GLIBS

अंतरराज्यीय एटीएम ठग गिरोह का पर्दाफाश, एक आरोपी गिरफ्तार

विष्णु कसेरा  | 23 Jun , 2019 05:59 PM
अंतरराज्यीय एटीएम ठग गिरोह का पर्दाफाश, एक आरोपी गिरफ्तार

सूरजपुर। एटीएम कार्ड बदलकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले अंतरराज्यीय ठग गिरोह के एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार गत 27 मई को ग्राम ठाकुरपुर थाना जयनगर निवासी ललिता किण्डो के एटीएम कार्ड को बदलकर किसी अज्ञात व्यक्ति ने 1 लाख 44 हजार 5 सौ रुपए निकाल लिया था। इसी तरह 27 मई को ही एसबीआई एटीएम सूरजपुर से भैयाथान निवासी ओमप्रकाश द्विवेदी के एटीएम कार्ड को किसी अज्ञात व्यक्ति ने बदलकर 3 लाख 8 हजार रुपए आहरित कर लिया था। ललिता किण्डो की रिपोर्ट पर थाना जयनगर एवं ओमप्रकाश द्विवेदी की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर जीएस जायसवाल के निर्देशन व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर एवं एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर व जयनगर की संयुक्त पुलिस टीम ने जांच शुरू की तो पता चला कि दोनों प्रार्थियों के एटीएम कार्ड से एक ही व्यक्ति ने रुपए निकाला था। सीसीटीवी  कैमरे के फुटेज से पाया कि आरोपी ने अम्बिकापुर स्थित ज्वेलरी दुकान से क्रमश: 64 हजार 5 सौ रुपए की सोने की चेन, अंगूठी, कोरबा की ज्वेलरी दुकान से 73 हजार रुपए की सोने की चेन व चांपा की ज्वेलरी दुकान से 65 हजार रुपए की सोने की चेन व लाकेट की खरीदारी कर दोनों प्रार्थियों के एटीएम कार्ड स्वीप कर रकम का भुगतान किया। तीनों ज्वेलरी दुकान एवं एटीएम के सीसीटीवी फुटेज में एक ही व्यक्ति की फोटो कैद हुई जिसके आधार पर सूरजपुर पुलिस ने अंतरराज्यीय पुलिस ग्रुप में उस फोटो को शेयर किया। मुजफ्फरनगर उत्तरप्रदेश से उस फोटो के बारे में जानकारी दी गई कि ऐसा एक व्यक्ति है जिसका चेहरा भेजे गए फोटो से मेल खाता है। इस बात की सूचना तत्काल पुलिस अधीक्षक जीएस जायसवाल को दी गई।  उन्होंने  पुलिस टीम को मुजफ्फरनगर भेजा। पुलिस टीम ने मुजफ्फरनगर में हनुमान चौक कोतवाली थाना के पीछे रहने वाले 28 वर्षीय विकास कश्यप पिता नान्हू सिंह को कड़ी मशक्कत के बाद घेराबंदी कर हिरासत में लिया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर एटीएम कार्ड बदलकर धोखाधड़ी करता था। उसने यह भी बताया कि अपने साथियों के साथ जांजगीर-चाम्पा में 28 मई को एटीएम कार्ड बदलकर1 लाख रुपए की ठगी की थी। बैंक से प्राप्त स्टेटमेंट से पता चलता है कि एक खाते से दूसरे खाता में रकम ट्रान्सफर करके इनके द्वारा रकम आहरण किया जाता रहा है। इनके पास पंजाब, मध्यप्रदेश व अन्य प्रदेशों के भी एटीएम कार्ड मौजूद है ंजिनकी जानकारी खंगाली जा रही है। आरोपी के पास से दूसरे व्यक्तियों के 3 एटीएम कार्ड, 35 हजार रुपए नगद  01 सोने की अंगूठी, 01 मोबाईल, घटना में प्रयुक्त टाटा नेस्कान एक्सएम कार क्रमांक यूपी 01 बीएम 0567 जब्त किया है। आरोपी के 03 अन्य साथियों की पतासाजी की जा रही है। इस कार्रवाई में एसडीओपी मनोज ध्रुव के नेतृत्व में  थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, एसआई विनित पाण्डेय, नवल किशोर दुबे, एएसआई विराट विसी, प्रधान आरक्षक बिसुनदेव पैंकरा, हेमन्त सोनवानी, आरक्षक लक्ष्मी नारायण मिर व युवराज सिंह शामिल थेे।

 
ऐसे करते थे ठगी
मास्टर माइंड आरोपी एटीएम में प्रवेश कर एटीएम के सिस्टम को छेड़छाड करता था जिससे आधे घण्टे तक बैंकिंग सर्विस बाधित हो जाता था, केवल बैलेेंस दिखता था। जब कोई व्यक्ति एटीएम में पैसा आहरण करने के लिए घुसता था तो पहले से ही इनके 1-2 सदस्य एटीएम में मौजूद रहते थे। चूंकि एटीएम बैंकिंग बाधित होने की वजह से प्रार्थी 1-2 बार एटीएम लगाकर अपना पिन नंबर दबाता था तब इनके सदस्य एटीएम पिन नंबर देख लेते थे और हेल्प करने के बहाने एटीएम कार्ड को बदलकर दूसरा एटीएम उस व्यक्ति को दे देते थे। 

 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.