GLIBS
16-07-2019
फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले क्लर्क को कलेक्टर ने किया निलंबित

रायगढ़। कलेक्टर यशवंत कुमार ने जिला कार्यालय रायगढ़ के सहायक ग्रेड-3 (परिवीक्षा) संदीप कुमार श्रृंगी को कई लोगों को नौकरी लगाने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपए की ठगी करने की शिकायत पर तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है।
उल्लेखनीय है कि पदम नारायण पटेल ग्राम व पोस्ट धनागर, जिला-रायगढ़ एवं अन्य 5 लोगों के द्वारा सहायक ग्रेड-3 संदीप कुमार श्रृंगी के द्वारा कई लोगों को नौकरी लगाने के पर फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपए का ठगी करने के लिए शिकायत प्रस्तुत किया गया था। शिकायत को कलेक्टर ने गंभीरता पूर्वक संज्ञान में लेते हुए छग सिविल सेवा आचरण नियम में निहित प्रावधानों के उल्लंघन होने के फलस्वरूप संदीप कुमार श्रृंगी को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है।
निलंबन अवधि में संदीप कुमार श्रृंगी का मुख्यालय तहसील कार्यालय रायगढ़ निर्धारित किया गया है तथा इस अवधि में उसे नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा।

08-07-2019
नेटवर्किंग के नाम पर व्यवसाय के जरिए ठगी करने वाली चिटफंड कंपनी का भंड़ाफोड़ 

भिलाई। नेटवर्किंग के नाम पर व्यवसाय के जरिए ठगी करने वाली एक तथाकथित चिटफंड कंपनी का भंड़ाफोड़ भिलाई-दुर्ग में हुआ है। इसमें पीड़ितों ने पुलिस की टीम के साथ मिलकर कंपनी के डायरेक्टर सहित अन्य अधिकारियों का पदार्पाश किया। शिकायतकर्ता डॉ. विकास शर्मा और विवेक पाठक ने दुर्ग-भिलाई पुलिस की संयुक्त टीम के सहयोग से कंपनी का पदार्पाश किया है। जो नेटवर्किंग के नाम पर लोगों को ठगने का काम कर रही थी। डॉ. विकास शर्मा ने बताया कि मलेशिया की कंपनी का बीते रोज दुर्ग के एक होटल में प्रजेंटेशन चल रहा था। कंपनी के डायरेक्टर एवं फारेन से लिंक सीईओ को पकड़ने की प्लानिंग कर ली गई थी। दुर्ग-भिलाई की संयुक्त पुलिस टीम के साथ मिलकर यह योजना बनाई गई। डॉ. शर्मा ने बताया कि पहली बार चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर को पकड़ने का अवसर मिला था। यह मलेशिया की कंपनी है जो 16 देशों में संचालित है। भारत में यह कंपनी साउथ इंडिया के (तमिलनाडू), नार्थ इंडिया सहित सेंट्रल इंडिया में संचालित हो रही है।

अब छत्तीसगढ़ में कंपनी के ब्रांच खोलने की तैयारी थी। इसके लिए कंपनी के डायरेक्टर बीस दिनों के लिए प्रदेश प्रवास पर थे। विवेक पाठक ने बताया कि उनसे आफिस खुलवाने के नाम पर तीन लाख रुपये की ठगी की गई है। मामले के प्रकाश में आने के बाद विवेक पाठक अपने मित्र विकास शर्मा के साथ मिलकर व दुर्ग-भिलाई की संयुक्त पुलिस टीम के सहयोग से आरोपियों को गिरफ्तार कराया गया। उक्त कंपनी के सीईओ मलेशिया के सेजवान बिन अब्दुला, इंडिया कंट्री हेड डायरेक्टर धर्मलिंगा प्रभाकरण तमिलनाडु, कंपनी के रीजनल डायरेक्टर मनोहरलाल साहू को दुर्ग के एक होटल में पुलिस की संयुक्त टीम के साथ दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया गया। डॉ. विकास शर्मा ने बताया कि भारत में यह कंपनी चार अलग-अलग नामों से व्यवसाय कर रही है। इसमें जॉन ट्रेवल्स, बीयूएसएन,  माई लाइफ स्टाइल, माई हॉबी शामिल है। उन्होंने बताया कि भारत में लगभग पांच हजार लोग इस कंपनी के ठगी के  शिकार हो चुके हैं। दुर्ग पुलिस ने मामले में इंडियन पीनल कोड की धारा 420 व अन्य धाराओं के तहत कार्रवाई की है।

