GLIBS
10-07-2019
बजट में दिया गया हर आंकड़ा सही है : सीतारमण

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2019-20 के लिए संसद में पिछले सप्ताह पेश बजट के आँकड़ों पर विपक्ष द्वारा उठाये गये सवालों को खारिज करते हुये वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण में बुधवार को कहा कि बजट में दिया गया हर आंकड़ा विश्वसनीय है और उन्हें लेकर किसी प्रकार की कयासबाजी की जरूरत नहीं है। लोकसभा में बजट पर तीन दिन में करीब 16 घंटे चली चर्चा का जवाब जवाब देते हुये सीतारमण ने कहा बजट में उल्लिखित आंकड़ों को लेकर कयासबाजी की आवश्यकता नहीं है। हर आंकड़ा विश्वसनीय है। सरकार परिवर्तनकारी बदलावों में विश्वास रखती है। बजट में हर क्षेत्र को महत्त्व दिया गया है।

कांग्रेस, तृणमूल तथा अन्य विपक्षी दलों की टोकाटाकी, हंगामा, नारेबाजी और बाद में बहिर्गमन के बीच करीब डेढ़ घंटे के अपने जवाब में वित्त मंत्री ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी), मनरेगा, अनुसूचित जाति/जनजाति, महिलाओं, बच्चों, पूर्वोत्तर के राज्यों तथा सब्सिडी के लिए बजट में किये गये प्रावधानों का बचाव किया तथा बताया कि इनके लिए आवंटन बढ़ाये गये हैं; हालाँकि उन्होंने अधिकतर मामले में 2018-19 के बजट के मूल प्रावधान से 2019-20 के मूल प्रावधान की तुलना की तथा कुछ ही मामलों में 2018-19 के संशोधित अनुमान से तुलना की। उन्होंने बजट भाषण में कृषि क्षेत्र का उल्लेख नहीं होने के विपक्षी सदस्यों के आरोपों को गलत बताते हुये कहा कि उनके भाषण में यदि किसी एक क्षेत्र का सबसे ज्यादा उल्लेख हुआ है तो वह कृषि क्षेत्र है।

10-07-2019
एनपीए की स्थिति में सुधार का प्रयास : सीतारमण

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकार बैंकिंग क्षेत्र को मजबूत बनाने पर विशेष ध्यान दे रही है और इसके लिए सबसे ज्यादा जोर गैर-निष्पादित परिसम्पत्तियों (एनपीए) की स्थिति में सुधार लाने पर दिया जा रहा है। सीतारमण ने लोकसभा में बुधवार को वित्त विधेयक पर 15 घंटे से अधिक समय तक चली चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि बैंकों के लिए एनपीए की स्थिति सबसे ज्यादा चिंता का विषय है और सरकार इस स्थिति को ठीक करने के उपाय कर इसमें सुधार का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि इन उपायों का मकसद सिर्फ निवेश हासिल करना नहीं है बल्कि इसके माध्यम से पूरे बैंकिंग क्षेत्र में सुधार लाने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को केंद्र सरकार की तरफ से पूंजी उपलब्ध कराकर एनपीए को कम किया जा रहा है। वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने बैंकों को 252982 हजार करोड़ रुपये दिए हैं जबकि बैंकों ने 66514 हजार करोड़ रुपये खुद जुटाए हैं। इस तरह से बैंकों के पास कुल राशि तीन लाख 19 हजार करोड़ रुपये से अधिक हो गयी है और यह प्रयास एनपीए कम करने में मददगार साबित होगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि बैंकों में एनपीए की स्थिति ऋण डूबने, भ्रष्टाचार, अनुशासन की कमी, व्यवस्था बनाए रखने में असफल रहने, निर्धारित नियमों का ठीक तरह से पालन नहीं करने जैसी कई वजह से उत्पन्न हुई। सरकार ने भी इस स्थिति को समझा इसलिए रिजर्व बैंक ने इसके लिए दिसम्बर 2015 में एक समिति का गठन किया। उन्होंने कहा कि इन सब स्थितियों के बावजूद सरकार का प्रयास अब बैंकों के एनपीए में कमी लाने का है और इस इस दिशा में प्रभावी तरीके से काम किया जा रहा है।

