GLIBS

बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर गांजा तस्करी करने वाली अंतर्राज्यीय महिला तस्कर गिरफ्तार, 5 क्विंटल गांजा जब्त

 बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर गांजा तस्करी करने वाली अंतर्राज्यीय महिला तस्कर गिरफ्तार, 5 क्विंटल गांजा जब्त

महासमुन्द। सपनों की नगरी मुम्बई की अंतर्राज्यीय गांजा महिला तस्कर सहित दो अन्य आरोपियों को महासमुंद पुलिस ने 5 क्विंटल गांजा के साथ गिरफ्तार किया है। कोखामान थाना प्रभारी तिलेश्वर यादव ने पूरे जिले में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। 5 क्विंटल गांजा के साथ अंतरराज्यीय गिरोह के 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पूरे जिले में अब तक पुरूष और नाबालिग आरोपी गांजा तस्करी में पकड़े जा रहे थे, लेकिन इस कार्रवाई में महिला गांजा तस्कर सामने आई है। गिरफ्तार महिला ही इस तस्करी की मास्टर माइंड बताई जा रही है। गिरफ्तार तीनों आरोपी मुम्बई महाराष्ट्र की है। कोमाखान पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि कल मुखबीर से थाना प्रभारी को सूचना मिली कि एक महाराष्ट्र पासिंग की ट्रक में एक महिला समेत दो पुरूष उड़ीसा से गांजा भरकर ले जा रहे हैं। थाना प्रभारी ने मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को पहुंचा कर एक टीम बनाकर मुखबीर के बताये हुलिये के अनुसार वाहन का इंतजार टेमरी नाका खरियारोड़ बार्डर पर करने लगे।

इस दौरान महाराष्ट्र पासिंग की एक ट्रक एमएच 02 ईआर 7437 पहुंची। जिसे पुलिस ने रोककर वाहन में सवार दो व्यक्ति और एक महिला से पूछताछ की तो सुल्ताना माजिद शेख पिता बालू खान उम्र 32 वर्ष निवासी 101 आयशा सोसायटी अल्कापुरी रोड नालासोपारा इस्ट मुम्बर्ई, शोयब अहमद मलीक पिता तुफेल अहमद मलीक उम्र 35 वर्ष साकिन महबुब आलम चाल रूम नंबर 9 मुम्बई, अब्दुल रसीद अली पिता आशिक अली उम्र 56 वर्ष साकिन सांई सागर बिल्डींग न्यू मिल रोड ग्रेटर मुंबई सुबरबन थाना कुर्ला मुम्बई बताया। पुलिस ने उक्त वाहन की तलाशी ली तो पीछे ट्रक में प्लास्टिक के कुछ कार्टून के पीछे 5 क्विंटल गांजा बोरियों में छिपा कर रखा था। कोमाखान थाना प्रभारी तिलेश्वर यादव ने बताया कि उक्त मामले में महिला की दोनों युवकों को विशाखापट्नम घुमाने और गांजा की तस्करी करने के लेकर आई हुई थी। दोनों आरोपियों से एक आरोपी शेख अहमद महिला का प्रेमी है जिसे उनसे गांजे की इस तस्करी में लगा रखा था। गिरफ्तार आरोपियों से पुलिस ने 5 क्विंटल 25 किलो गांजा, दो मोबाईल और एक ट्रक जप्त कर तीनों आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 20 (ख) एनडीपीएस के एक्ट के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा जा रहा है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.