GLIBS
19-02-2019
Court: भ्रष्टाचार के आरोपी को मिली 3 वर्ष की सजा

मुंगेली। शिक्षाकर्मी पदस्थापना के लिए प्रार्थी से 1 लाख रुपए की मांग करने वाले अधिकारी को न्यायालय ने 3 वर्ष की सजा सुनाई है और दो हजार का अर्थदंड लगाया है। पूरा मामला 2014 में नगर पालिका पंडरिया का है। यहां पदस्थ तत्कालीन मुख्य नगर पालिका अधिकारी नारायण प्रसाद खूंटले ने संविदा शिक्षक वर्ग 2 की पदस्थापना के लिए प्रार्थी से 1 लाख रु की मांग की थी। इसकी शिकायत प्रार्थी ने एसीबी में की थी और एसीबी आरोपी नारायणप्रसाद खूंटले को रंगेहाथ पकड़ा था। यह मामला विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण नीलिमा सिंह बघेल की न्यायालय में चल रहा था। 18 गवाहों के बयान के बाद न्यायालय ने आरोपी को साक्ष्य के आधार पर 3 वर्ष की सजा व दो हजार रुपए अर्थदंड से दंडित किया है।

29-01-2019
Court: महिला ने दो बच्चों सहित दी जान, कोर्ट ने सुनाई पति-सास को सजा

दुर्ग। मारपीट व दहेज प्रताड़ना से परेशान होकर दो बच्चों के साथ नदी में कूदकर जान दे देने के मामले में आरोपी ससुराली पक्ष को कोर्ट ने मंगलवार को सजा सुनाई है। हरीश कुमार अवस्थी की कोर्ट ने मृतका के पति बलबीर सिंह उर्फ बिट्टू (50) धारा 498 ए के तहत 2 वर्ष सश्रम कारावास, 1 हजार रुपए अर्थदण्ड तथा अर्थदण्ड न देने पर 1 माह के अतिरिक्त सश्रम कारावास, धारा 306 के तहत  5 वर्ष सश्रम कारावास, 1 हजार रुपए अर्थदण्ड तथा अर्थदण्ड न देने पर 1 माह के अतिरिक्त कारावास तथा दहेज प्रतिषेध की धारा 4 के तहत 2 वर्ष कारावास तथा 1 हजार रुपए अर्थदण्ड की सजा दी है। वहीं आरोपी सास जागीर कौर को धारा 498 ए के तहत 2 वर्ष कारावास, 1 हजार रुपए अर्थदण्ड की सजा सुनाई गई है। अभियोजन पक्ष की ओर से अतिरिक्त लोक अभियोजक महेन्द्र कुमार राजपूत ने पैरवी की थी।
न्यू खुर्सीपार भिलाई निवासी आरोपी बलवीर सिंह उर्फ बिट्टू की वर्ष 2000 में रायपुर टाटीबंध निवासी मनदीप कौर के साथ विवाह हुआ था। शादी के बाद से ही आरोपी बलबीर सिंह, मनदीप कौर की सास जागीर कौर (72), नगद रकम व कार मायके से लाने के लिए दबाव बनाने लगे थे। मायके वालों ने समय-समय पर बैंक के माध्यम से रकम देकर उनकी मांग पूरी करते रहे। बाद में पति व सास कार लाने के लिए मारपीट करते हुए उसे मायके भेज दिया और कार लेकर ही वापस आने कहा। मनदीप अपने दो छोटे बच्चों को लेकर मायके आ गई थी। बाद में पति की तबियत खराब होने पर वह ससुराल गई, तब भी उसे दहेज की मांग कर सताया जाने लगा।
परेशान होकर 2 अक्टूबर 2010 को मनदीप अपने दोनों बच्चों को घर से लेकर कहीं चली गई। घरवालों ने खुर्सीपार थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। 3 अक्टूबर को शिवनाथ नदी में गुरुद्वारा के पास दोनों बच्चों के साथ मनदीप कौर की लाश पानी में तैरती मिली थी।