05-07-2019
जल, थल, वायु संपर्क बढ़ाना प्राथमिकता : निर्मला

नई दिल्ली। सरकार ने कहा है कि देश में भारतमाला, सागरमाला तथा उड़ान परियोजनाओं के जरिए कनेक्टिविटी बढाने की परियोजनाओं को महत्व दिया जा रहा है और गांव तथा शहरों के बीच दूरी कम करने के लिए सभी मौसम में सुलभ सड़कें उपलब्ध कराई जा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को लोकसभा में वर्ष 2019-20 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि परिवहन क्षेत्र में ढांचागत विकास सरकार की पहली प्राथमिकता है और इसके लिए जल, थल और वायु परिहवन को बढावा दिया जा रहा है।

भारतमाला योजना के तहत देश में सडकों का जाल बिछाया जा रहा है और सागरमाला के तहत बंदगाहों को सडक नेटवर्क से जोडा जा रहा है जबकि उडान योजना के तहत सभी क्षेत्रों को वायु मार्ग से जोडा जा रहा है। सागरमाला से बंदरगाहों की कनेक्टिविटी बढेगी और भारतमाला के तहत सडक नेटवर्क बढाया जाएगा उन्होंने कहा कि देश का कोई हिस्सा सडक परिवहन से वंचित नहीं रहे इसके लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक योजना के तहत तीसरे चरण में एक लाख 25 हजार किलोमीटर सडकों का सुधार किया जाएगा और इसके लिए 80250 करोड रुपए की व्यवस्था की गयी है। अगले पांच साल में केंद्र सरकार की इस योजना से देश के ग्रमीण इलाकों में बडा बदलाव आएगा और ग्रामीण क्षेत्र बडे बाजार के रूप में उभरेंगे।

भारत माला, सागरमाला तथा उडान योजना देश के गरीब तथा शहरी क्षेत्रों को जोड़ने का काम कर रही हैं। इस योजना से देश में परिवहन की व्यवस्था में सुधार हो रहा है और इस प्रक्रिया को और तेज किया जाएगा। राष्ट्रीय राजमार्गों के पुनर्निर्माण और कनेक्टिविटी को प्राथमिकता के साथ बढावा दिया जाएगा और इन तीनों योजनाओं के तहत इसके लक्ष्य को हासिल किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में 657 किलोमीटर मेट्रो नेटवर्क संचालित किया जा रहा है तथा सरकारी और निजी भागीदारी के तहत रेल परिवहन को विकसित किया जा रहा हे। जल परिवहन को बढावा देने पर विशेष बल दिया जा रहा है ताकि देश के हर हिस्से तक नदियों के माध्यम से कनेक्टिविटी स्थापित की जा सके। उन्होंने कहा कि ढांचागत विकास मजबूत किया जाएगा और इसके लिए देशी और विदेशी निवेशकों को आमंत्रित किया जाएगा। इसके साथ ही ऐसी सडकों का निर्माण किया जा रहा है जो हर मौसम के अनुकूल हो और अब तक करीब 97 प्रतिशत बस्तियों की पहुंच इस तरह की सडकों तक हो चुकी है ओर इसमें तेजी लायी जा रही है।

