GLIBS
13-07-2019
नक्सलियों ने की टीआरएस नेता श्रीनिवास राव की हत्या, शव को फेंका सुकमा के जंगल में

जगदलपुर। तेलंगाना से तीन दिन पहले अपहरण किए गए टीआरएस नेता और पूर्व विधायक श्रीनिवास राव की नक्सलियों ने हत्या कर दी है। उनकी लाश छत्तीसगढ़-तेलंगाना बार्डर के निकट सुकमा जिले के किस्टाराम के एरमपाडू और पुट्टापाडू के बीच सड़क किनारे पड़ा मिला। शव के पास ही नक्सलियों ने पर्चे भी फेंके। इसमें कहा गया है कि टीआरएस नेता राव तेलंगाना इंटेलीजेंस के लिए काम करते थे और लोगों को भी मुखबिरी के काम में लगा रहे थे। साथ ही यह भी आरोप लगाया कि आदिवासियों की 70 एकड़ जमीन पर कब्जा भी कर लिया था। जमीन मांगने पर नक्सली मामलों में पुलिस के साथ मिलकर पीड़ितों को फंसा रहे थे। 

जानकारी के मुताबिक, तेलंगाना के भद्रादी कोठागुड़म जिले में उनके गृहग्राम कोथुर से सोमवार रात को नक्सलियों ने टीआरएस नेता श्रीनिवास राव का अपहरण कर लिया था। राव की पत्नी दुर्गा राव का कहना था कि एक दर्जन से ज्यादा लोग उनके पति को अगवा करने आए थे। इस दौरान पहले राव की पिटाई की गई, इसके बाद घसीटते हुए घर से बाहर ले गए। इसके बाद से लगातार उनकी रिहाई के लिए परिवार के सदस्य नक्सलियों से गुहार लगा रहे थे। वहीं तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की पुलिस उन्हें ढूंढने में लगी थी। शुक्रवार को उनकी लाश मिलने के बाद परिवार में शोक की लहर दौड़ गई। 

 नक्सलियों ने श्रीनिवास की हत्या के दो प्रमुख कारण भी बताए हैं।  उनकी लाश के पास फेंके गए पर्चें में कहा गया है कि श्रीनिवास तेलंगाना इंटेलिजेंस के लिए काम कर रहे थे। वे खुद तो नक्सलियों की मुखबिरी कर रहे थे साथ में ग्रामीणों को भी इस काम में लगा रखा था। इसके अलावा उनकी हत्या के पीछे की एक बड़ी वजह भी नक्सलियों ने बताई है। इसमें कहा गया है कि श्रीनिवास ने आदिवासियों की 70 एकड़ जमीन पर कब्जा कर लिया था। आदिवासी जब इसका विरोध करते या जमीन खाली करने कहते तो वह उन्हें पुलिस के साथ मिलकर झूठे नक्सली मामलों में फंसा देते थे। ऐसे में उसे सजा दी गई है। 

टीआरएस नेता की हत्या की जिम्मेदारी नक्सलियों की शबरी एरिया कमेटी की सेक्रेटरी शारदा ने ली है। माना जा रहा था कि अपहरण के बाद तेलंगाना से राव को छत्तीसगढ़ लाया गया था। तेलंगाना के नक्सलियों ने सुकमा इलाके में तैनात नक्सलियों की बटालियन नंबर एक की मदद लेकर श्रीनिवास को दक्षिण सुकमा बॉर्डर वाले इलाके में रखे जाने की आशंका थी। राव की आखिरी लोकेशन भी चंदा-कोट्टापदु के जंगलों में मिली थी, जो छत्तीसगढ़ के जंगलों से मिला हुआ है। इधर, भद्रादरी कोत्तागुडूम जिले के एसपी सुनील दत्त ने कहा कि श्रीनिवास किसानों और ग्रामीणों के लिए अच्छा काम कर रहे थे। उनके हत्यारों को छोड़ा नहीं जाएगा।

12-07-2019
सर्चिंग के दौरान पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में 5 लाख का ईनामी नक्सली ढेर

