GLIBS

मानसून में चिपचिपे बालों से है परेशान, तो इस तरह रखे ध्यान  

यामिनी दुबे  | 18 Jul , 2020 02:43 PM
मानसून में चिपचिपे बालों से है परेशान, तो इस तरह रखे ध्यान  

रायपुर। मानसून के मौसम में बाल चिपचिपे या तैलीय हो जाते हैं। मौसम के बदलने से बालों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता हैं। बालों के चिपचिपेपन या तैलीय हो जाने से कही बहार जाने में बहुत परशानी होती है। मानसून में बाल जल्दी गंदे और तैलीय हो जाते हैं। अगर मानसून में आप बालों का ध्यान रखना चाहते हैं। तैलीय बालों की देखभाल के कुछ टिप्स जिन्हें अपनाकर आप बालों के चिपचिपेपन से राहत पा सकते हैं। 

बारिश में न भीगे : 

बरसात का पानी बालों के लिए बहुत ख़राब होता है। अगर आप गलती से भीग भी गए तो घर आते ही तुरंत अपने बालों को शैम्पू करें।

तैलीय बालों को नियमित रूप से धोये :

अपने सिर के बाल नियमित रूप से धोइए। बालों को धोने के लिए अच्छे शैम्पू का प्रयोग करें। 

तैलीय बालों को सप्ताह में तीन बार बालों को धोएं :

ऑयली हेयर को सप्ताह में कम से कम तीन बार अवश्य धोना चाहिए जिससे बाल साफ रहते हैं और तैलीय कम होती है। 

तैलीय बालों को बांध कर न रखे :

अपने बालों को कभी कभी खुला भी रखिये। हमेशा बांधने से आयल एक जगह इकठा हो जाता है, जिससे बाल तैलीय लगते हैं।

कंघी की सफाई हमेशा करें :

बालों की साफ-सफाई का ध्यान रखते तो आप रखते ही है, पर कंघी को साफ करना भूल जाते हैं जो कि सबसे जरुरी बात है। हर हफ्ते बालों में इस्तेमाल करने वाली कंघी को साफ करना जरुरी है। रोज इस्तेमाल करने वाली कंघी को कुछ देर धूप में रखें और अगर लकड़ी की कंघी का इस्तेमाल करें तो वो बहुत अच्छी बात है।

तैलीय बालों के लिए विटामिन सी और मिनरल्स जरुरी होती है :  

विटामिन सी और मिनरल्स से भरपूर होने के कारण, नींबू का रस सिर की त्वचा में अतिरिक्त चिपचिपेपन को सोखता है। यह ज़्यादा तेल के उत्पादन को रोकता है। इसीलिए, ऑयली हेयर वालों को नींबू का रस बालों में लगाना चाहिए। सादे पानी में नींबू का रस मिक्स करें। इसे,  सिर की त्वचा पर 5-10 मिनट के लिए लगाकर रखें। फिर, हल्के गुनेगुने पानी से बालों को शैम्पू करें।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.