21-01-2019
Court: कोर्ट के आदेश के बाद दुकानदार को पुलिस ने लौटाए सामान

भिलाई। उतई थाना अंतर्गत अक्टूबर में एक मोबाइल शॉप में हुई चोरी के बाद पुलिस ने चंद दिनों में ही चोर को पकड़कर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और अब कोर्ट के आदेश के बाद सोमवार को उतई थानेदार सतीश पुरिया ने एएसपी विजय पाण्डेय और गोपीचंद मेश्राम के समक्ष दुकान संचालक को उसके चोरी हुए सामानों को  हैंडओवर किया। उतई थाना प्रभारी सतीश पुरिया ने बताया कि उतई स्थित ए टू जेट मोबाइल दुकान से अज्ञात चोरों ने दुकान से मोबाइल, टेबलेट, लेपटाप, चार्जर, कवर, कार्ड रीडर सहित अन्य सामानों की चोरी कर ली थी। दुकान संचालक की रिपोर्ट पर पुलिस ने चंद दिनों में ही चोरों को पुलिस ने पकड़ लिया। प्रकरण के आरोपी अमित कुमार चेलक (20), चेलाराम मारकण्डे(19) तथा मनमोहन गायकवाड़(19) को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था और उनके पास से 1 लेपटाप, 1 टेबलेट, 38 मोबाइल, 35 चार्जर, 51 स्क्रीन गार्ड, 35 मोबाइल कवर, 12 मोबाइल बैटरी, 13 कार्ड रीडर तथा 13 ईयर फोन बरामद किए थे। आज पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर प्रार्थी धनंजय देवांगन को चोरी गए समस्त सामान को सुपुर्दनामा किया गया।

19-01-2019
Air Pollution : वायु प्रदूषण पर दो अधिकारि‍यों पर केस दर्ज करने का एडीजे कोर्ट का आदेश 

कोरबा। कोरबा थर्मल पॉवर प्लांट से निकलने वाली राख का उपयोग करने में नाकाम प्रबंधन के खिलाफ एडीजे कोर्ट ने वायु प्रदूषण और पर्यावरण संरक्षण के नियमों की उल्लंघन का मुकदमा चलाने का आदेश दिया है। थर्मल पॉवर प्लांट के दो लोगों को नाजमद आरोपी बनाने के लिए कहा है। इसमें पहला कोरबा थर्मल पॉवर प्लांट के भार साधक अधिकारी और दूसरा आरोपी प्लांट के मुख्य अभियंता को बनाया गया है। 4 फरवरी को मामले की अगली सुनवाई चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट में होगी।

पर्यावरण संरक्षण मंडल के अधिवक्ता लक्ष्मीनारायण अग्रवाल ने बताया कि कोरबा थर्मल पॉवर प्लांट में प्रतिदिन 3500 टन, कोयले की खपत है कुल खपत का 42 प्रतिशत राख निकलती है, औसत 1470 टन हवा में मिल जाती है। प्लांट राख की उपयोगिता में फेल हुआ है राख के उपयोग को लेकर पर्यावरण संरक्षण मंडल ने प्लांट को समय-समय पर केंद्र सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन को बताया था।

इसके बाद भी प्रबंधन ने राख की उपयोगिता सुनिश्चित करने में गंभीरता नहीं दिखाई। इस पर पर्यावरण संरक्षण मंडल ने कोरबा थर्मल पॉवर प्लांट के खिलाफ कोरबा के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट में परिवाद दायर किया था। प्रबंधन के भारसाधक अधिकारी और मुख्य अभियंता को आरोपी बनाने की मांग की थी। सुनवाई के बाद कोर्ट ने परिवाद को निरस्त कर दिया था। इसके खिलाफ संरक्षण मंडल के अधिवक्ता ने अपर सत्र न्यायाधीश विशेष कोर्ट योगेश पारिक की अदालत में पुनरीक्षण याचिका दायर की थी। कोर्ट ने सुनवाई के बाद सीजेएम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए थर्मल पॉवर प्लांट भार साधक अधिकारी और मुख्य अभियंता के खिलाफ मुकदमा चलाने का आदेश दे दिया है।

18-01-2019
Court : जानकारी देने में देरी पर कोर्ट ने तहसीलदार से मांगा स्पष्टीकरण

दुर्ग। जमीन के तीन खसरे के संबंध में निर्धारित समय के भीतर जानकारी नहीं पेश करने पर तहसीलदार दुर्ग को पंचम व्यवहार न्यायाधीश देवेन्द्र साहू ने दो दिन के अंदर न्यायालय में स्वयं पेश होकर स्पष्टीकरण देने कहा है।  सीता जायसवाल की भूमि खसरा नं। 1550/30,  नीता जसवानी की भूमि 1550/48 तथा सावित्री देवी की भूमि खसरा नं। 1550/25 के संबंध में तहसीलदार कार्यालय से इन लोगों ने जानकारी मांगी थी। वर्ष   2008 से लंबित तीनों प्रकरण के संबंध में जानकारी पेश किए जाने 30 नवम्बर, 14 दिसम्बर2018 तथा 10 जनवरी 2019 को ज्ञापन एवं स्मरण पत्र दिया गया था।

