GLIBS
05-07-2019
बजट से गरीब को बल , युवा को बेहतर कल मिलेगा : मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आम बजट को देश के लोगों की आशा, आकांक्षा और विश्वास पर आधारित बताते हुए कहा कि इससे गरीब को बल और युवाओं को बेहतर कल मिलेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए शुक्रवार को लोकसभा में पेश बजट पर त्वरित प्रतिक्रिया देते हुए श्री मोदी ने कहा कि बजट आशा और उम्मीदों से भरा हुआ है और इससे यह विश्वास मिलता है कि देश की दिशा और गति सही है। बजट को 21 वीं सदी की आकांक्षाओं पर आधारित बताते हुए उन्होंने यह लोगों के सपनों को पूरा करने का मार्ग प्रशस्त करेगा।
उन्होंने कहा कि सरकार ने गरीब-किसान-दलित-पीड़ित-शोषित-वंचित को सशक्त करने के लिए चौतरफा कदम उठाए हैं। अब अगले 5 वर्षों में यही सशक्तीकरण उन्हें देश के विकास का पावरहाउस बनायेगा। देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक ले जाने सपने को पूरा करने की ऊर्जा इसी पावरहाउस से मिलेगी।
प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट के प्रावधानों में देश में कृषि क्षेत्र की कायापलट करने का रोड़मैप है। इससे उद्योग क्षेत्र को मजबूती मिलेगी और महिलाओं की भागीदारी बढेगी। बजट में कर व्यवस्था में सरलीकरण और इन्फ्रास्ट्रक्चर के आधुनिकीकरण पर जोर दिया गया है। बजट से मध्यम वर्ग को प्रगति मिलेगी और देश में विकास की रफ्तार को गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर इस बजट से गरीब को बल मिलेगा और युवाओं को बेहतर कल मिलेगा।

25-06-2019
सभी के लिए आवास’ के सपने को करेंगे पूरा : मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि सभी परिवारों के लिए आवास मुहैया कराने के सपने को पूरा करने के लिए हर संभव कदम उठाये जायेंगे।
मोदी ने 25 जून 2015 को शहरी भारत की तस्वीर बदलने के लिए अमरुत परियोजना, स्मार्ट सिटी मिशन तथा सभी के लिए मकान (शहरी) कार्यक्रम की शुरूआत की थी।
आज इसकी चौथी वर्षगांठ पर उन्होंने ट्वीट किया कि इन योजनाओं में बड़ा निवेश हुआ है। कार्यों की गति, तकनीक का प्रयोग और लोगों की भागीदारी देखने को मिली है। उन्होंने कहा, शहरी ढ़ाचे में और सुधार लाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। सभी के लिए मकान के सपने को पूरा करने के लिए हर संभव कदम उठाये जायेंगे। इस योजना के पूरा होने से करोड़ों लोगों के सपने साकार होगें।
उन्होंने कहा, हमने देश के ग्रामीण ढांचे का कायाकल्प करने के उद्देश्य से चार साल पहले अमरुत ,स्मार्ट सिटी और प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत की थी। इन योजनाओं ने न केवल ग्रामीण भारत के विकास की नयी मिसाल पेश की बल्कि करोड़ों लोगों के जीवन में बदलाव भी आया है। उल्लेखनीय है कि तीनों योजनाएं देश के शहरों से जुड़ी हुई हैं। इनमें 100 स्मार्ट सिटी बनाने, 500 शहरों के लिए अटल शहरी पुनर्जीवन और परिवर्तन मिशन और 2022 तक शहरी इलाकों में सभी के लिए घर बनाने की योजना शामिल है।

03-06-2019
तीन तलाक के खिलाफ  बिल लाएगी मोदी सरकार : रविशंकर प्रसाद

 

