GLIBS

त्रिदोष में लाभकारी है आंवला, आयुर्वेद में है आंवले का औषधीय महत्व

राहुल चौबे  | 29 Nov , 2020 10:57 AM
त्रिदोष में लाभकारी है आंवला, आयुर्वेद में है आंवले का औषधीय महत्व

रायपुर/बैकुंठपुर। आंवला सेहत के लिए फायदेमंद फल है। इसमें हमारी सेहत के लिए जरूरी सभी गुणकारी मिनरल और विटामिन मौजूद होते हैं। इसके पोषक तत्व कई तरह की बीमारियों से हमारा बचाव करते हैं। आंवले को डाइट में कई तरीके से शामिल किया जा सकता है। इसका जूस मुरब्बा आचार कच्चा खाने पर शरीर को फायदा होता है। आयुर्वेद में भी आंवले को लाभकारी बताया गया है यह जानकारी देते हुए आर्युवेद चिकित्साधिकारी डां जगतनारायण मिश्रा ने बताया,” त्रिदोष यानी वात, कफ और पित को खत्म करने की क्षमता आंवले में होती है। अस्थमा से राहत पाने और इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आंवले में पाया जाने वाला विटामिन सी कारगर साबित होता है जो यूटीआई और मेटाबॉलिज्म बढ़ाने का काम करता है। आंवला कोल्ड कफ के अलावा शरीर में वायरल और बैक्टीरियल इंफेक्शन नहीं होने देता आंवले में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो कैंसर सेल्स से लड़ने का काम भी करते हैं ।“

रोगों से निजात दिलाएगा गुणकारी आंवला : आंवला का जूस शरीर की सभी प्रक्रियाओं को संतुलित करता है। अस्थमा में फायदेमंद आंवला सांस की बीमारियों जैसे अस्थमा को सही रखने साथ साथ डायबिटीज को भी कंट्रोल करता है। आंवले से पाचन तंत्र भी बिल्कुल सही रहता है। इसमें मौजूद विटामिन सी को इम्यूनिटी और रेसिपरेटरी ट्रैक्ट दोनों के लिए अच्छा माना जाता है। नियमित रूप से आंवले का जूस पीने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और शरीर  सेहतमंद रहता है। इसमें पाया जाने वाला एमिनो एसिड और एंटीऑक्सीडेंट की वजह से दिल सुचारू रूप से काम करता है। आंवला में लीवर को सुरक्षित रखने के सारे तत्व पाए जाते हैं। यह शरीर के सारे विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। आंवले का रस खासी और मुंह के छालों के लिए बहुत फायदेमंद है। आंवले को एक कारगर घरेलू उपाय की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है दो चम्मच आंवला जूस में दो चम्मच शहद मिलाकर रोज पीने से सर्दी और खांसी में काफी मदद मिलती है। मुंह के छालों से छुटकारा पाने के लिए जो चम्मच आंवले के जूस को पानी में मिलाकर उससे गरारे कर सकते हैं। घरेलु उपचार के साथ ही विशेषज्ञ चिकित्सक की राय भी अति आवश्यक इसलिए अपने चिकित्सक की राय अवश्य लें।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.