 

21-06-2019
लॉटरी का झांसा देकर युवती से 61 हजार की ठगी, धोखाधड़ी का मामला दर्ज

रायपुर। सीबीसी में 25 लाख का लाटरी लगने का झांसा देकर युवती से 61 हजार की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ित युवती की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है। बता दें कि दुलारीनगर कैलाशपुरी निवासी कुमारी माधुरी नाग (22) ने थाने में शिकायत किया कि उसके पास अज्ञात मोबाइल नंबर  0040762338981 से कॉल आया।

उक्त व्यक्ति ने प्रार्थिया से कहा कि आपका सीबीसी में 25 लाख रुपए का लाटरी लगा है। जिसे पाने के लिए आपको कंपनी के खाते में 61 हजार रुपए जमा करना है। जिससे युवती ने तीन बार में आरोपी द्वारा दिए हुए बैंक खाते में 61 हजार रुपए जमा कर दिया। जब आरोपी द्वारा और कॉल कर पैसे की मांग करने लगा। तब युवती को ठगे जाने का एहसास हुआ। जिसके बाद उसने इसकी शिकायत कोतवाली थाना में की। मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।

15-06-2019
‘ग्राम रक्षा समिति’ के तहत चौपाल लगाकर ग्रामवासियों को किया गया जागरुक

धमतरी। पुलिस अधीक्षक धमतरी के निर्देशन में थाना सिहावा द्वारा पोड़ागाव एवं भीषपुरी में ‘ग्राम रक्षा समिति’ के तहत गांव के लोगों को जागरूक किया गया एवं हेलमेट लगा कर मोटर सायकिल चलाने, कार में सीट बेल्ट लगाकर चलाने के लिए जागरूक किया गया। नौकरी लगाने के नाम पर ठगी, फर्जी फोनकॉल चेहरा पहचानों इनाम जीतो फर्जी लाटरी लगने का झांसा जेवर चमकाने वाले गिरोह से दूर रहने के लिए बताया गया। शराब से होने वाले घटनाओं, गुड टच बेडटच के संबंध में जानकारी दिया गया साथ ही टॉवर लगाने के नाम पर ठगी के संबंध में भी जानकारी दी गई।

किसी भी प्रकार की समस्या होने पर तत्काल फोन से थाना को सूचना देने के लिए थाना एवं पुलिस कंन्ट्रोल रूम का नंबर दिया गया। इस कार्यक्रम में थाना प्रभारी विपिन कुमार लकड़ा, सहा.उप निरीक्षक राजेंद्र सोरी एवं थाने के अधिकारी, कर्मचारियों, गांव के सरपंच सहित ग्रामवासी अधिक संख्या में महिलाए एवं बच्चे भी उपस्थित रहे।

14-06-2019
‘जन मित्र’ योजना के तहत वार्डवासियों को जागरुक किया गया

धमतरी। पुलिस अधीक्षक धमतरी के निर्देशन में आज थाना धमतरी द्वारा बठेना वार्ड में ‘जनमित्र योजना’ के तहत वार्ड के लोगो को जागरूक किया गया एवं हेलमेट लगा कर मोटर सायकिल चलाने, कार में सीट बेल्ट लगाकर चलाने के लिए जागरूक किया गया।
साथ ही नौकरी लगाने के नाम पर ठगी, फर्जी फोनकॉल चेहरा पहचानो इनाम जीतो फर्जी लाटरी लगने का झांसा जेवर चमकाने वाले गिरोह से दूर रहने के लिए बताया गया।

शराब से होने वाले घटना। गुड टच बेडटच के संबंध में जानकारी दिया गया एवं टावर लगाने के नाम से ठगी बाबा लोन के नाम पर ठगी किये जाने वाले गिरोह से दूर रहने के बारे में जानकारी दी गई। यातायात के नियमों एवं सतर्कता के संबंध में जानकारी दिया गया। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर तत्काल फोन से थाना को सूचना देने के लिए थाना एवं पुलिस कंन्टोल रूम का नंबर दिया गया। इस कार्यक्रम में थाना प्रभारी धमतरी, उप निरीक्षक मुकेश पटेल,उप निरीक्षक विनय निराला एवं थाने के अधिकारी, कर्मचारियों, बठेना के पार्षद सहित वार्डवासी अधिक संख्या में महिलायें एवं बच्चे भी उपस्थित रहे।