नई दिल्ली। केंद्र सरकार तीन तलाक पर प्रतिबंध लगाने के लिए संसद में बिल लेकर आएगी। इसकी जानकारी कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी। पिछले महीने 16वीं लोकसभा भंग होने के बाद तीन तलाक पर प्रतिबंध का बिल गिर गया है। दोबारा संसद में यह बिल लाए बिना पास नहीं हो सकता, इसलिए सरकार इस प्रक्रिया पर आगे बढ़ेगी। पिछली बार यह विवादित बिल लोकसभा में तो पारित हो गया था लेकिन राज्यसभा में लंबित था। अभी हाल में 17वीं लोकसभा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अन्य सांसदों ने मंत्री पद की शपथ ली है। 17 जून से संसद का सत्र भी शुरू हो रहा है जिसमें यह बिल लाया जाएगा। नियमों के मुताबिक जो बिल राज्यसभा में पेश हो जाते हैं लेकिन वहां लंबित होते हैं, वो लोकसभा भंग होने के बावजूद समाप्त नहीं होते। हालांकि जो बिल लोकसभा में पारित हो जाते हैं लेकिन राज्यसभा में लंबित होते हैं, वो लोकसभा भंग होते ही गिर जाते हैं। विपक्ष राज्यसभा में तीन तलाक बिल का विरोध करता रहा है। राज्यसभा में विपक्ष मजबूत है क्योंकि सत्ता पक्ष के सदस्यों की संख्या यहां काफी कम है। हालांकि लोकसभा चुनाव में भारी जीत के बाद एनडीए के पास अगले साल के अंततक राज्यसभा में बहुमत हो जाएगा और उसके बाद मोदी सरकार के लिए अपने विधायी एजेंडे को आगे बढ़ाने में आसानी हो जाएगी। 

24-05-2019
पीएम मोदी ने राष्ट्रपति से मुलाकात कर मंत्रिपरिषद के साथ सौंपा इस्तीफा 

 

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद शुक्रवार शाम नई दिल्ली में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई। इस बैठक में 16वीं लोकसभा को भंग करने का प्रस्ताव पारित किया गया। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति से मुलाकात कर उन्हें मंत्रिपरिषद के साथ अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफा स्वीकार करके उनसे नई सरकार के गठन तक कामकाज जारी रखने का अनुरोध किया है। बता दें कि 17वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनावों में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए ने 350 सीटों पर ऐतिहासिक जीत हासिल की है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस 50 सीटों पर जीत दर्ज कर पाई। सहयोगियों को मिलाकर यूपीए के हिस्से में 92 सीटें गई हैं, जबकि अन्य दलों के खाते में 102 सीटें आईं। बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में मायावती-अखिलेश यादव के महागठबंधन को फेल कर दिया और 80 में से 60 सीटें जीत ली। 

24-05-2019
मतदाताओं का आभार जताने 28 मई को वाराणसी आएंगे पीएम मोदी 

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी में बड़ी और ऐतिहासिक जीत के बाद बनारस आने की घोषणा कर दी है। वह यहां जीत का श्रेय काशी को देने और यहां के मतदाताओं का आभार व्यक्त करने के लिए 28 मई को आएंगे। चुनाव परिणाम की घोषणा से पहले ही प्रधानमंत्री कार्यालय ने 28 मई के काशी प्रवास की सूचना दे दी है। अब प्रशासनिक मशीनरी पीएम मोदी के आगमन की तैयारियों में जुट गई है। पीएमओ शनिवार तक पीएम मोदी के काशी प्रवास का विस्तृत कार्यक्रम जारी करेगा। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 मई को दोपहर बाद काशी पहुंचेंगे। यहां जनता से संवाद करने के बाद वे काशी विश्वनाथ मंदिर और बाबा काल भैरव के दर्शन-पूजन करेंगे और गंगा आरती में भी शामिल होंगे।

20-05-2019
भारत से ज्यादा पाकिस्तान में सर्च किए गए पीएम मोदी 

 

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए देशभर में मतदान खत्म होने के बाद रविवार की शाम को लोकसभा चुनाव का एक्जिट पोल भी आ गया। एक्जिट पोट के नतीजों पर नजर डालें तो केंद्र में एनडीए की सरकार बनती दिखाई दे रही है। वहीं पिछले 24 घंटों के गूगल सर्च के आंकड़े पर नजर डालें तो नरेंद्र मोदी कीवर्ड को राहुल गांधी के मुकाबले 6 गुना ज्यादा सर्च किया गया है। गूगल सर्च में नरेंद्र मोदी को 87 फीसदी और राहुल गांधी को 13 फीसदी सर्च किया गया लेकिन इस सर्च रिजल्ट्स में एक चौंकाने वाला रिजल्ट सामने आया है। दरअसल नरेंद्र मोदी को इस दौरान सबसे ज्यादा पाकिस्तान में सर्च किया गया है। गूगल सर्च रिजल्ट के मुताबिक 19 मई 2019 की शाम 4.26 मिनट से लेकर 20 मई को दोपहर 11.22 बजे तक नरेंद्र मोदी कीवर्ड को सबसे ज्यादा सर्च किया। नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी कीवर्ड को सबसे ज्यादा पाकिस्तान, भारत, बांग्लादेश, अमेरिका और कनाडा में सर्च किया गया। 20 मई को 11.22 बजे सर्च रिजल्ट में नरेंद्र मोदी सर्च का प्वाइंट 90 और राहुल गांधी का 13 रहा। अब क्षेत्र के हिसाब से गूगल सर्च पर नजर डालें तो नरेंद्र मोदी कीवर्ड को सबसे ज्यादा पाकिस्तान में (88 प्रतिशत) सर्च किया गया, वहीं राहुल गांधी का पाकिस्तान में सर्च का प्रतिशत 12 प्रतिशत रहा। वहीं भारत में 87 प्रतिशत लोगों ने नरेंद्र मोदी को 13 फीसदी लोगों ने राहुल गांधी को सर्च किया। बांग्लादेश की बात करें नरेंद्र मोदी का सर्च प्रतिशत 83 और राहुल गांधी 17 रहा। इसके अलावा अमेरिका में नरेंद्र मोदी का सर्च प्रतिशत 82 और राहुल गांधी का 18 रहा। वहीं कनाडा में नरेंद्र मोदी को 79 फीसदी और राहुल गांधी को 21 फीसदी सर्च किया गया।

