GLIBS

बुलंदशहर तीन बच्चों के कातिल के बारे में चौंकाने वाला खुलासा 

किशन लाल  | 26 May , 2019 04:17 PM
बुलंदशहर तीन बच्चों के कातिल के बारे में चौंकाने वाला खुलासा 

 

बुलंदशहर। बुलंदशहर के मोहल्ला फैसलाबाद के एक परिवार के तीन बच्चों के अपहरण के बाद गोली मारकर हत्या करने वाले दरिंदे के बारे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। तीनों के शव सलेमपुर थाना क्षेत्र के धतूरी गांव के जंगल में एक ट्यूबवेल की हौदी में पड़े मिले। वारदात को अंजाम देने की असली वजह भी सामने आ गई है। ट्रिपल मर्डर के मुख्य आरोपी बिलाल ने ही सलमान को कमरा दिलाया था, जिसने हत्याकांड को अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि इफ्तार पार्टी में बिना बुलाए आने पर आरोपियों को भगा दिया गया था, इसी रंजिश में इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया। माहे आलम मूल रूप से जहांगीराबाद के गांव जलीलपुर के रहने वाले हैं। फिलहाल वह और उनका भाई जमशेद बुलंदशहर में ही रह रहे हैं। ममेरा भाई बिलाल भी फैसलाबाद में ही रहता है। जबकि आरोपी सलमान के पिता डा. अलीमुद्दीन करीब 15 साल पूर्व गांव से अपने परिवार सहित दिल्ली जाकर शिफ्ट हो गए थे।

जानकारी के अनुसार उन्होंने आरोपी सलमान को भी घर से बेदखल कर रखा है। सूत्रों ने बताया कि सलमान आपराधिक प्रवृत्ति का है। बीते दिनों उसने दिल्ली के सीलमपुर थाना क्षेत्र में भी फायरिंग की थी। हालांकि, इस बाबत अधिकारी अभी पुष्टि नहीं कर रहे हैं। इस घटना से करीब 10 दिन पूर्व ही सलमान दिल्ली से बुलंदशहर आया था। माहे आलम ने पुलिस को यह भी बताया कि करीब चार-पांच दिन पूर्व उन्होंने सलमान के पास एक पिस्टल भी देखी थी। फैसलाबाद निवासी माहे आलम ने पुलिस को बताया कि उसके भाई जमशेद ने शुक्रवार शाम घर पर ही रोजा-इफ्तार पार्टी दी थी।

इसमें रिश्तेदार व परिचित शामिल हुए थे। रात को उसकी बेटी अलीबा (7), जमशेद की पुत्री आसमा (7) और भांजा अब्दुल रहमान (8) घर के बाहर से खेलते हुए अचानक गायब हो गए। देर रात नगर कोतवाली पुलिस को सूचना दी गई थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। शनिवार सुबह तीनों मासूमों के शव धतूरी गांव के जंगल में ट्यूबवेल की हौदी में पड़े मिले। तीनों की गोली मारकर हत्या की गई थी। पीडि़त परिवार ने बिलाल पुत्र असलम उर्फ रहमत अली, सलमान पुत्र डॉ. अलीमुद्दीन निवासी गांव जलीलपुर, थाना जहांगीराबाद व इमरान उर्फ गूंगा पुत्र असगर निवासी गांव मिजार्पुर थाना सलेमपुर के खिलाफ  रिपोर्ट दर्ज कराई है। 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.