GLIBS

वजन कम करना हो या पेट और पीठ की मांसपेशियां मजबूत करना हो या रीढ़ को लचीला बनाना हो कीजिए शलभासन

यामिनी दुबे  | 12 Jan , 2021 09:37 AM
वजन कम करना हो या पेट और पीठ की मांसपेशियां मजबूत करना हो या रीढ़ को लचीला बनाना हो कीजिए शलभासन

रायपुर। शलभासन करने से शरीर को कई तरह से शारीरिक और मानसिक लाभ मिल सकते हैं। वजन कम करने में यह आसन लाभकारी हो सकता है। इस आसन के अभ्यास से पेट की चर्बी कम हो सकती है। यह आसन पीठ और पेट की मांसपेशियों को मजबूती प्रदान कर सकता है। साथ ही यह रीढ़ को लचीला बनाने में भी सहयोग कर सकता है। तनाव कम करने में भी शलभासन योग के फायदे उठाए जा सकते हैं। योग का अभ्यास रक्त के प्रवाह को बढ़ा सकता है, जिससे शरीर की कोशिकाओं तक ऑक्सीजन पहुंचने की प्रक्रिया तेज हो सकती है।

शलभासन योग करने का तरीका -
किसी भी योगासन को करने का फायदा तभी है, जब उसे करने की पूरी और सही विधि पता हो। शलभासन करने का तरीका नीचे पॉइंट में समझाया जा रहा है, इसे ध्यानपूर्वक पढ़ें।  
-सबसे पहले स्वच्छ वातावरण में एक योग मैट बिछा लें।
-अब पेट के बल पर लेट जाएं।
-फिर हाथों को पीछे की ओर ले जाएं और हथेलियों को जांघों के नीचे दबा लें।
-इसके बाद अपनी एड़ियों को आपस में जोड़ लें।
-अब धीरे-धीरे सांस लेते हुए एक पैर को ऊपर उठाएं। इसे एकपाद शलभासन कहा जाता है।
-इस अवस्था में यथासंभव रहने का प्रयोग करें और सामान्य रूप से सांस लेने-छोड़ने की प्रक्रिया जारी रखें।
-फिर पैर को नीचे लाकर यही प्रक्रिया दूसरे पैर से करें।
-इसके बाद दोनों पैरों को जितना हो सके ऊपर उठाएं।
-दोनों पैरों को अगर उठाया जाता है, तो ये द्विपाद आसन कहलाता है।
-इस तरह आप शलभासन का एक चक्र पूरा कर लेंगे।
-इस आसन को एक बार में तीन से चार बार तक किया जा सकता है।
-ध्यान रहे, हर चक्र के बाद एक मिनट का विराम जरूर लें।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.