दंतेवाड़ा। डब्बा-कुन्ना के जंगलों में शुक्रवार सुबह डीआरजी के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। जिसमें जवानों ने एक 5 लाख के ईनामी नक्सली को मार गिराया है। वहीं कुछ माओवादियों के घायल होने की बात सामने आई है। दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब 10.30 बजे डीआरजी के जवान सर्चिंग में निकले थे। तभी डब्बा-कुन्ना के जंगल में पुलिस जवान और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में जवानों ने 5 लाख के ईनामी नक्सली मलंगीर एरिया कमेटी हुर्रा को मार गिराया है। पुलिस ने उसके पास से 303 बोर का रायफल बरामद किया है। वहीं घटनास्थल पर खून के धब्बे को देखकर और भी नक्सलियों के घायल होने की बात सामने आ रही है। मुठभेड़ के बाद पुलिस ने इलाके में सर्चिंग तेज कर दी है।

03-07-2019
2 लाख का इनामी नक्सली कमांडर गिरफ्तार

पखांजूर। जिला पुलिस बल और बीएसएफ जवानों की संयुक्त टीम ने 2 लाख के ईनामी नक्सली कमांडर को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। बता दें कि जिला पुलिस बल और बीएसएफ के जवान सर्चिंग पर निकले थे। तभी नक्सली कमांडर सदाराम नेताम उर्फ सूरज निवासी पिपली थाना बडग़ांव को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि सदाराम नेताम पर 2 लाख रुपए का ईनाम घोषित है। आरोपी सदाराम 2005 से नक्सली संगठन में सक्रिय है। सदाराम के खिलाफ दो थानों में 24 मामला दर्ज है। इसमें हत्या, लूटपाट, आगजनी और बलवा जैसे कई मामले है।

28-06-2019
नक्सली मुठभेड़ में दो जवान शहीद, एक घायल

बीजापुर। बीजापुर जिले में आज सुबह पुलिस और नक्सलियों के बीच हुयी मुठभेड़ में केन्द्रीय सुरक्षा बल के दो जवान शहीद हो गये, वहीं एक जवान घायल हो गया। मुठभेड़ के दौरान हुयी क्रास फायरिंग में एक बालिका की मौत तथा एक स्कूली छात्रा भी जख्मी हो गयी। पुलिस सूत्रों के अनुसार भैरमगढ़ थाने से जिला पुलिस बल और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल का संयुक्त बल गश्त के लिए रवाना हुआ था। ग्राम केशकुतुल सुकानाला के निकट घात लगाए नक्सलियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फौरन मोर्चा संभालते हुए गोलीबारी की। लगभग एक घंटे की मुठभेड़ बाद अंतत: नक्सली घने जंगल और पहाड़ी की आड़ लेकर भाग गये।

नक्सली गोलीबारी में सीआरपीएफ का एक जवान ओ पी मांझी मौके पर शहीद हो गया और दो जवान बुरी तरह जख्मी हो गए। अस्पताल में इलाज के दौरान एक और जवान महादेव पाटिल भी शहीद हो गया। मुठभेड़ के दौरान भैरमगढ़ बाजार की ओर आ रही वाहन में सवार एक नाबालिग बालिका जिब्बी तेलम को गोली लग गयी, जिससे उसकी मौत हो गयी। गोलीबारी में एक स्कूली छात्रा रिंकी हेमला जख्मी हुयी है, जिसका इलाज भैरमगढ़ अस्पताल में जारी है। घायल जवान को बेहतर उपचार के लिए एम्बुलेंस से जगदलपुर भेजा गया है।

27-06-2019
8 लाख के इनामी नक्सली मुईवा उर्फ गगन्ना गिरफ्तार

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती इलाकों में पुलिस को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है। पुलिस ने स्पेशल ऑपरेशन के तहत 8 लाख के इनामी खूंखार नक्सली लीडर मुईवा उर्फ गगन्ना को गिरफ्तार किया है। पुलिस मुख्यालय में नक्सल डीआईजी पी. सुंदरराज ने प्रेसवार्ता लेते हुए बताया कि नक्सल विरोधी अभियान के तहत मैनपुर-नुआपाड़ा में संयुक्त डिवीजन की कार्रवाई पर 8 लाख के इनामी खूंखार नक्सली लीडर मुईवा उर्फ गगन्ना को गिरफ्तार किया है। इससे पहले 8 लाख की इनामी सीतानदी एरिया कमेटी के सचिव नक्सली सीमा को एनकाऊंटर में मार गिराया था।

