GLIBS

क्राई के येलो फेलो अभियान को मुंबई में मिली शानदार प्रतिक्रिया

राहुल चौबे  | 11 Nov , 2019 06:17 PM
क्राई के येलो फेलो अभियान को मुंबई में मिली शानदार प्रतिक्रिया

मुंबई। बाल अधिकारों के लिए काम करने वाले अग्रणी भारतीय गैर लाभकारी संगठन, क्राई चाइल्ड राइट्स एंड यू ने जीवन के सभी क्षेत्रों से लोगों को आज कार्टर रोड पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने और येलो फेलो बनकर खुशनुमा बचपन का जश्न मनाने के लिए आमंत्रित किया।
मुंबई का कार्टर रोड एमपी थिएटर लोगों से भरा नजर आया जिन्होंने अनूठे तरीकों से पीले मोजे पहनकर अभियान के लिए प्रतिबद्धता का प्रदर्शन किया और अपनी तस्वीरों को  हैश टैग येलो फेलो का इस्तेमाल कर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। इसके अलावा झुग्गियों के बच्चों धरावी रॉक्स के परफॉर्मेंस ने दर्शकों को मंत्र मुग्ध कर दिया। जिन्होंने रीसायकल किए गए जंग से म्यूजिकल इंस्ट्रमेंट बनाकर अपना यह अनूठा परफॉर्मेंस दिया। साथ ही जुबा इंस्ट्रक्टर भक्ति सोनावाने और टू द कल्चर द्वारा निर्मित स्ट्रीट कल्चर एवं हिप—हाप के एक ग्रुप ने परफॉर्मेंस के साथ शाम को और भी रंगीन बना दिया।


धरावी रॉक्स की बचपन की धुन के कवर वर्जन पर परफॉर्मेंस दिया इसे प्रतिभाशाली गली ब्वॉय अंकुर तिवारी ने कंपोज किया है और उनके साथ बेनी दयाल श्यामली खोल घड़ी ने मिलकर इसे गाया है। येलो फेलो राय का पुरस्कार विजेता अभियान है। बच्चों के खुशहाल बचपन के अधिकार के बारे में जागरूकता बढ़ाना इस अभियान का उद्देश्य है। 2018 में लांच किया गया यह अभियान इस साल के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। क्योंकि  क्राई खुशहाल बचपन को सुनिश्चित करने की अपनी यात्रा में 40 सालों का जश्न मना रहा है। अभियान के साझेदारों में शामिल हैं मेट्रो शूज इसका मर्चेंडाइजिंग पाटनर है। स्कूप व्हूप इसक कंटेंट पार्टनर है। इसके अलावा विराट कोहली सहित कई सेलिब्रिटी भारत के बच्चों के लिए इस अभियान को अपना समर्थन दे रहे हैं।  क्रिएन रबादी, रीजनल डायरेक्टर ने कहा कि क्राई पिछले 40 सालों से बाल अधिकारों के पक्ष में काम कर रहा है और आने वाले समय में भी अपने इन प्रयासों को जारी रखेगा। पिछले साल शुरुआत के जाने के बाद येलो फेलो अभियान को शानदार प्रतिक्रिया मिली है। हमें उम्मीद है कि इस साल भी लोग क्राई के सहयोग से बच्चों के जीवन को बेहतर बनाने में अपना योगदान देंगे।
 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.