05-07-2019
इसी वर्ष 30 खरब डॉलर की होगी भारतीय अर्थव्यवस्था : सीतामरण

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में शुक्रवार को वर्ष 2019-20 का आम बजट पेश करते हुये कहा कि गांव, गरीब और किसान मोदी सरकार के केन्द्र बिन्दु हैं और देश की अर्थव्यवस्था इसी वर्ष 30 खरब डॉलर की हो जायेगी। सीतारमण ने 49 वर्षों के बाद एक महिला वित्त मंत्री के रूप में अपना पहला आम बजट पेश करते हुये कहा कि वर्ष 2014 में देश की अर्थव्यवस्था 1़5़ 8 खरब डॉलर की थी जो वर्ष 2019 में बढ़कर 2़7 खरब डॉलर की हो गयी है और इसी वर्ष यह 30 खरब डॉलर की हो जायेगी। अगले कुछ वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था के 50 खरब डॉलर के बनने की उम्मीद जताते हुये उन्होंने कहा कि 55 वर्षों में यह 10 खरब डॉलर पर पहुंची थी। पिछले कुछ वर्षों में अर्थव्यवस्था के विकास में जबरदस्त तेजी आयी है।

उन्होंने कहा कि 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने का लक्ष्य, बुनियादी ढ़ांचे में भारी निवेश, डिजिटल अर्थव्यवस्था, रोजगार सृजन ,नागरिकों की आशाओं, विश्वास और आकांक्षाओं से परिपूर्ण है। उन्होंने कहा कि गांव , गरीब और किसान इस सरकार की सभी योजनाओं के केन्द्र बिन्दु हैं और उन्हें ध्यान में रखते हुये की कार्ययोजनायें बनायी जा रही है। उन्होंने हर तरह की कनेक्टिविटी को अपनाये जाने का हवाला देते हुये कहा कि 80,250 करोड़ रुपये की लागत से 1.25 लाख किलोमीटर सड़क को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तीसरे चरण में उन्नत किया जायेगा। 97 प्रतिशत गाँवों को बारह-मासी सड़क से जोड़ा गया है, शेष गाँवों को इसी साल जोड़ने का लक्ष्य है। उन्होंने महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर अंत्योदय को सरकार का लक्ष्य बताते हुये कहा कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत 1.5 करोड़ मकान बने, 2019-20 से 2021-22 के बीच 1.95 करोड़ मकान बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

05-07-2019
निर्मला सीतारमण संसद में कर रही बजट पेश

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में बजट पेश कर रही हैं।  मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट है। इससे पहले एक फरवरी को पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट पेश किया था। बजट से आम से लेकर खास को काफी उम्मीदें हैं। बताया जा रहा है कि बजट में राजकोषीय घाटे को काबू में रखने के साथ ही आर्थिक विकास और रोजगार सृजन को गति देने पर सरकार का जोर रह सकता है।

05-07-2019
वित्तमंत्री सीतारमण लाल फोल्डर में बजट लेकर पहुंचीं संसद, राष्ट्रपति कोविंद से की मुलाकात

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश करेंगी। सीतारमण ने बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। इससे पहले सीतारमण परंपरा तोड़ते हुए ब्रीफकेस की जगह एक फोल्डर में बजट लेकर निकलीं। अब तक वित्त मंत्री एक ब्रीफकेस में ही बजट लेकर संसद पहुंचते थे। मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमणियन ने फोल्डर में बजट ले जाने पर कहा कि यह भारतीय परंपरा है। यह पश्चिमी मानसिकता की गुलामी से बाहर आने का प्रतीक है। इसे आप बजट नहीं बल्कि बही खाता कह सकते हैं। 

फरवरी में पेश किए गए अंतरिम बजट को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि यह सिर्फ ट्रेलर है। इसलिए, पूर्ण बजट से जनता को कई उम्मीदें हैं। अलग-अलग रिपोर्ट्स के मुताबिक इनकम टैक्स में राहत देने समेत आम आदमी से जुड़ी कई अहम घोषणाएं की जा सकती हैं। निर्मला सीतारमण का यह पहला बजट होगा। वहीं, 49 साल बाद कोई महिला वित्त मंत्री बजट पेश करेंगी। निर्मला से पहले 1970 में इंदिरा गांधी ने बजट पेश किया था।

04-07-2019
चालू वित्त वर्ष में विकास दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान : आर्थिक सर्वेक्षण