बताया जाता है कि गिरफ्तार नक्सली मुईवा उर्फ गगन्ना उर्फ डोकरा माओवादी डिवीजनल कमेटी का सदस्य है और ग्राम बसवापुर थाना मरपल्ली जिला गढ़चिरौली महाराष्ट्र का रहने वाला है। मुईवा के खिलाफ गरियाबंद और धमतरी के विभिन्न थानों में हत्या, लूट, आगजनी, मारपीट जैसे जघन्य अपराध दर्ज है। वह नक्सली संगठन में लगभग 30 साल से सक्रिय था। जिसमें 10  वर्षो से जिला गरियाबंद व धमतरी के गोबरा, छोटेगोबरा, बड़े गोबरा, चंदनबहरा, भैसामुड़ा, मटियाबहरा, चारगांव, कटीपारा, सहित अन्य क्षेत्र में आतंक का माहौल फैला रखा था।

इसके खिलाफ शासन ने 8 लाख रुपए का इनाम की घोषणा किया था। डीआईजी ने आगे बताया कि नक्सलियों के खिलाफ नक्सल विरोधी अभियान लगातार जारी रहेगा । बता दें कि नक्सलियों द्वारा लगातार घटनाओं को अंजाम देने के बाद आज दंतेवाड़ा से 60 पुलिस जवानों को जंगलो में ऑपरेशन मानसून के तहत रवाना किया है। इस ऑपरेशन में जवानों को बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

27-06-2019
नक्सलियों ने राशन लूटकर वाहनों में लगाई आग

सुकमा। मराईगुड़ा थाना क्षेत्र के लिंगमपल्ली के पास नक्सलियों ने उत्पात मचाते हुए राशन सामग्री लेकर जा रहे वाहनों को रोककर राशन लूट लिए और वाहनों को आग के हवाले कर दिया। घटना की पुष्टि एसपी शलभ सिन्हा ने की है। बता दें कि नक्सलियों द्वारा लूट और आगजनी की यह पहली घटना नहीं है। नक्सलियों द्वारा समय-समय पर इस तरह के घटनाओं के अंजाम देकर अपने मौजूदगी का एहसास दिलाते है।

26-06-2019
1 लाख के इनामी नक्सली सहित दो गिरफ्तार

दंतेवाड़ा। जिले के डीआरजी की टीम और बारसूर पुलिस की संयुक्त टीम ने सर्चिंग के दौरान दो नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। बताया जाता है कि गिरफ्तार नक्सली में एक पर 1 लाख रुपए का इनाम घोषित है। नक्सल विरोधी अभियान के तहत डीआरजी और बारसूर पुलिस  टीम ने ग्राम बोदली के पास घेराबंदी कर दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली में जनमिलिशिया कमांडर सकरू मंडावी और गांडा राम है। दोनों पर पर हत्या, आगजनी, शासकीय कार्य में बाधा सहित कई अपराध दर्ज हंै। वहीं सकरू मंडावी के खिलाफ 1 लाख रुपए इनाम की घोषणा भी है।

 

20-06-2019
सुरक्षाबल और नक्सली मुठभेड़ में इनामी एरिया कमांडर ढेर

रांची। सिमडेगा जिले के बानो थाना क्षेत्र के गिरदा में पुलिस और नक्सलियों में मुठभेड़ हुई। सीआरपीएफ सूत्रों के अनुसार मुठभेड़ में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया(पीएलएफआई) का एरिया कमांडर वगरइ चम्पीया मारा गया है। उस पर दो लाख का इनाम घोषित था। सर्च अभियान के दौरान घटनास्थल से एक एके-47 राइफल बरामद किया गया है।

