GLIBS

NSUI : राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान के खिलाफ भिलाई की महिला कार्यकर्ता ने दिल्ली में दर्ज कराई रिपोर्ट

अर्चना शर्मा  | 12 Sep , 2018 09:49 AM
NSUI : राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान के खिलाफ भिलाई की महिला कार्यकर्ता ने दिल्ली में दर्ज कराई रिपोर्ट

भिलाई। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान के खिलाफ उन्हीं के संगठन की भिलाई की महिला कार्यकर्ता ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। जिसके बाद इस मामले में एनएसयूआई महिला कार्यकर्ता ने दिल्ली केपार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फैरोज खान के खिलाफ कंप्लेन दर्ज कराई है और मामले की जांच करने की मांग की है। यह मामला एनएसयूआई महिला कार्यकर्ता ने 10 सितंबर को की है। महिला कार्यकर्ता ने राहुल गांधी को लेटर लिखा था। जिसमें महिला ने फैरोज खान के खिलाफ मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

महिला कार्यकर्ता ने राहुल गांधी को लिखा था लेटर… 

– मैं आपके एनएसयूआई की वर्कर हूं, पिछली कमेटी की पीएनओबी थी।

– नेशनल प्रेसिडेंट फैरोज खान ने पॉलिटिकल पोस्ट दिलाने के लालच में शारीरिक यौन शोषण करने के लिए दबाव बनाते हैं।

– मैंने अपनी जर्नी खुद से बनाई है। मैं इसे कंटिन्यू इसलिए कर रही हूं क्योंकि राहुल गांधी की लीडरशिप को अपना आदर्श मानती हूं।

– नेशनल प्रेसिडेंट फैरोज ने सिर्फ मुझे ही समझौता के लिए मानसिक प्रताड़ना नहीं किया बल्कि मेरी छोटी बहन को भी कमरे में आने के लिए दबाव बनाया।

– सभी कन्वर्सेशन साथ में अटैच कर रही हूं। मेरी जैसी कई महिला कार्यकर्ता है जो इस चीज का सामना कर चुकी है, पर पब्लिक के सामने नाम खराब होने के डर से नहीं आई है।

– एनएसयूआई इंचार्ज रुचि गुप्ता कैंपेन रन कर रही है आईसीसी (इंटर्नल कंप्लेन कमेटी) बनाने के लिए लेकिन एनएसयूआई में कोई कमेटी नहीं है, जहां इस बारे में मैं डिस्कस कर सकूं।

– मैंने उनको (रुचि गुप्ता) रिक्वेस्ट किया है कि वो इसे गंभीरता से ले।

– मैं पार्टी में एक मिसाल पेश करना चाहती हूं, ऐसे लोगों के खिलाफ जो अपने पोस्ट का दुरुपयोग करते हैं, महिलाओं का शोषण करते हैं और पार्टी का नाम खराब करते हैं।

– मैं इस संबंध में पार्टी के सभी जिम्मेदार पदाधिकारियों से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन किसी ने भी इसका ध्यान नहीं दिया। इसीलिए आपको ये लेटर लिख रही हूं।”

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष के ऊपर उन्हीं के संगठन के भिालाई की महिला कार्यकर्ता ने यौन शोषण का आरोप लगाया है, जिसके बाद पूरे देश में एनएसयूआई के खिलाफ आक्रोश का माहौल है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.