GLIBS
07-03-2019
मंत्री अनिला भेंडिय़ा व गुरु रुद्रकुमार ने दी अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई

रायपुर। महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिय़ा व लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है। अनिला भेंडिय़ा ने कहा कि आज हर क्षेत्र में महिलाएं आगे आ रही हैं। छत्तीसगढ़ की महिलाओं ने भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपलब्धि दर्ज की है। प्रदेश की महिलाएं सशक्त और समर्र्थ हैं। प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने भी मातृशक्ति को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं देते हुए  कहा कि जिस समाज में नारी का सम्मान होता है, वहां सुख, शांति और समृद्धि रहती है। उन्होंने कहा है कि महिलाओं ने अपने परिश्रम और लगन से कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं, जो प्रशंसनीय है। उन्होंने आग्रह किया कि राज्य के सभी वर्ग की महिलाएं छत्तीसगढ़ सरकार और ग्रामोद्योग विभाग द्वारा चलाए जा रहे महिला स्व-रोजगार कार्यक्रम में अपनी सहभागिता दें और राष्ट्र निर्माण तथा महिला सशक्तिकरण में सहयोग करें।

11-02-2019
मंत्री अनिला भेड़िया ने परखा सुपोषण का स्तर

दुर्ग।  महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया ने सोमवार को बोरसी स्थित आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्र पहुंचकर  वजन त्यौहार का शुभारंभ किया। उन्होंने यहां स्नेहता से स्वयं अपने हाथों से बच्चे का वजन कर बच्चे की स्वास्थ्य व सुपोषण का स्तर को परखा। इस दौरान मंत्री श्रीमती भेंडिया ने बच्चों को चॉकलेट देकर बच्चों के चेहरे में मुस्कान बिखेरी। उन्होंने कहा कि बच्चों में कुपोषण के स्तर की जांच कर उन्हें शत-प्रतिशत सुपोषित बनाने लिए प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में वजन त्यौहार मनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में इस दौरान गर्भवती माताओं और किशोरी बालिकाओं की स्वास्थ्य की भी जांच की जाएगी।  इस दौरान कलेक्टर श्री अंकित आनंद सहित महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी एवं परियोजना अधिकारी उपस्थित थे।

शाला त्यागी बच्चों का  कराया जाएगा हीमोग्लोबीन टेस्ट

जिले में सभी बच्चों का वजन इलेक्ट्रानिक मशीन के द्वारा लिया जाएगा। जिले में संचालित सभी 1486 आंगनबाड़ी केन्द्रों में अध्ययनरत 1 लाख 21 हजार बच्चों का वजन कर स्वास्थ्य की जांच करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। बच्चों के वजन के साथ-साथ उनकी उंचाई भी ज्ञात की जाएगी, जिसके आधार पर जिले में बच्चों में बौनापन तथा दुर्बलता का भी प्रतिशत ज्ञात हो सकेगा। विशेष रूप से इस वर्ष 11 से 18 वर्ष की शाला त्यागी बच्चों का वजन आंगनबाड़ी केन्द्रों में लेकर उनका बॉडी माक्स इन्डेक्स का निर्धारण करते हुए स्वास्थ्य विभाग के मदद से सभी शाला त्यागी बच्चों का हीमोग्लोबीन टेस्ट कराया जाएगा, जो एनीमिया उन्मूलन हेतु आवश्यक कार्य-योजना बनाने में मददगार साबित होगा। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804