10-06-2019
शादी का झांसा देकर महिलाओं से ठगी करने वाला शातिर आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। मेट्रीमोनियल साइट में अलग-अलग प्रोफाइल बनाकर तलाकशुदा एवं विधवा महिलाओं से ठगी करने वाले शातिर आरोपी को न्यू राजेन्द्र नगर पुलिस  ने गुजरात से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से मोबाइल फोन, सिम, आधार कार्ड व नकदी 10 हजार रुपए जब्त किया है। मामले का खुलासा करते हुए एडिशनल एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि पकड़े गए आरोपी का नाम इलेश दोशी (53) निवासी वीरमगाम अहमदाबाद गुजरात है। आरोपी ने मेट्रोमोनियल एवं 40 प्लस मेट्रोमोनियल साइट पर अलग-अलग आईडी बनाकर रखा था। आरोपी ने राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र में रहने वाली अनुपमा अग्रवाल को भी अपना शिकार बनाया था। बताया जाता है कि आरोपी पूर्व से विवाहित है और अपराधी प्रवृत्ति का है। उसका काम सिर्फ फर्जी कंपनी बनाकर लोगों को धोखा देकर पैसा ऐंठना व ठगी करना है। आरोपी ने इसी तरह मुंबई की एक महिला हर्षा मेहता को भी अपना शिकार बनाया है। इस तरह आरोपी ने करीब दर्जनभर महिलाओं से ठगी की है।

09-06-2019
आयुष्मान भारत योजना में नौकरी दिलाने का झांसा देकर 10 लाख से अधिक की ठगी

रायपुर। स्वास्थय विभाग और मंत्रालय में अपनी पहुंच बताकर आयुष्मान भारत योजना में नौकरी दिलाने का झांसा देकर दो युवकों से 10 लाख 80 हजार की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। पीडि़त की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है।

बता दें कि आरोपी अनुराग कोसरिया महासमुंद का रहने वाला है। आरोपी के पिता विजय आनंद कोसरिया सरायपाली में डॉक्टर है। उसकी मां सरायपाली में जनपद अध्यक्ष है। आरोपी रायपुर में रहकर कॉलेज की पढ़ाई कर रहा है। बताया जाता है कि आरोपी ने आयुष्मान भारत योजना में डाटा ऑपरेटर के पद पर नौकरी लगाने के नाम पर अभनपुर निवासी छत्रपाल मैथिल और राजनांदगांव निवासी अफजल खान से ठगी की है। उसने दोनों को फर्जी ज्वाइनिंग लेटर भी दे दिया। लेकिन जब ज्वाइंन करने गए तब उस नाम का कोई ऑफिस ही नहीं मिला। जिसके बाद उन्हें ठगी का अहसास हुआ। जिसके बाद दोनों युवकों ने मामले की शिकायत कोतवाली थाने में की। पीडि़त छत्रपाल मैथिल आरोपी अनुराग को पहले से जानता था, इसलिए वह उस पर भरोसा कर बैठा। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से आरोपी फरार है जिसकी पतासाजी पुलिस कर रही है।

31-05-2019
लोहा व कबाड़ कारोबारी से 5.50 करोड़ की ठगी, धोखाधड़ी का मामला दर्ज

रायपुर। राजधानी के लोहा व कबाड़ कारोबारी अनिल गोयल से 5.50 करोड़ रुपये की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ित की शिकायत पर डीडी नगर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। बता दें कि दलदल सिवनी निवासी अनिल गोयल (52) मेसर्स आरके इंजीनियरिंग फर्म के प्रोपराइटर है। बताया जाता है कि 14 अगस्त 2018 को अनिल ने जोहरी नगर गोवा में स्थित बंद पावर प्लांट का कबाड़ खरीदने का सौदा तेलंगाना के सरूर नगर निवासी मेसर्स केदारी ट्रेडर्स के प्रोपराइटर डॉ. केवीके राव से 30 करोड़ रुपये में किया। इसके लिए अनुबंध किया गया।

