GLIBS

डूबान क्षेत्र के गांवों को जोड़ने बनेगी कार्ययोजना : कलेक्टर

वैभव चौधरी  | 22 Feb , 2020 09:41 PM
डूबान क्षेत्र के गांवों को जोड़ने बनेगी कार्ययोजना : कलेक्टर

धमतरी। प्रदेश की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना के तहत नरवा,गरवा,घुरवा और बाड़ी को अंतिम छोर के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के उद्देश्य से कलेक्टर रजत बंसल ने गंगरेल डुबान क्षेत्र की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत अरौद डू (विकासखंड धमतरी) का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने अरौद क्षेत्र में बारहमासी पानी की व्यवस्था के लिए बारिश के पानी को कलकसा नाले से जोड़कर उसका पुनरुद्धार के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर ने डूबान क्षेत्र में अधोसंरचना, सड़क संपर्क, पेयजल, पर्यटन एवं शिक्षा जैसी मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तथा वन विभाग की संयुक्त टीम गठित करने के निर्देश दिए तथा ग्रामीणों की बहुप्रतीक्षित जरूरतों को पूरा करने के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने गंगरेल डूबान क्षेत्र के ग्राम पंचायत अरौद के आश्रित ग्राम सिलतरा पहुंचे। ग्रामीणों ने बताया कि यहां पर पेयजल की काफी समस्या है। उन्होंने बताया कि यहां बहने वाले कलकसा नाले का निर्माण 2008 में किया गया था किंतु यह वर्तमान में काफी जर्जर अवस्था में है, पिचिंग के बोल्डर उखड़ चुके हैं और पार की मिट्टी लगातार धसक रही है। ग्रामीणों ने बताया कि इसके पुनर्निर्माण से क्षेत्र के 3-4 गांव में पेयजल एवं सिंचाई की व्यवस्था सुनिश्चित हो सकेगी, साथ ही वन्य प्राणियों के लिए भी पेयजल मुहैया हो सकेगा। इस पर कलेक्टर ने उक्त स्थानीय नाले को बारहमासी पानी के स्रोत के तौर पर विकसित करने के लिए इसके मरम्मत कार्य के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश एसडीओ ग्रामीण यांत्रिकी सेवा को दिए।  

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.