GLIBS

दिल्ली मेट्रो के 20 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए, किसी में नहीं दिखे लक्षण

ग्लिब्स टीम  | 05 Jun , 2020 12:57 PM
दिल्ली मेट्रो के 20 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए, किसी में नहीं दिखे लक्षण

नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना वायरस लगातार अपने पैर पसार रहा है। यहां धड़ल्ले से लोग संक्रमित हो रहे हैं। जहां एक तरफ जहां दिल्‍ली में मेट्रो को चलाने की तैयारियां हो रही हैं। वहीं दूसरी तरफ एक बुरी खबर आई है। दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के लगभग 20 स्‍टाफ कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। इन सभी में कोरोना से होने वाली बीमारी के कोई लक्षण नहीं पाए गए हैं। डीएमआरसी के अधिकारी ने यह जानकारी दी। दिल्‍ली में पिछले कुछ दिन से कोरोना वायरस के मामले बढ़े हैं। पिछले तीन दिन में 5 हजार से ज्‍यादा मामले सामने आए हैं। शुक्रवार सुबह तक दिल्‍ली में 25 हजार से ज्‍यादा कन्‍फर्म केस सामने आ चुके थे। इनमें से 14,456 केसेज अभी भी ऐक्टिव हैं। मेडिकल स्टाफ से लेकर पुलिसकर्मी तक सभी इस वायरस की चपेट में आ रहे हैं। वहीं अभी जो मेट्रो चलना शुरू भी नहीं हुई है उसके करीब 20 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। बता दें कि पहले लॉक डाउन यानी 24 मार्च से ही मेट्रो का संचालन पूरी तरह बंद है।

जल्‍द चलाई जा सकती है मेट्रो :
डीएमआरसी ने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा था कि जल्‍द सेवाएं शुरू हो सकती है। दिल्‍ली मेट्रो ने लिखा था, 'एनसीआर में रहने वाले दिल्ली मेट्रो के कुछ कर्मचारी दुर्भाग्यवश कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए। वे सभी पूरी तरह से सुरक्षित हैं और तेजी से ठीक हो रहे हैं। हालांकि इस संकट की घड़ी में भी दिल्ली मेट्रो का मनोबल ऊंचा है।' डीएमआरसी के एमडी मंगू सिंह ने अपने सभी कर्मचारियों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को भी कहा है।

दिल्‍ली में बढ़ता ही जा रहा कोरोना :
दिल्‍ली में पिछले तीन दिन के भीतर कोरोना के 5 हजार से ज्‍यादा मरीज सामने आए हैं। राज्य में 28 मई से 3 जून तक हर रोज तकरीबन 1,198 नए केस सामने आए हैं। कोरोना मामले की लिस्‍ट में दिल्‍ली अब देश में तीसरे नंबर पर है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार सुबह को जारी आंकड़ों के मुताबिक दिल्‍ली में 25,004 केस हैं। यहां अबतक 9,898 लोग ठीक हो चुके हैं। कोविड-19 ने दिल्ली में अबतक 650 लोगों की जान ली है।

लॉक डाउन में छूट से दिल्‍ली में बढ़े केस :
दिल्‍ली में कोरोना के 5,000 केस होने में 64 दिन लगे। इसके बाद कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली। लॉक डाउन-4 में छूट मिलने के बाद दिल्ली में कोरोना के नए मामलों में 2.35 गुना बढ़ोतरी देखने को मिली है। दिल्ली सरकार नए केसों में बढ़ोतरी की वजह ज्यादा टेस्टिंग को बता रही है। जबकि 31 मई को खत्म हुए सप्ताह में औसत पॉजिटिविटी रेट 14.7% था जबकि इसके पहले के सप्ताह में यह महज 10.8 फीसदी ही था।

बिना लक्षण वाले संक्रमित घर पर हो सकते हैं ठीक : 
बता दें कि जिन लोगों में भी कोरोना संक्रमण के लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं और उनकी स्थिति सामान्य है उन्हें दिल्ली सरकार ने होम क्वारंटाइन होने के लिए कहा है। सरकार का कहना है कि जिन लोगों में कोरोना के लक्षण नहीं है या जिनको केवल हल्का बुखार है वो अपने घर पर रहकर भी ठीक हो सकते हैं। उनको सरकार की ओर से फोन पर डॉक्टरी सलाह दी जाएगी। इसके लिए सरकार ने डॉक्टरों का एक पैनल भी बनाया हुआ है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.