इसके बाद अनिल ने डॉ. केवीके राव के फर्म के खाते में 14 अगस्त से 20 अक्टूबर के बीच किस्तों में 7.50 करोड़ रुपये आरटीजीएस के माध्यम से डाल दिया। इसके एवज में केदारी ट्रेडर्स द्वारा 13 अक्टूबर से 1 नवंबर के बीच 1.89 करोड़ रुपये के कबाड़ की सप्लाई की गई थी। उसके बाद अचानक कबाड़ देना बंद कर दूसरी पार्टी को पूरा कबाड़ बेच दिया। यही नहीं इकरारनामा के विपरीत और पैसों की मांग की तब अनिल ने शेष पैसे वापस लौटाने को कहा तो डॉ. केवीके राव आनाकानी करने लगा। जिससे परेशान होकर अनिल ने मामले की शिकायत डीडीनगर थाने में की। मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 406, 420 के तहत अपराध कायम कर जांच में लिया है।

24-05-2019
कोल बिक्री के नाम पर 14 लाख की ठगी, दो आरोपी तेलंगाना से गिरफ्तार

रायपुर। एन्थ्रासाइट कोल बिक्री करने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने वाले दो अंतर्राज्यीय आरोपी को सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी का नाम एन.भूपाल उर्फ नायक नानावट (34) व वेंकट रमन्ना बण्डी (53) वर्ष है। दोनों आरोपी तेलंगाना के रहने वाले हैं। बताया जाता है कि गुढिय़ारी निवासी प्रांजल डागा का गोगांव में वयाम प्लास्टर इंडस्ट्रीज में प्लास्टर ऑफ पेरिस का निर्माण व लोहा सीमेंट कोल की खरीदी-बिक्री का काम करता है। उसने कोल खरीदी के लिए हैदराबाद के मंजीरा मैजेस्टिक कामर्शियल कंपनी से संपर्क किया था। कंपनी के डायरेक्टर नायक नानावट ने साउथ अफ्रिका से कोल गोगांव भेजने का आश्वासन देकर उससे 14 लाख 45 हजार रुपए ले लिए। इसके बाद सामान देने में टाल मटोल करते रहे। इससे प्रांजल ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में की। मामले में पुलिस ने शुक्रवार को दोनों आरोपियों को धारा 420,34 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि आरोपियों ने प्रांजल के अलावा देश भर में अन्य लोगो को भी इसी तरह ठगी का शिकार बना चुका है।

18-05-2019
दुकानदारों से मोबाइल एप के माध्यम से हो रही ठगी, रहे सावधान और सतर्क

अम्बिकापुर। अंबिकापुर में तरह तरह के ठगी के मामले सामने आए हैं। कभी एटीएम कार्ड बदलकर तो कभी बैंक कर्मचारी बन कर ठगी हुई है। अब अंबिकापुर में गूगल पे के नाम से ठगी का मामला सामने आया है, जिसमें व्यापारी ठगने से खुद को बचा लिया। युवा चेंबर ऑफ कॉमर्स के जिलाध्यक्ष शुभम अग्रवाल ने  बताया कि कैसे एटीएम पिन से ठगी के बाद शातिरों ने नया तरीका निकाला है। इसमें दुकानदारों को निशाना बनाया जा रहा है। ये ठग पहले गूगल के माध्यम से दुकानदारों का मोबाइल नंबर निकालते हैं फिर फोन कर अपने आप को आर्मी का सैनिक बताकर सामान खरीदने की बात करते हैं। वह सामान का फोटो व्हाट्सएप के माध्यम से भेजकर सामान का सौदा करते हैं फिर अपनी पोस्टिंग शहर से बाहर बता कर गूगल पै व अन्य ऐप के माध्यम से पेमेंट करेंगे कह कर उनसे उनका गूगल पै अकाउंट की जानकारी मांग कर पैसे का रिक्वेस्ट भेजते हैं,वह दुकानदार को एप्प खोल कर आई हुई रिक्वेस्ट पर पै का बटन दबाने को कहा जाता है। युवा  चेंबर ऑफ कॉमर्स के जिलाध्यक्ष शुभम ने बताया कि जब ठगों को लगता है कि दुकानदार उनके झांसे में नहीं आ रहा तो वह दुकानदार को पहले एक रुपए का ट्रांजैक्शन करने की बात कहते हैं वे उन्हें ₹1 का रिक्वेस्ट भेज कर पे करने को कहते हैं। इससे दुकानदार को लगता है कि एक रुपए की ही तो बात है और दुकानदार पै का बटन दबा देता है, जिससे दुकानदार के खाते में ₹1 आ जाता हैं। असल में शातिर उनके खाते से एक रुपए उड़ाकर उनके खाते में ₹2 डाल देते हैं, जिससे दुकानदार को लगता है कि उसके खाते मैं उसने ₹1 डाला है जिससे दुकानदार को लगता है कि सामने वाला व्यक्ति फर्जी नहीं है और वह हजारों का ट्रांजैक्शन करने को तैयार हो जाता है और पे का बटन दबाते ही दुकानदार के अकाउंट से पैसा ठग के अकाउंट में चला जाता है।

