GLIBS

तलाक के केस के दौरान पति की 556 करोड़ रुपये की लगी लॉटरी, कोर्ट ने कहा- आधी रकम पत्नी को देना होगा

तलाक के केस के दौरान पति की 556 करोड़ रुपये की लगी लॉटरी, कोर्ट ने कहा- आधी रकम पत्नी को देना होगा

वॉशिंगटन। अमेरिका के मिशिगन में रहने वाले रिचर्ड डिक जेलास्को की खुशी का उस वक्त ठिकाना नहीं रहा, जब उनकी 565 करोड़ रुपए (80 मिलियन डॉलर) की लॉटरी लगी। लेकिन अब कोर्ट ने आदेश दिया है कि इनाम का आधा हिस्सा उन्हें पत्नी को देना होगा। लॉटरी लगते वक्त दंपती के तलाक का केस चल रहा था। इस फैसले के खिलाफ रिचर्ड के वकील ने रिव्यू पिटीशन दायर की है। इसमें तर्क है कि लॉटरी लगना रिचर्ड की किस्मत है। इसमें पत्नी को हिस्सा देने पूरी तरह गलत है। वकील का कहना है कि अगर कोर्ट फैसला नहीं बदलती है तो वह सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे।

आर्बिट्रेटर के आदेश पर दोनों 2 साल अलग रहे

रिचर्ड की शादी 2004 में मैरी बेथ जेलास्को से हुई थी। दंपती के तीन बच्चे हैं। 2013 में जब रिचर्ड की लॉटरी लगी तब दोनों के बीच तलाक का केस चल रहा था। उस दौरान कोर्ट के आदेश पर दोनों दो साल के लिए अलग रह रहे थे। दोनों ने आर्बिट्रेटर जॉन मिल्स के फैसले से मानने की बात कही थी। रिचर्ड ने आर्बिट्रेटर के फैसले के खिलाफ कोर्ट आॅफ अपील्स में गुहार लगाई। उसका तर्क था कि अलगाव के इतने लंबे समय बाद पत्नी को इतनी बड़ी रकम देने का वह विरोध करता है, लेकिन कोर्ट ने कहा कि जॉन मिल्स ने जो फैसला दिया है वह बिलकुल ठीक है।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.