GLIBS

Share Market: सेंसेक्स 61 तो निफ्टी ने 17 अंकों की बढ़त के साथ शुरू किया करोबार 

आर पी सिंह  | 01 Nov , 2018 12:15 PM
Share Market: सेंसेक्स 61 तो निफ्टी ने 17 अंकों की बढ़त के साथ शुरू किया करोबार 

नई दिल्ली। गुरुवार को भी भारतीय शेयर बाजार में सुधार देखने को मिला। इसका खास कारण अमेरिकी बाजारों की मजबूती को माना जा रहा है। हालांकि  कुछ ही वक्त बाद प्रमुख सूचकांकों ने अपनी बढ़त गंवा दी।  प्रमुख सूचकांक लाल और हरे निशान के बीच घूमते नजर आए।

बुधवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में इंटरनेट कंपनियों के शेयरों ने शानदार तेजी दिखाई। अमेरिकी बाजारों की तेजी ने भारत सहित एशियाई बाजारों में भी जान फूंकी।  सुबह 9.30 बजे, बीएसई सेंसेक्स 61 अंक या 0.18 फीसदी की तेजी के साथ 34,503 पर रिकॉर्ड किया गया।  वहीं, निफ्टी 50 इंडेक्स भी 17 अंक या 0.16 फीसदी की बढ़त के साथ 10,404 के स्तर पर रिकॉर्ड किया गया।  लेकिन, 10 बजे तक दोनों ही सूचकांक लाल निशान में आ चुके थे। 

अंतरराष्ट्रीय बाजारों का हाल:

बुधवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में जोरदार खरीदारी देखने को मिली।  डावो जोन्स ने 0.97 फीसदी की छलांग लगाई, जबकि एसएंडपी 500 इंडेक्स 1.09 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ।  नेस्डेक कंपोजिट ने 2.01 फीसदी की मजबूती के साथ सत्र का अंत किया।  बुधवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में जोरदार खरीदारी देखने को मिली।  डावो जोन्स ने 0.97 फीसदी की छलांग लगाई, जबकि एसएंडपी 500 इंडेक्स 1.09 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ।  नेस्डेक कंपोजिट ने 2.01 फीसदी की मजबूती के साथ सत्र का अंत किया। 

इन शेयर्स में दिखी तेजी:

सेंसेक्स पर लार्सन एंड टुब्रो के शेयर 5.60 फीसदी की तेजी के साथ 1,371 रुपये के हो गए।  यस बैंक के शेयर 1.97 फीसदी की बढ़त के साथ 191.75 रुपये के स्तर तक पहुंच गए। 

इन शेयर्स में दिखी गिरावट:

ओएनजीसी, अडानी पोर्ट्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर क्रमश: 1.18 फीसदी, 1.05 फीसदी और 1 फीसदी चढ़े।  एनटीपीसी के शेयर 1.60 फीसदी की कमजोरी के साथ 157.25 रुपये तक लुढ़के।  विप्रो के शेयर 1.48 फीसदी की सुस्ती के साथ 326.60 रुपये के हो गए।  टीसीएस, इंफोसिस और भारती एयरटेल क्रमश: 1.10 फीसदी, 1.06 फीसदी और 0.74 फीसदी तक टूटे। 

डॉलर के सामने मजबूत हुआ रुपया:

डॉलर के मुकाबले रुपये ने शुरुआती कारोबार में मजबूती दिखाई।  रुपया 6 पैसे की मजबूती के साथ 73.89 के स्तर पर पहुंच गया।  बैंक और निर्यातकों ने अमेरिकी करेंसी की बिक्री की है, जिससे डॉलर की कीमतों में नरमी देखने को मिली है।

77 वें पायदान पर पहुंचा भारत:

साथ ही भारत 'ईज आॅफ डूइंग बिजनेस' यानी कारोबार करने के माकूल मुल्कों की सूची में 23 स्थानों की छलांग लगाते हुए 77वें पायदान पर पहुंच गया है।  इससे पहले भारत 100वें पायदान पर था।  इस सूची को वर्ल्ड बैंक ने जारी किया है। 

अमेरिका ने भी बख्शा:

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अमेरिका ने भारत को प्रतिबंध से राहत देने का फैसला किया है।  भारत ने ईरान से अपने तेल आयात में करीब एक तिहाई कटौती की है।  साल 2018-19 में भारत 14-15 अरब टन आयात करेगा, जबकि साल 2017-18 में यह आंकड़ा 22 अरब टन था।  आज बजाज इलेक्ट्रिकल्स, एचडीएफसी, मैरिको, डीएलएफ, पराग मिल्क फूड्स, टाटा कम्युनिकेशंस, थॉमस कुक, ट्रेंट, जुआरी ग्लोबल, वीएसटी इंडस्ट्रीज, सोमाणी सेरामिक्स, एडलैब्स एंटरटेनमेंट और गोदरेज प्रॉपर्टीज जैसी कंपनियां अपने सितंबर तिमाही के नतीजों का ऐलान करेंगी।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.