GLIBS

महिला बैंक कर्मी से पुलिसवाले ने की बदसलूकी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा त्वरित कार्रवाई करे पुलिस

ग्लिब्स टीम  | 24 Jun , 2020 01:45 PM
महिला बैंक कर्मी से पुलिसवाले ने की बदसलूकी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा त्वरित कार्रवाई करे पुलिस

नई दिल्ली। गुजरात के सूरत में महिला बैंक कर्मी के मारपीट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक महिला बैंक कर्मचारी के ऊपर बैंक परिसर में हमला के मामले में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पुलिस प्रमुख से त्वरित कार्रवाई करने को कहा। निर्मला सीतारमण ने जिले के कलेक्टर को मामले में तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। महिला पर हाथ उठाने वाला आरोपी सूरत सिटी पुलिस का सिपाही है। जानकारी के अनुसार, यह घटना मंगलवार को हुई। मंगलवार देर रात आरोपी के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जा चुकी है। बुधवार को वित्त मंत्री ने बताया कि उन्होंने कर्मचारियों की सुरक्षा और इस मामले में समय पर कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए पुलिस आयुक्त सहित संबंधित अधिकारियों से बात की है। पुलिस के अनुसार इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है और आगे की जांच चल रही है।

केनरा बैंक (तत्कालीन सिंडिकेट बैंक) में एक महिला बैंक कर्मचारी पर सोमवार शाम गुजरात के सूरत में उसकी सरोली शाखा में हमला किया गया। घटना के बाद, अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ ने मंगलवार को सीतारमण को एक पत्र लिखा, जिसमें बैंक कर्मचारियों को ऐसी स्थिति से बचाने की अपील की गई। बता दें महिला बैंककर्मी के साथ बैंक परिसर में मारपीट से जुड़ा सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि महिला पर हाथ उठाने वाला आरोपी सूरत सिटी पुलिस का सिपाही है। बुधवार को वित्त मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि मेरे कार्यालय ने पुलिस आयुक्त श्री ब्रह्म भट्ट (आईपीएस)से बात की। उन्होंने हमें आश्वासन दिया है कि वह स्वयं बैंक की साखा में जाएंगे और कर्मचारियों को उनकी सुरक्षा का आश्वासन देंगे। साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया कि आरोपी कांस्टेबल को तत्काल निलंबित कर दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक सूरत के कैनरा बैंक के सरोली ब्रांच में पासबुक प्रिंटिंग को लेकर पुलिसकर्मी का कथित तौर पर महिला बैंककर्मी से विवाद हो गया। इसके बाद पुलिसकर्मी काउंटर का दरवाजा खोलकर अंदर चला गया और महिलाकर्मी को पहले तो थप्पड़ मारा और फिर उसे गिरा दिया। मंगलवार को घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो गया और #ShameSuratPolice ट्रेंड करने लगा।

Author/Journalist owns and is responsible for views/news published and the publisher/printer is in no way liable for such content.