सीआरपीएफ 94 बटालियन एवं राज्य पुलिस की संयुक्त टीम के साथ सिमडेगा जिला के बानो थाना क्षेत्र के उरमू गांव के पास के जंगल में नक्सलियों के साथ बुधवार को मुठभेड़ हुई थी। एएसपी निर्मल गोप ने बताया कि एसपी संजीव कुमार को नक्सलियों की मूवमेंट की सूचना मिली थी। सूचना के बाद इलाके में सर्च अभियान चलाया गया। इसी दौरान मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया और एक एके 47 बरामद किया गया है। सर्च अभियान अब भी जारी है।

19-06-2019
चार नक्सलियों ने दंतेवाड़ा एसपी के सामने किया समर्पण

 

जगदलपुर। दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिला में  4 नक्सलियों ने पुलिस के सामने समर्पण कर दिया है। इन नक्सलियों पर कई संगीन वारदातों में शामिल होने का आरोप है। जानकारी के अनुसार ये नक्सली अलग-अलग इलाकों में काफी लंबे समय से सक्रिय थे। इनमें ओडि़शा जिले के कालाहांडी इलाके के रायगढ़ा एरिया कमेटी सचिव ने दंतेवाड़ा एसपी के समक्ष आत्मसमर्पण किया है। पुलिस का दावा है कि  8 लाख के इनामी सेंट्रल सुरक्षा प्लाटून नम्बर 13 कमांडर वासदेव समेत 4 माओवादियों ने एसपी अभिषेक पल्लव के सामने सरेंडर किया है। पुलिस ने इन नक्सलियों का नाम गुड्डू उर्फ वासदेव, दिलीप पुनेम, लक्ष्मण अटामी और मुन्ना राम बताया है। कमांडर वासदेव बीजापुर और ओडि़शा में हुए 13 जवानों की शहादत जैसी कई संगीन घटनाओं में शामिल रहा है। 

19-06-2019
नक्सलियों ने की अपहरण कर समाजवादी पार्टी के नेता की हत्या

बीजापुर। नक्सलियों ने कायरना हरकत को अंजाम दिया है। नक्सलियों ने बीजापुर जिले में समाजवादी नेता का अपहरण कर हत्या कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों ने समाजवादी पार्टी के उपाध्यक्ष संतोष पूनम का मंगलवार को अपहरण किया और बुधवार सुबह उन्हें मौत के घाट उतार दिया। बीजापुर एसपी दिव्यांग पटेल ने वारदात की पुष्टि की है। बताया जा रहा है नक्सलियों ने इलमिडी थाना क्षेत्र के मरिमल्ला गांव के नजदीक वारदात को अंजाम दिया। हत्या क्यों की गई इसके कारण का खुलासा नहीं हो पाया है। पुसिल घटनास्थल में पहुंचकर जांच में जुटी ही है।

14-06-2019
मुठभेड़ में दो वर्दीधारी नक्सली ढेर

कांकेर। कांकेर जिला पुलिस ने आज सुबह नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में दो वदीर्धारी नक्सलियों को मार गिराया। दोनों के शव बरामद कर लिए गए हैं, जिनकी शिनाख्त की जा रही है। घटनास्थल से पुलिस ने बंदूकें जब्त की हैं। पुलिस ने कुछ और नक्सलियों के मारे जाने की भी संभावना जताई है। कांकेर पुलिस अधीक्षक केएल ध्रुव ने बताया कि कई नक्सलियों के जंगल में छिपे होने की सूचना पर ताड़ोकी थाने से आज सुबह डीआरजी की टीम नक्सल विरोधी अभियान के तहत गश्त पर रवाना की गयी थी। इसी दौरान मुरनार के

जंगलों में घात लगाए बैठे नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया। जवानों ने भी नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए फायरिंग की। जवानों को भारी पड़ते देख नक्सली जंगल में भाग खड़े हुए। मुठभेड़ के बाद घटना स्थल की तलाशी के दौरान जवानों ने दो नक्सलियों के शव बरामद किए हैं। साथ ही मौके से दो एसएलआर, एक थ्री नॉट थ्री और 315 बोर की एक बंदूक भी बरामद की गई है। उन्होंने बताया कि मौके से मिले हथियारों से ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि और भी नक्सली इस मुठभेड़ में मारे गए हैं, लेकिन नक्सली उन्हें अपने साथ ले जाने में कामयाब हो गए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804