18-05-2019
सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता से पूछा: मोदी को पक्षकार क्यों बनाया?

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय रजिस्ट्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा चुनावी हलफनामे में सम्पत्ति का ब्योरा छिपाए जाने की शिकायत संबंधी याचिका में फिर से कुछ सवाल खड़े किए हैं। याचिकाकर्ता साकेत गोखले ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री की ओर से दूसरी बार पूछे गए सवालों के बारे में पोस्ट साझा किया है। उन्होंने लिखा है, ह्यसुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री ने मुझसे यह स्पष्ट करने को कहा है कि याचिका में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पक्षकार क्यों बनाया गया है?


याचिकाकर्ता ने कहा कि जनहित याचिका दायर किए जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री ने याचिका में कुछ त्रुटियों को लेकर उन्हें एक सूची सौंपी थी, मसलन पृष्ठ संख्या और अन्य सामान्य जानकारियां, लेकिन वह उस वक्त हतप्रभ रह गए जब रजिस्ट्री ने त्रुटियों के संबंध में दोबारा पत्र भेजकर यह स्पष्ट करने को कहा कि प्रधानमंत्री को इस याचिका में पक्षकार क्यों बनाया गया है। याचिकाकर्ता ने अपनी जनहित याचिका में आरोप लगाया है कि पीएम मोदी ने अपने चुनावी हलफनामों में अपनी सम्पत्ति का सही ब्योरा नहीं दिया है। प्रधानमंत्री पर आरोप है कि उन्होंने गुजरात में मिले भूखंड की सही जानकारी छिपायी है।

13-05-2019
नेहरू-इंदिरा ने जब फौज बनाई थी तब मोदी पायजामा पहनना भी नहीं सीखे थे...

रतलाम। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के लिए होने जा रहे मतदान के पहले विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के बोल आक्रामक होते जा रहे हैं। इसी क्रम में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनेे निशाने पर लेते हुए रतलाम रैली में उनसे पांच साल का हिसाब मांगते हुए तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि जो पांच साल का जवाब नहीं दे सकते वह क्या देश की सुरक्षा की बात करेंगे? पीएम को सीधे संबोधित करते हुए सीएम कमलनाथ ने बड़ी तल्खी के साथ कहा कि मोदी जी जब आपने अपनी पैंट-पायजामा पहनना नहीं सीखा था, तब पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी ने हमारे देश की फौज बना ली थी। बता दें कि विपक्ष, पीएम मोदी पर पांच साल के काम का हिसाब नहीं देने का आरोप लगाता रहा है। विपक्ष का आरोप है कि पीएम मोदी सैनिकों के नाम वोट मांग रहे हैं। इसे लेकर विपक्ष के नेता चुनाव आयोग से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुके हैं। 

 

11-05-2019
सीएम ममता बनर्जी ने कहा, मोदी जी की छाती 56 ईंच की है, मैं कैसे मार सकती हूं थप्पड़ 

नई दिल्ली। सीएम ममता बनर्जी ने शनिवार को अपने उस बयान को स्पष्ट किया है, जिसमें कहा था कि पीएम मोदी को थप्पड़ मारुगीं। सीएम ममता बनर्जी ने बशीरहाट में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं पीएम मोदी को कैसे थप्पड़ मार सकती हूं, उनका सीना 56 ईंच का है। ममता ने कहा, ' मैंने कभी ये नहीं कहा कि मैं आपको (पीएम मोदी) थप्पड़ मारूंगी। मैंने कहा था कि मैं लोकतंत्र का तमाचा जड़ूंगी। मैं आपको थप्पड़ क्यों मारूंगी? अगर मैंने आपको थप्पड़ मारा तो मेरा हाथ टूट जाएगा। इसलिए मैं ऐसा क्यों करूंगी? आपका सीना 56 ईंच का है, मैं आपको थप्पड़ कैसे मार सकती हूं?