विश्वास जमाने करते हैं यह काम

दुकानदार पर विश्वास जमाने ठग अपने व्हाट्सएप पर आर्मी के कपड़ों में अपना फोटो लगाते हैं इससे दुकानदार को लगता है की ठग सही बोल रहा है। युवा शुभम ने बताया कि पुलिस भी इन ठगों पर कोई कार्यवाही नहीं करती। जब शुभम पुलिस के साइबर क्राइम थाने में गए तो वहां उन्हें बताया गया ऐसे ठगों के मामले आते रहते हैं, जिनसे सावधान रहने की जरूरत है। जागरूकता से ही इन ठगों से बचा जा सकता है। मगर जब ठगी हो जाती है तब पुलिस रिपोर्ट लिख छानबीन करती है तो ठगी से पहले क्यों नहीं।

युवा चैम्बर ऑफ कॉमर्स सरगुजा ने की अपील

चैम्बर ने सभी व्यापारियों से सावधानी रखने की अपील की है,अगर किसी के पास इस तरीके का फोन आता है तो आप भी सावधान रहें। एप्प के बारे में ज्यादा जानकारी ना होने से ठग फायदा उठाते हैं। अगर आप कोई भी एकाउंट ट्रांसक्शन एप्प का उपयोग कर रहे हैं तो उसके बारे में पूरी जानकारी अच्छे से समझें।

15-05-2019
पटवारी व भृत्य के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर 9 लाख से अधिक की ठगी

रायपुर। पटवारी व भृत्य के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर 4 बेरोजगारों से 9 लाख 90 हजार की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ितों की शिकायत नेवरा थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है। 

बता दें कि ग्राम देवर तिल्दा निवासी योगेश कुमार साहू (26) ने थाने में शिकायत किया कि ग्राम पाड़ाभाट निवासी आरोपी कृष्ण कुमार वर्मा तिल्दा में किराए से रहता था और अपने आप को मंत्रालय का अधिकारी बताते हुए पटवारी का नौकरी दिलाने की बात कही। इससे योगेश उसके झांसे में आ गया और योगेश अपने और अपनी बहन जागृति साहू को पटवारी के नौकरी लगवाने के नाम पर आरोपी कृष्ण कुमार को 5 लाख 90 हजार रुपए दे दिया।

इसी प्रकार आरोपी कृष्ण कुमार ने ग्राम परसवानी के हुलास साहू से भृत्य के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर 2 लाख रुपए और ग्राम कुंदरू निवासी गोविंद साहू को सरकारी ड्राईवर की नौकरी दिलाने के लिए 2 लाख रुपए ले लिया। जब नौकरी नही लगी तो चारों अपने पैसे वापस मांगने लगे तो कृष्ण कुमार नौकरी लग जायेगा कहकर आश्वासन देता रहा किन्तु नौकरी नही लगा पाया तब फिर पीडि़तों ने अपना पैसा वापस मांगे। इससे पैसे वापस नहीं करने पर पीडि़तों ने इसकी शिकायत नेवरा थाने में की। मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

15-05-2019
नौकरी लगाने के नाम पर ठगी करने वाले कॉलेज संचालक को पुलिस ने लिया हिरासत में

 

रायपुर। नौकरी लगाने के नाम पर छात्र-छात्राओं से रकम ऐंठने वाले सृष्टि कॉलेज आफ नर्सिंग के संचालक को मौदहापारा पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। बता दें कि आरोपी संचालक गोविंद चौहान पर छात्र-छात्राओं को आयुर्वेद अस्पताल में कंपाउंडर की नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपये ठगने का आरोप है। इस शिकायत को लेकर छात्र-छात्राओं ने सोमवार को जोगी कांग्रेस के नेता के नेतृत्व में एएसपी से शिकायत की थी। जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी संचालक गोविंद चौहान को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804