नई दिल्ली। मोदी सरकार 2.0 का पहला बजट शुक्रवार को पेश होना है। बजट से पहले गुरुवार को सरकार ने संसद में आर्थिक सर्वे पेश किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने चुनौतियां हैं कि वह आम आदमी की उम्मीदों पर खरा उतर सकें। राज्यसभा में आर्थिक सर्वे पेश कर दिया गया है। मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यम ने सर्वे पेश किया है। सर्वे के अनुसार, 2019-2020 में देश की जीडीपी 7 फीसदी तक रह सकती है। इससे आगामी वित्त वर्ष के लिए नीतिगत फैसलों के संकेत भी मिले हैं।

इसके अलावा देश का वित्तीय घाटा 5.8 फीसदी तक जा सकता है. जबकि पिछले साल ये आंकड़ा 6.4 फीसदी पर था। आर्थिक सर्वे के अनुसार अगर भारत को 2025 तक 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाना है तो लगातार 8 फीसदी की रफ्तार बरकरार रखनी होगी। इसके अलावा इस बार निवेश के जरिए देश की जीडीपी रफ्तार पकड़ सकती है। हालांकि, जो भी कुछ कमी आंकड़ों में दिख रही है उसका असर महंगाई की वजह से ही दिख रहा है। हालांकि, सर्वे कुछ चुनौतियां भी सामने रखता है। जैसे कि वित्तीय घाटे के मोर्च पर 2019-20 में कुछ चुनौतियां हो सकती हैं। जिस तरह का प्रचंड बहुमत सरकार को देश की जनता ने दिया है, उसकी वजह से अर्थव्यवस्था को बढ़ाने की कई चुनौतियां हैं।

सर्वे में बताया गया है कि सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में जो रिफॉर्म किए हैं, वह लगातार आगे बढ़ते रहेंगे। सरकार की ओर से कहा गया है कि जनवरी से लेकर मार्च में जो भी जीडीपी में कमी दिखी, उसकी वजह चुनाव था। साथ ही ये भी कहा गया है कि हालांकि, पिछले पांच साल में जीडीपी का औसत आंकड़ा 7.5% रहा है। सर्वे में सरकार की ओर से बताया गया है कि अगले वित्तीय वर्ष में पेट्रोल-डीजल के दाम में कमी देखने को मिल सकती है। साथ ही साथ अब लगातार ठढअ में कमी आ रही है, जिसका फायदा जीडीपी को मिलेगा।

27-06-2019
ये काम करने से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  मिलीं पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात की। माना जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच बजट को लेकर चर्चा हुई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाई को बजट पेश करेंगी, जो कि उनका पहला बजट होगा। वे बजट के लिए सभी सेक्टर के एक्सपर्ट से मिल रही हैं और उनसे सुझाव भी ले रही हैं। वहीं दूसरी तरफ  पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस बार बजट के दौरान उपस्थित नहीं होंगे। 28 साल में यह पहला मौका है जब मनमोहन सिंह बजट सत्र में मौजूद नहीं होंगे। इसी महीने में उनका राज्यसभा कार्यकाल खत्म हो गया है। वे 1991 में पहली बार राज्यसभा सांसद चुने गए थे। बजट से पहले वित्त मंत्री की पूर्व प्रधानमंत्री से मुलाकात को अहम माना जा रहा है। बीते हफ्ते निर्मला सीतारमण ने राज्यों के वित्त मंत्रियों के साथ बैठक की थी। इस बैठक के दौरान उन्होंने देश के आर्थिक विकास में राज्यों का सहयोग मांगा। बैठक में वित्त मंत्री ने कहा कि अगर केंद्र और राज्य मिलकर काम नहीं करते हैं तो कोई भी लक्ष्य हासिल नहीं किया जा सकता। बता दें कि निर्मला सीतारमण देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री हैं। हालांकि इससे पहले इंदिरा गांधी भी वित्त मंत्रालय संभाल चुकी हैं, लेकिन उनके पास इसका अतिरिक्त प्रभार था।

