GLIBS

Video: साढ़े 26 लाख के 477 नग हीरे के साथ दो आरोपी पकड़े गए, ले जा रहे थे अन्य राज्यों में बेचने

Video: साढ़े 26 लाख के 477 नग हीरे के साथ दो आरोपी पकड़े गए, ले जा रहे थे अन्य राज्यों में बेचने

महासमुन्द। साढ़े 26 लाख के 477 नग हीरे के साथ महासमुन्द जिले की बागबाहरा पुलिस ने दो आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार किया है। दोनों ही आरोपी गरियाबंद जिले के बेरडीह, पायलीखंड क्षेत्रों से यह हीरा लाकर अन्य प्रदेशों में बेचने जा रहे थे। हीरा तस्करी मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। मामले का खुलासा करते हुए एसपी प्रफुल्ल ठाकुर, एएसपी मेघा टेम्भुरकर, बागबाहरा एसडीओपी लितेश सिंह और क्राइम प्रभारी संजय राजपूत ने किया। उन्होंने बताया कि आरोपी फकीर मेहेर जिला बलांगीर और दिव्यरंजन बेहरा खरियार रोड ओडिशा को मुखबिर की सूचना पर नाकेबंदी कर गिरफ्तार किया गया है।
पुलिस के अनुसार हीरा तस्करी की शिकायत एसपी को मुखबिर से मिली तो उन्होंने जिले के सभी थाना-चौकियों के अलावा साइबर सेल को मामले की तस्दीक के लिए आदेश दिए। तस्दीक जारी थी कि ओडिशा बार्डर क्षेत्र के ग्राम रेवाघाट स्थित दुर्गा मंदिर से होकर दो लोग मोटर साइकिल से गुजरे। पुलिस ने उन्हें रोका लेकिन वे नहीं रुके और तेज गति से वाहन चलाते निकल गए। पुलिस ने उनका पीछा किया और ओवरटेक कर रोका। वाहन की तलाशी ली गई तो वाहन में कुछ नहीं मिला लेकिन दोनों युवकों फकीर मेहेर (46) और दिव्यरंजन बेहरा (30) की जेब से पॉलीथीन में लपेटकर रखे गए 477 नग हीरे मिले। इसमें से एक हीरा आकार में सबसे बड़ा 2194 कैरेट वजनी है,जिसकी कीमत 5 लाख 50 हजार रुपए बताई गई है। बरामद हीरे में से तीन नग हीरा मंझोले साइज का है और बाकी सभी छोटे साइज के हैं।
पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों ने इन हीरो को गरियाबंद जिले के बेरडीह, पायलीखंड क्षेत्रों से लेकर आना और छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों में ले जाकर बेचना बताया है। पूछताछ में आरोपियों ने अपने एक और साथी का नाम बताया है,जिसे पुलिस ढूंढने की कोशिश में हैं।
आरोरियों का कहना है कि गरियाबंद क्षेत्र के हीरे की मांग मुम्बई के बाजार में बेहद है और इसे तराशने के बाद इसकी कीमत कई गुना बढ़ जाती है। आरोपियों से हीरा तस्करी के लिए प्रयुक्त  वाहन, दो मोबाइल और 1 हजार 700 रुपए नगदी भी बरामद किया है। आरोपियों के खिलाफ महासमुन्द के बागबाहरा थाने में जुर्म दर्ज कर उन्हें जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।
आरोपियों को पकडऩे में बागबाहरा थाना प्रभारी स्वराज त्रिपाठी, श्रवण कुमार दास, मिनेश ध्रुव, प्रकाश नंद, राजेश मिश्रा, संदीप भोई, हेमन्त नायक, रवि यादव, शुभम पांडेय, क्षत्रपाल सिन्हा, चम्पलेश ठाकुर, कामता आवड़े, विरेन्द्र नेताम, दिनेश साहू, एकलब्य बैस, शंकर सिंह, विरेन्द्र तिवारी का सहयोग रहा।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.