GLIBS

अनावश्यक कारणों से चेन पुलिंग करने पर रेलवे अधिनियम की धारा 141 के तहत होगी कार्रवाई

रविशंकर शर्मा  | 27 Jan , 2020 10:19 PM
अनावश्यक कारणों से चेन पुलिंग करने पर रेलवे अधिनियम की धारा 141 के तहत होगी कार्रवाई

रायपुर। यात्रियों को ट्रेनों में किसी भी आपातकालीन या गंभीर स्थिति में ट्रेन को नियंत्रित करने के लिए अलार्म चेन लगाई गई है। परंतु प्राय: देखने में आता है कि कुछ यात्री इसका दुरुपयोग करते हैं अनावश्यक क्षेत्रों में एवं जिन स्टेशनों पर ठहराव नहीं दिया गया है वहां गाड़ी रोकने के लिए चेन पुलिंग करते हैं। तेज गति से चल रही ट्रेनों में चेन पुलिंग के कारण हादसा भी हो सकता है। अनावश्यक ट्रेन के ठहराव के कारण लोकोमोटिव में फ्यूल की खपत भी बढ़ जाती है। इससे फ्यूल की बर्बादी होती है ट्रेन में एक चेन पुलिंग के कारण हजारों सह यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है एवं अपने आवश्यक कार्यों से अपने गंतव्य स्थल तक पहुंचने में विलंब होता है। बेवजह चेन पुलिंग मामलों में रेलवे एक्ट की धारा 141 के तहत 1000 रुपये जुर्माना या एक साल की कैद अथवा दोनों का प्रावधान है। रेलवे मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया जाता हैं।

रायपुर रेल मंडल ने चेन पुलिंग के अंतर्गत वर्ष 2018 में लगभग 883 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर 3,04,005 रुपये जुर्माना वसूला है। इसी प्रकार विगत वर्ष 2019 के दौरान 837 मामलों से 2,56,565 रुपये रुपये जुर्माना वसूला है। इस वर्ष जनवरी-2020 में अब तक 44 मामले आये है यह अधिकांश रेलवे स्टेशन रायपुर, दुर्ग, भिलाई, भिलाई नगर, भिलाई पावर हाउस में दर्ज किये गये है । चेन पुलिंग घटनाओं की रोकथाम के लिए वाणिज्य विभाग एवं रेलवे सुरक्षा बल के समन्वय से विशेष अभियान चलाया जाता है।

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.