GLIBS

पुलवामा आतंकी हमले में बड़ा खुलासा, बम बनाने के लिए ऑनलाइन मंगाया था केमिकल 

ग्लिब्स टीम  | 07 Mar , 2020 12:10 PM
पुलवामा आतंकी हमले में बड़ा खुलासा, बम बनाने के लिए ऑनलाइन मंगाया था केमिकल 

नई दिल्ली। 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। पुलवामा आतंकी हमले में एनआईए ने एक बड़ा खुलासा किया है। दरअसल पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने दो और व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक ने आईईडी बनाने के लिए रसायनों की ऑनलाइन खरीद की थी। बता दें कि पुलवामा आत्मघाती बम हमलावर ने विस्फोटकों से भरी एक कार सीआरपीएफ के काफिले में घुसाकर विस्फोट करा दिया था। 
एनआईए ने श्रीनगर के बाग-ए-मेहताब इलाके के वजीर-उल-इस्लाम (19) और पुलवामा के हकरीपुरा गांव के मोहम्मद अब्बास राठेर (32) को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही इस मामले में गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों की संख्या अब पांच हो गई है।

इससे पहले एक पिता-पुत्री और आत्मघाती बम हमलावर के करीबी को दो अन्य अभियानों में गिरफ्तार किया गया था। एक अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक पूछताछ में इस्लाम ने खुलासा किया कि जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तानी आतंकवादियों के निर्देश पर उसने आईईडी बनाने के लिए रसायन, बैटरियां और अन्य सामग्री खरीदने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग एकाउंट का इस्तेमाल किया। उन्होंने बताया कि पुलवामा हमले की साजिश के तहत इस्लाम ने ये चीजें ऑनलाइन मंगाकर उन्हें स्वयं जैश आतंकवादियों तक पहुंचाया। अधिकारी ने कहा कि राठेर भी जैश के लिए काम करता है। उसने खुलासा किया है कि जब जैश आतंकवादी एवं आईईडी विशेषज्ञ मोहम्मद उमर अप्रैल-मई, 2018 में कश्मीर पहुंचा तब उसने ही उसे अपने घर में ठहराया था। उन्होंने बताया कि राठेर ने पुलवामा हमले से पहले कई बार जैश के आतंकवादियों आत्मघाती बम हमलावर आदिल अहमद डार, समीर अहमद डार और पाकिस्तानी कामरान को भी अपने घर में ठहराया था। 
 

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.