GLIBS

कोटा में हुए अंधेकत्ल की गुत्थी सुलझी, प्रेमी निकला हत्यारा

रोहित बन्छोर  | 11 Jul , 2019 05:45 PM
कोटा में हुए अंधेकत्ल की गुत्थी सुलझी, प्रेमी निकला हत्यारा

रायपुर। कोटा में हुए नर्स हत्याकांड की गुत्थी आखिरकार पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में सरस्वती नगर पुलिस ने आरोपी प्रेमी को गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि हत्या का कारण त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग है। मामले का खुलासा करते हुए सरस्वती नगर थाना प्रभारी जितेंद्र वर्मा ने बताया कि पकड़े गए आरोपी का नाम शिव कुमार केसरिया (22) निवासी ग्राम मनकी थाना देवरी जिला बालोद है। बताया जाता है कि मृतका रोमिन भुआर्य (22) ग्राम अलीवारा थाना देवरी जिला बालोद की रहने वाली थी। मृतका यहां पर सुयश

अस्पताल में नर्स थी और कोटा स्थित 

सिद्धार्थ चटर्जी के मकान में किराए से रहती थी। बताया जाता है कि आरोपी और मृतका के बीच पिछले 6-7 सालों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस दौरान आरोपी को जानकारी मिली कि मृतका रोमिन का किसी अन्य व्यक्ति से अफेयर चल रहा है।  आरोपी ने रोमिन को समझाया और उक्त व्यक्ति से बातचीत करने मना किया। जब युवती ने आरोपी की बात नहीं मानी तो आरोपी 5 जुलाई को रोमिन के घर आया और इसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया। फिर आवेश में आकर आरोपी शिव कुमार ने रोमिन की गला दबाकर हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी घर का दरवाजा बाहर से बन्द कर भाग निकला। 

इस तरह से पहुृंची पुलिस आरोपी तक

युवती की लाश मिलने के बाद पुलिस टीम परिजनों एवं आसपास के लोगों से पूछताछ करने के साथ ही तकनीकी विश्लेषण कर अज्ञात आरोपी को चिन्हांकित करने के प्रयास कर रही थी। इसी दौरान टीम को सूचना मिली कि मृतका का उसके गांव के पास लगे ग्राम मनकी थाना देवरी जिला बालोद निवासी शिव कुमार केसरिया के साथ प्रेम संबंध था एवं कुछ दिनों पूर्व उसे मृतका के साथ देखा गया था। टीम ने शिव कुमार केसरिया के मोबाइल से संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन मोबाइल फोन बंद होना पाया गया, जिससे पुलिस का शक शिव कुमार केसरिया पर और भी गहरा हो गया। टीम ने ग्राम मनकी जाकर शिव कुमार केसरिया को पकड़कर पूछताछ की परंतु शिव कुमार केसरिया द्वारा किसी भी प्रकार की अपराध में अपनी संलिप्तता नहीं होना बताते हुये लगातार अपना बयान बदलकर पुलिस टीम को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा था। कड़ाई से पूछताछ करने पर शिव कुमार केसरिया ज्यादा देर  टिक न सका और मृतका रोमिन भुआर्य की गला दबाकर हत्या करना स्वीकार कर लिया।