बिलासपुर हाईकोर्ट के निदेशज़नुसार 5 वर्ष अधिक लंबित प्रकरणों का निराकरण अतिशीघ्र किया जाना है। इन तीनों प्रकरण में जारी ज्ञापन के बाद भी तथा नीयत पेशी तारीख पर अनेक अवसर देने के बावजूद न्यायालय में जानकारी नहीं दी गई। इस पर कोर्ट ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ज्ञापन प्राप्ति के दो दिवस के अंदर न्यायालय में स्वयं उपस्थित होकर स्पष्टीकरण दें, क्यों न आपके विरुद्ध न्यायालय के आदेश के अवमानना की कार्रवाई की जाए।

11-01-2019
एसपी ने दरबार लगाकर सुनी समस्याएं 

धमतरी। के पुलिस अधीक्षक ने शुक्रवार को रक्षित केंद्र में जनरल परेड के बाद दरबार लगाकर कर्मचारियों की समस्याएं सुनी गई। जनरल परेड  के दौरान विशेष निरीक्षण किया गया। परेड में जिन अधिकारी/कर्मचारियों के  वेशभूषा बेहतर पाई गई उनको पुरुस्कृत किया गया। परेड बाद दरबार लिया गया, जिसमें अधिकारी,कर्मचारियों के सुझाव एवं समस्याएं सुनी गई। इसमें ज्यादातर आवेदन स्थानांतरण के प्राप्त हुए। प्राप्त आवेदनों का निराकरण करने का आश्वासन दिया। एसपी रजनेश सिंह ने बताया कि दरबार के दौरान कुछ लोगों के स्थानांतरण के आवेदन मिले । साथ ही एक आवेदन में एडवांस में दिए जाने वाली राशि को एक लाख तक बढ़ाए जाने की मिली। जिस पर जल्दी विचार किया जाएगा। आज विशेष रूप से सबसे अधिक अधिकारी, कर्मचारी लगभग 250 लोग मौजूद थे। ज्यादातर लोग क्रियाकलापों से संतुष्ट पाए गए। बहुत जल्द ही इनके वीकली ऑफ के संबंध में निर्णय लिया जा सकता है। साथ ही नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में जो कर्मचारी तैनात हैं उन्हें वीकली आफ में एक दिन की जगह महीने में लगातार तीन से चार दिन की छुट्टी देने पर विचार किया जा रहा है, ताकि वे अपने  कार्यों को निपटा सके व परिजनों से मुलाकात भी कर सके। दरबार में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक केपी चंदेल, डीएसपी,एसडीओपी कुरूद रक्षित निरीक्षक, समस्त थाना,चौकी सहित पुलिस कार्यालय से समस्त शाखा प्रभारी सहित लगभग 250 लोग उपस्थित थे।

09-01-2019
Court: गोलीकांड के आरोपियों को पुलिस ने पैदल लेकर किया कोर्ट में पेश

सरायपाली। गोलीकांड में पकड़ाए तीन आरोपियों को आज थाना से सराईपाली न्यायालय शहर के बीच भीड़भाड़ में पैदल ले जाया गया। पहली बार नगर में गंभीर अपराध करने वाले आरोपियों को सबक सिखाने के लिए अनोखा तरीका पुलिस विभाग द्वारा अपनाया गया जो पूरे शहर में चर्चा का विषय बना रहा। इस तरह का नजारा केवल फिल्मों में देखने को मिलता था, जो आज नगरवासियों को भी देखने को मिला। थाना प्रभारी प्रदीप मिंज ने बताया कि गाड़ी में तकनीकी खराबी के कारण एवं गंभीर प्रकृति के अपराध को ध्यान रखते हुए तथा न्यायालय के समक्ष पेश करने के लिए हो रही देरी के कारण आरोपियों को हथकड़ी लगाकर सुरक्षाबलों के साथ पैदल न्यायालय तक ले जाया गया जहां से उन्हें रिमांड पर जेल भेज दिया गया।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804