GLIBS

बाबा रितेश्वर महाराज से प्रभावित होकर तीन लड़कियों ने छोड़ा घर

हर्ष अग्रवाल  | 20 Sep , 2019 09:23 PM
बाबा रितेश्वर महाराज से प्रभावित होकर तीन लड़कियों ने छोड़ा घर

रायगढ़। रायगढ़ जिले के भूपदेवपुर थानाक्षेत्र में एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। कुछ समय पहले गांव में सत्संग के लिए आए रितेश्वर महाराज से प्रभावित होकर गांव की तीन लड़कियां अचानक अपना घर छोड़कर भगवान की भक्ति करने बाबाजी के आश्रम वृंदावन जाने घर से निकल पड़ी हैं। परिजनों ने भूपदेवपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई कि उनकी बेटियां घर से लापता हैं। डोंगाढकेल गांव के निवासी गजानन साहू ने बताया कि उनकी दो बालिग पुत्रियां व पड़ोस की ही एक अन्य लड़की एक साथ घर से कहीं गुम हो गई हैं। उन्हें आशंका है कि वह रितेश्वर महाराज के आश्रम में हैं। उन्होंने  बताया कि लगभग 1 साल पूर्व गांव में रितेश्वर महाराज का आना हुआ।  उनके प्रवचन सुनकर गांव के सभी लोग प्रभावित हो उनके साथ जुड़ गए। गांव की कई युवतियां भी महाराज की बातों से प्रभावित हुईं व उनके साथ आश्रम सहित अन्य समारोहों में शामिल होने बाबाजी के साथ घूमने भी गई। गांव की लगभग 6 लड़कियां आज भी वृंदावन आनंद धाम में स्वामीजी के आश्रम में सेवा दे रही हैं जिन्हें लेने के लिए कई बार परिवार वाले वृंदावन स्थित बाबाजी के आश्रम में जाते हैं परंतु लड़कियों को या तो छुपा दिया जाता है या उन्हें परिवार वालों के साथ आने नहीं दिया जाता है। कुछ लड़कियों को परिवार वाले जबरदस्ती ले भी आए परन्तु वे बाबाजी से इतनी प्रभावित हैं कि वापस अपने माता-पिता को छोड़कर बिना बताए रितेश्वर महाराज के आश्रम चली गई हैं। परिवार वालों ने रितेश्वर महाराज पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि महाराज बच्चियों का ब्रेनवाश कर उन्हें सम्मोहित करते हैं। उनके सम्मोहन में आकर युवतियां अपना घर-परिवार छोड़कर बाबा जी के आश्रम में भगवान की भक्ति के लिए पहुंच रही हैं। इस पूरे मामले में सबसे गंभीर बात यह है कि गांव से केवल लड़कियां ही बाबाजी के आश्रम में सेवा के लिए जाती हैं जबकि युवकों में बाबाजी के प्रवचन का ऐसा कोई असर नहीं होता कि वहां अपना परिवार छोड़कर उनकी भक्ति में लीन हो जाए। लड़कियों की गुमशुदगी की रिपोर्ट के बाद पुलिस प्रशासन मुस्तैदी के साथ जुटा और मथुरा रेलवे स्टेशन से तीनों लड़कियों को ढूंढ निकालने में कामयाब हो गया। लड़कियों के परिवार वाले पुलिस के साथ मथुरा अपनी बच्चियों को लेने रवाना हो चुके हैं। वहीं जब से लड़कियां मथुरा पुलिस  के पास पहुंची है वे लगातार अपने फेसबुक के माध्यम से बाबाजी की तारीफें कर रही हैं और अपने परिवार वालों पर ही गंभीर आरोप लगा रही हैं। लड़कियों ने फेसबुक में वीडियो जारी करके कहा है कि वह अपने परिवार वालों से तंग होकर भगवान की भक्ति करने के लिए घर से निकली है और इसमें किसी का कोई दबाव नहीं है। उन्होंने यह निर्णय अपने पूरे होशोहवास में लिया है। लड़कियां बार-बार इस बात को कहती हैं कि वहां अपने परिवार वालों से तंग हैं और बाबाजी के आश्रम में ईश्वर की भक्ति में लीन होकर अपना जीवन बिताना चाहती हैं। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने कहा है कि रितेश्वर महाराज समय-समय पर छत्तीसगढ़ के विभिन्न गांवों में भ्रमण कर वहां के लोगों को अपने साथ जोडऩे का कार्य करते रहे हैं। कुछ दिन पूर्व ही उनका रायगढ़ जिले में भी आना हुआ था। चांपा, शिवरीनारायण सहित अन्य जगहों पर बाबाजी ने छोटे-बड़े आश्रम बना रखे हैं जहां पर समय-समय पर वह आते हैं और वहां के लोगों को प्रवचन के माध्यम से भगवान की भक्ति की सीख देते रहे हैं परंतु इसका असर केवल जिले की लड़कियों पर ही हो रहा है।





 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.