गौरतलब है कि ममता ने हाल ही में अपनी एक सभा में कहा था वे प्रधानमंत्री मोदी को लोकतंत्र का थप्पड़ मारेंगी। ममता के बयान का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि अब दीदी उन्हें थप्पड़ मारना चाहती हैं। पीएम मोदी ने अपनी सभाओं में ममता के इस बयान का हवाला देकर वोटरों से सहानुभूति हासिल करने की पूरी कोशिश की। इसी कड़ी में ममता ने शनिवार को पीएम मोदी को जवाब दिया है।

11-05-2019
महामिलावटी दल देश की सुरक्षा को डालेंगे खतरे में : मोदी

राबर्ट्सगंज (सोनभद्र)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महामिलावटी गठबंधन पर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने का आरोप लगाते हुये कहा कि केन्द्र में तीसरे मोर्च की सरकार के दौरान खुफिया तंत्र को खोखला कर दिया गया था। पीएम मोदी ने सोनभद्र जिले के राबर्ट्सगंज से दो किलोमीटर दूर सजौर में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उस समय की सरकार में समाजवादी पार्टी(सपा) भी शामिल थी जब खुफिया व्यवस्था को कमजोर किया गया था। यह किसी बड़े अपराध से कम नही है। उन्होंने कहा कि बाद में बाजपेई सरकार ने उन गल्तियों को दुरूस्त किया था और देश की सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर स्थिति में लाया गया था। भाजपा ने राष्ट्रीय सुरक्षा को सर्वोपरि माना है। उन्होंने कहा कि 21 साल पहले आज ही के दिन देश में परमाणु परिक्षण करके वैज्ञानिको ने गौरवान्वित किया था। बाजपेई सरकार से पहले किसी सरकार में परमाण परिक्षण कराने की हिम्मत नही थी। मैं उन सभी वैज्ञानिकों को नमन करता हूं।

 

 

07-05-2019
सुष्मिता देव ने हलफनामा देकर कहा - चुनाव आयोग ने मोदी और शाह पर नहीं की कार्रवाई 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा लोकसभा चुनाव के प्रचार के  दौरान अपने भाषणों से आदर्श आचार संहिता उल्लंघन करने के मामले में चुनाव आयोग की ओर से क्लीन चिट मिलने के बाद असम के सिलचर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने  सुप्रीम कोर्ट में एक और हलफनामा दायर किया है। सुष्मिता देव ने हलफनामे में कहा है कि चुनाव आयोग यह मानने को तैयार नहीं है कि पीएम और भाजपा अध्यक्ष के भाषणों में घृणा फैलाने वाले बयान जनप्रतिनिधि अधिनियम, 1951 के तहत भ्रष्ट प्रचलन है। आयोग बार-बार शिकायतों के बाद भी दोनों के खिलाफ उचित कार्रवाई नहीं कर पाया है। आयोग ने दोनों को ज्यादातर शिकायतों में क्लीन चिट दे दी है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुष्मिता देव से कहा था कि वह चुनाव आयोग की ओर से पीएम और भाजपा अध्यक्ष को आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में क्लीन चिट देने के सबूत पेश करें। सुष्मिता देव के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि कांग्रेस ने कई बार आयोग को दी शिकायतों में बताया कि प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष जान-बूझकर प्रचार अभियान के दौरान सुरक्षाबलों का इस्तेमाल कर रहे हैं। यह आचार संहिता का उल्लंघन है। बावजूद इसके चुनाव आयोग हर शिकायत खारिज कर रहा है। सिंघवी ने कोर्ट को बताया कि कुछ आदेशों में चुनाव आयोग के ही कुछ अधिकारियों ने असहमति जताई है। कोर्ट को इस मामले में दिशानिर्देश तय करने चाहिए। ऐसे सभी मामलों में अधिकारियों की असहमतियों को सार्वजनिक किया जाना चाहिए। इस पर पीठ ने सोमवार को कहा था कि वह हलफनामा दाखिल कर बताएं कि आयोग ने मोदी-शाह को आदर्श आचार संहिता के मामले में क्लीन चिट दी है। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को दिए आदेश में कहा था कि चुनाव आयोग कांग्रेस की ओर से मोदी और शाह के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन मामले में की गई सभी शिकायतों पर 6 मई से पहले फैसले ले।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804