09-05-2019
सेना का दुरुपयोग करने वाली कांग्रेस आज बहा रही घड़ियाली आंसू : निर्मला सीतारमण

भोपाल। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा कि आईएनएस विराट को लेकर सारी बातें सार्वजनिक मंचों पर उपलब्ध हैं और जिस कांग्रेस ने हमेशा सेना का दुरुपयोग किया, वह आज घड़ियाली आंसू बहा रही है। सीतारमण ने आज यहां संवाददाताओं से चर्चा के दौरान ये बात कही। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने अपने परिवार के साथ आईएनएस विराट पर सैर की और अब उन्ही की पार्टी के लोग हम पर सेना के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आईएनएस विराट को लेकर सारी जानकारी सार्वजनिक है। सेना का दुरुपयोग करने वाली कांग्रेस आज घड़ियाली आंसू बहा रही है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि स्व. राजीव गांधी देश के प्रधानमंत्री रहे और बाद में शहीद हो गए। भाजपा उनका पूरा सम्मान करती है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि उनकी सरकार के कुशासन, भ्रष्टाचार और उनकी नीतियों के बारे में भाजपा बात नहीं कर सकती। उन्होंने ये भी कहा कि जब भोपाल गैस त्रासदी के आरोपी वारेन एंडरसन के भागने की चर्चा होगी, तो राजीव गांधी सरकार का ही जिक्र आएगा। इसमें क्या गलत है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे के माध्यम से प्रधानमंत्री की छवि खराब करने के लिए खूब आरोप लगाए। उन्होंने आरोपों का पहाड़ खड़ा कर दिया, लेकिन सीएजी, सुप्रीम कोर्ट आदि द्वारा दी गई व्यवस्थाओं से यह साबित हो गया कि इस सौदे में कुछ भी गलत नहीं हुआ और राफेल सौदा देशहित में है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने यह मुद्दा उठाकर शेर की सवारी तो कर ली, अब उनसे शेर की पीठ से उतरते नहीं बन रहा। सीतारमण ने कहा कि 2014 में भारत की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को स्पष्ट बहुमत दिया था। जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मजबूत नींव रखने का काम किया। पांच वर्षों में दुनिया में भारत का मान-सम्मान बढ़ा है। हम इसी मजबूत नींव को लेकर आगे बढ़ रहे हैं।

 

18-04-2019
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने किया मतदान

नई दिल्ली। चरण के लोकसभा चुनाव में गुरुवार को वोटिग जारी है। भाजपा की वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सुबह-सुबह वोट डाला। उन्होंने जयनगर बेंगलुरु साउथ सीट में अपने मतदान का प्रयोग किया। तमिलनाडु में शिवगंगा लोकसभा सीट पर कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। 

 

16-04-2019
Nirmala Sitharaman: घायल कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने पहुंचीं भाजपा नेता निर्मला ​सीतारमण, भाव विभोर हुए थरूर

नई दिल्ली। तिरुवनंतपुरम के एक अस्पताल में भर्ती घायल कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने भाजपा की वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री निर्मला ​सीतारमण मंगलवार को अस्पताल पहुंचीं।  थरूर ने ट्वीट में लिखा, 'निर्मला सीतारमण का यहां आना दिल को छू गया। केरल में अपने व्यस्त चुनावी कार्यक्रम के बीच अस्पताल पहुंचकर उन्होंने मेरा हाल जाना। भारतीय राजनीति में शिष्टाचार एक दुर्लभ गुण है। उन्हें इसका बेहतरीन उदाहरण पेश करते देखकर बहुत अच्छा लगा। 
शशि थरूर सोमवार को तिरुवनंतपुरम के एक मंदिर में  अपने प्रचार अभियान से पहले दर्शन के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान अचानक वह गिर पड़े और उनको सिर में चोट आई। थरूर को फौरन इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। प्राथमिक इलाज के बाद थरूर के सिर में 11 टांके लगाए गए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804