों से दो गज की सुरक्षित दूरी रखना, भीड़ से बचना और हाथों की साबुन पानी से सफाई करना जरूरी है। प्रदेश में प्रति सप्ताह डेथ आडिट का रिव्यू किया जााता है, जिसमें अधिकांश केस में मरीज का देर से अस्पताल पहुंचना प्रमुख कारण है। महासमुंद जिले की 47 वर्ष की महिला को 25 अक्टूबर से लक्षण दिखाई दे रहे थे। सर्वे टीम को भी उन्होंने नहीं बताया कि उन्हें लक्षण लग रहे हैं। ज्यादा तबीयत खराब लगने पर 10 नवंबर को मतलब 15 दिनों के बाद टेस्ट कराया। महिला को अन्य बीमारियां जैसे हृदय की तकलीफ, अल्सर आदि था। 10 नवंबर को टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव आने पर उसी दिन अस्पताल में भर्ती कराए लेकिन इलाज शुरू होने के पहले ही उनकी मृत्यु हो गई। उनकी और उनके परिजनों की लापरवाही से यह मृत्यु हुई। यदि सर्वेक्षण दल को भी समय पर बताया होता तो पहले ही उपचार मिल जाता और जान बच जाती। स्वास्थ्य विभाग इसीलिए बार-बार अपील कर रहा है कि सर्वेक्षण दल से अपने लक्षण न छुपाएं। समय पर जांच और उपचार से कोरोना ठीक हो सकता है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.